Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

बुरी नीयत से अकेला पाकर घर में घुसकर पीड़िता के साथ छेड़छाड़ कर आरोपी हो गया था फरार पुलिस के सूझबूझ से पहुंच सलाखों के भीतर

पंडरिया-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) आरोपी के विरुद्ध थाने में अपराध क्रमांक-252/2024 धारा- 354,454 भा.द.वी. के तहत अपराध पंजीबद्ध कर माननीय न्याया...

Also Read

पंडरिया-कबीरधाम (छत्तीसगढ़)


आरोपी के विरुद्ध थाने में अपराध क्रमांक-252/2024 धारा- 354,454 भा.द.वी. के तहत अपराध पंजीबद्ध कर माननीय न्यायालय के समक्ष किया गया पेश

कबीरधाम जिले के पुलिस अधीक्षक डाॅ0 अभिषेक पल्लव के द्वारा समस्त थाना/चौकी प्रभारियो को अपराधो पर पूर्णता अंकुश लगाते हुए आपराधिक प्रवृत्ति के असामाजिक तत्वों पर प्रभावी कार्यवाही करने निर्देशित किया गया है। जिसके परिपालन में अति.पुलिस अधीक्षक श्री विकास कुमार, अति.पुलिस अधी. श्री पुष्पेन्द्र सिंह बघेल एंव पुलिस अनुविभागीय अधिकारी पडरिया श्री पंकज पटेल के मार्गदर्शन में थाना पंडरिया पुलिस द्वारा क्षेत्र में अपराधो पर अंकुश लगाने लगातार उचित वैधानिक कार्रवाई किया जा रहा है। इसी तारतम्य में थाना पंडरिया में दिनांक- 23.06-2024 को प्रार्थिया द्वारा थाना उपस्थित आकर एक लिखित शिकायत दर्ज कराया गया। कि दिनांक- 23-06-2024 को करीब 09-10 बजे मैं अपने घर में अकेली थी, उसी समय पंचराम दिवाकर द्वारा मेरे घर के अंदर घूस कर बुरी नियत से मेरे हांथ बांह को पकडकर छेडखानी किया है। कि रिपोर्ट पर थाना पंडरिया में अपराध क्रमांक 252/2024 धारा 354,454 भादवि. के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। घटना दिनांक से छेडछाड का आरोपी पंचराम दिवाकर घर से फरार चल रहा था, जिसकी पता साजी किया जा रहा था व पतासाजी हेतु मुखबीर लगाया गया था। जिसका आज दिनांक- 08.07.2024 को मुखबीर की सूचना पाकर घेरा बंदी कर प्रकरण के आरोपी पंचराम दिवाकर पिता शिवप्रसाद दिवाकर उम्र 33 साल निवासी मदनपुर थाना पंडरिया जिला कबीरधाम को पकडकर माननीय न्यायालय के समक्ष् पेश किया गया।  

               उक्त कार्यवाही में जिले के वरिष्ठ अधिकारी गणों के दिशा निर्देश पर थाना प्रभारी निरीक्षक मनीष मिश्रा, प्रधान आरक्षक राजेश्वर कोसरिया, आरक्षक-द्वारिका चंद्रवंशी, प्रभाकर बन्छोर, राजू चंद्रवंशी, म.आर.रतनी मरावी का विशेष योगदान रहा