Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

लोकसभा चुनाव के लिए सभी चरणों का मतदान संपन्न अब सबको काउंटिंग का इंतजार

  रायपुर  असल बात न्यूज   देश में सात चरणों में हो रहे लोकसभा के चुनाव और आंध्र प्रदेश अरुणाचल प्रदेश उड़ीसा और सिक्किम की विधानसभाओं के चुन...

Also Read

 रायपुर 

असल बात न्यूज 

देश में सात चरणों में हो रहे लोकसभा के चुनाव और आंध्र प्रदेश अरुणाचल प्रदेश उड़ीसा और सिक्किम की विधानसभाओं के चुनाव के लिए आज मतदान के बाद इन चुनाव के मतदान की प्रक्रिया पूरी हो गई है। इस चुनाव में देश के 543 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या 968.8 मिलियन दर्ज की गई है । 968.8 मिलियन कुल मतदाताओं की संख्या मतदाताओं की यह संख्या देश में जब 2019 में लोकसभा के चुनाव हुए थे तब की तुलना में लगभग 72.8 मिलियन अधिक है ।मतदाताओं के इन आंकड़ों को देखते हुए कहा जा सकता है कि देश में सिर्फ 5 वर्षों के भीतर मतदाताओं की संख्या लगभग 72 मिलियन तक बढ़ गई है ।यह देश में तेजी से बढ़ती जा रही जनसंख्या में वृद्धि को भी दिखता है कि हमारे देश की जनसंख्या कितनी तेजी से बढ़ रही है वर्ष 2019 के चुनाव में 67. 4 प्रतिशत मतदान हुआ है।

 निर्वाचन आयोग में अब मतदान का प्रतिशत बढ़ानेकी कोशिश शुरू की है। कोई भी मतदाता मतदान करने से पीछे नहीं छूट रहा।इसको लेकर कई जागरूकता अभियान चलाए गए और मेरा पहला वोट देश के लिए जैसे अभियान चलाए गए।लोकसभा चुनाव के अवसर पर देखा जा रहा है, कि इनमें विधानसभा चुनाव की तुलना में अपेक्षाकृत कम मतदान हुआ है।लेकिन इस बार के लोकसभा चुनाव में मतदान का प्रतिशत बढ़ता दिखा है।आप मतदान के प्रतिशत के आंकड़ों को देखे तो 18वीं लोकसभा के गठन के लिए पहले चरण में लोकसभा के आम चुनाव के लिए 19 अप्रैल को भारी गर्मी के बावजूद भारी मतदान दर्ज किया गया है।

पहले चरण में किस राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में मतदान हुआ पहले चरण में छत्तीसगढ़ की 12 लोकसभा सीट पर भी मतदान हुआ है तो साथ ही कांकेर लोकसभा सीट के 46 मतदान केंद्रो पर मतदान कराया गया। पहले चरण में 66.14% रही दूसरे चरण में 66.71% मतदान दर्ज किया गया तीसरे चरण में मतदान का प्रतिशत अपेक्षाकृत कम रहा इस दौरान कुल 65.68 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।चौथे चरण में 67.25 मतदान दर्ज किया गया इस चरण में केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर के श्रीनगर गांदेरबल पुलवामा और सुप्रिया जिलों में 36.5 से प्रतिशत मतदान हुआ। जो कि कई दशकों में सर्वाधिक दर्ज किया गया है 16 मार्च लोकसभा के साथ आंध्र प्रदेश अरुणाचल प्रदेश ओडिशा और सिक्किम के विधानसभा चुनाव की घोषणा की। इसके साथ एक दिन पहले ज्ञादेश कुमार और सुखबीर सिंह संधू ने चुनाव आयुक्त की घोषणा की। सत्रहवी लोकसभा का कार्यकाल 16 जून को पूरा होने वाला है। भारत के संविधान और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 के अनुसार वर्तमान कार्यकाल की समाहित के पहले नई लोकसभा का गठन कर लिया जाना है। तो अब चुनाव पूरा हो गया है। 4 जून को मतगणना हो जाएगी और उसके बाद जो चुनाव परिणाम आएंगे।उसके अनुसार देश में 18वीं लोकसभा का गठन कर लिया जाएगा। इस चुनाव मैदान में उतरे उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला ईवीएम में कैद हो गया है।इस लोकसभा चुनाव में 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में सिर्फ एक चरण में चुनाव कराया गया। 22 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में एक ही चरण में चुनाव संपन्न कर लिया गया। तो वहीं तीन राज्यों में पूरे सात चरण से चुनाव हुआ है। तीन राज्यों चुनाव के जो सात चरण घोषित किए गए थे, उनमें से प्रत्येक तिथि पर किसी न किसी सीट पर चुनाव कराया गया। छत्तीसगढ़ में तीन चरण में चुनाव संपन्न हुआ। दो राज्य ऐसे रहे जहां पांच चरणों में चुनाव संपन्न हुआ। देश में सबसे ज्यादा लोकसभा सीट 80 सीट उत्तर प्रदेश में है इसके बाद दूसरे नंबर पर सबसे अधिक सीट महाराष्ट्र 48 सीट है, तीसरे नंबर पर सबसे अधिक सीट पश्चिम बंगाल 42 सीट, और चौथे नंबर पर सबसे अधिक सीट बिहार 40 सीट हैं, इसमें से उत्तर प्रदेश बिहार और पश्चिम बंगाल में पूरा चुनाव सात चरणों में संपन्न कराया गया मतलब यहां सभी चरण में चुनाव हुए महाराष्ट्र प्रदेश की 48 सीटों पर पांच चरण में चुनाव संपन्न हुआ मध्य प्रदेश की 29 सीटों पर चार चरणों में चुनाव संपन्न हुआ उत्तर प्रदेश बिहार और पश्चिम बंगाल की कई लोकसभा सीटे अंतर संवेदनशील क्षेत्र के रूप में चिन्हाअंकित की गई है। और वहां सभी सात चरणों में किसी न किसी लोकसभा सीट पर चुनाव हुआ।

