Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

स्वरूपानंद महाविद्यालय में विद्यार्थियों ने विश्व गणित दिवस के अवसर पर जाना पाई का महत्व

  भिलाई. असल बात news.      स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में गणित विभाग द्वारा विश्व गणित दिवस एवं पाई दिवस के अवसर पर प्रश्नो...

Also Read

 


भिलाई.

असल बात news.     

स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में गणित विभाग द्वारा विश्व गणित दिवस एवं पाई दिवस के अवसर पर प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 

कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए डॉ. मीना मिश्रा विभागाध्यक्ष गणित ने बताया आज के ही दिन महान गणितज्ञ डॉ. रामानुजनचार्य ने रमण इफैक्ट की खोज की थी साथ ही इसे पाई दिवस के रूप में भी जाना जाता है यह गणितीय स्थिरांक पाई का सम्मान देने के उद्देश्य से मनाया जाता है, जो एक वृत्त की परिधी के अनुमान को उसके व्यास में व्यक्त करता है। स्पेश मिशन के लिये यह बहुत उपयोगी है।

महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. दीपक शर्मा ने विद्यार्थियों व प्राध्यापकों को विश्व  गणित दिवस व पाई दिवस की बधाई दी। प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने अपने उद्बोधन में कहा हमारे जीवन में गणित का ज्ञान बहुत महत्वपूर्ण है। सटीक गणितीय आँकड़ो के कारण ही हम मंगल ग्रह तक पहुँचे है। पाई का इस्तेमाल कई रूपों में किया जाता है पर नदी की लंबाई नापने में यह बहुत महत्वपूर्ण है। क्योंकि नदी के घुमावदार होने के कारण लंबाई नापने में बहुत समस्या होती है। पाई की खोज ने इसे आसान बना दिया।

प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन स.प्रा. कामिनी वर्मा, स.प्रा. लीनारावटे, स.प्रा. मधु पटवा द्वारा किया गया जिसमें एमएससी गणित के विद्यार्थियों ने भाग लिया पाई का मान क्या होता है? पाई दिवस कब मनाया जाता है? श्री निवास रामानुजन पार्क कहा स्थित है? प्रथम महिला वैज्ञानिक कौन है? प्रश्न का जवाब विद्यार्थियो ने दिया वही  बीजगणित कास्मोलाजी, रिलेटिवीटी के सवाल में उलझते नजर आये। 

प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में प्रथम आये आर.सी.बी. समूह जिसमें हिमांशु चन्द्राकर, सोनम जंघेल, एमएससी द्वितीय सेमेस्टर ने बताया इस प्रकार के आयोजन से हम गणित व उनके खोजों के बारे में जान पाये, इस प्रकार का आयोजन होते रहना चाहिए। द्वितीय स्थान पर डिंपल देवांगन, कामिनी देशमुख, एमएससी चतुर्थ सेमेस्टर ने बताया प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता मनोरंजक होने के साथ ही ज्ञानवर्धक थी। हमने इस प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता के माध्यम से गणित के बहुत से फ़ॉर्मूले को जाना। तृतीय स्थान पर सृष्टि साहू, गरिमा राज, निशा एमएससी तृतीय सेमेस्टर रहे। कार्यक्रम में एमएससी गणित के छात्र-छात्राये उपस्थित हुए।