 तमिलनाडु में लोकसभा की 39 सिटे हैं, और आंध्र प्रदेश में 25 सिट हैं, केरल में 20 सिट हैं। यहां से एक ही चरण में चुनाव संपन्न हुआ। असम की 14 और छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटों पर तीन-तीन चरण में चुनाव कराया गया। केंद्र शासित प्रदेश जम्मू एवं कश्मीर की पांच लोकसभा सीट पर पांच चरणों में और लद्दाख लोकसभा सीट पर एक चरण में चुनाव संपन्न हुआ राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र एनसीआर की 7 लोकसभा सीटों पर भी एक ही चरण में चुनाव संपन्न हुआ।

 किसने सबसे अधिक पहले चरण में किस राज्यों की एक 102 लोकसभा सीट पर मतदान हुआ आंध्र प्रदेश में वहां की सभी 25 लोकसभा सीटों पर एक साथ मतदान हुआ वहां मतदान के दौरान और उसके बाद उसे स्थान पर हिंसा की घटनाएं हुई। जिसे निर्वाचन आयोग ने काफी गंभीरता से लिया आयोग ने इस पूरे मामले की अपने स्तर पर समीक्षा की और आयोग के द्वारा राज्य सरकार को पालनाड् के जिला अधिकारी का स्थानांतरण और जिला पालनाड् तथा जिला अनंतपुरम के पुलिस अधीक्षकों को निलंबन तथा विभागीय जांच करने और तिरुपति जिला में पुलिस अधीक्षक का स्थानांतरण, और विभागीय जांच करने का प्रस्ताव दिया गया।अनंतपुरम और तिरुपति में 12 अन्य पुलिस अधिकारियों को भी निलंबित करने का प्रस्ताव किया गया। आंध्र प्रदेश के मुख्य सचिव और डीजीपी को इस हिंसा के सिलसिले में नई दिल्ली भी तलब किया गया था। वहां पर अनंतपूर व नंदयाल, गुटर पालनाड् इत्यादि क्षेत्रो में चुनावी हिंसा की घटनाएं दर्ज की गई है।लोकसभा चुनाव के पांचवी चरण में आठ राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की विभिन्न लोकसभा सीटों पर शांतिपूर्ण मतदान हुआ। यह मतदान 65.2 प्रतिशत दर्ज किया गया। छठवें चरण में 58 लोकसभा सीटों पर मतदान हुआ। जिसमें मतदान का प्रतिशत 63.37% दर्ज किया गया। लोकसभा चुनाव के लिए सभी चरणों का मतदान संपन्न भरी गर्मी के बीच हुआ। मतगणना का इंतजार है। चुनाव परिणाम को लेकर अटकलें अनुमानों का दौर शुरू हो चुका है। मोदी फैक्टर लहर पर सब की नजर है, देखते हैं इसका कितना असर होता है।