Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

ग्राम छूही में में 25 हैडपंप और दो सोलर पंप से मिल रही ग्रामीणों को पानी, जल जीवन मिशन से ग्राम छूही के 70 घरों में हो रही है पानी की आपूर्ति, जल जीवन मिशन से पाइपलाइन विस्तार और पानी टंकी निर्माण का काम प्रगति पर, विभाग से हो रही सतत मॉनिटरिंग

  कवर्धा कवर्धा,। जिले के बोडला विकासखण्ड के ग्राम छूही में पेयजल उपलब्ध कराने के लिए गांव में 25 हैंड पंप और दो सोलर पंप स्थापित है। इन स...

Also Read

  कवर्धा


कवर्धा,। जिले के बोडला विकासखण्ड के ग्राम छूही में पेयजल उपलब्ध कराने के लिए गांव में 25 हैंड पंप और दो सोलर पंप स्थापित है। इन सभी के माध्यामों से ग्राम में पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने ग्राम छूही में पेयजल से संबंधित शिकायतों को दूर के भी निर्देश दिए। 

कलेक्टर के निर्देश पर लोकस्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अमले ने ग्राम छूही का निरीक्षण किया। टीम ने विभाग द्वारा स्थापित सभी 25 हैण्डपंप और सोलर द्वारा संचालित पंप का अवलोकन किया। निरीक्षण में सभी हैण्डपंप और सोलर संचालित पंप सही पाए गए। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी के कार्यपालन अभियंता ने श्री जीपी गौंड ने बताया कि ग्राम छूही में पेयजल व्यवस्था के लिए स्थापित सभी हैण्डपंप और दो सोलर पंप में किसी भी प्रकार की  कोई समस्या नहीं है। ग्रामीणजन इसके माध्यम से पेयजल की आपूर्ति की जा रही हैं। जल जीवन मिशन के अंतर्गत ग्राम छूही में पाईप लाईन और घरेलू नल कनेक्शन का काम कर लिया गया है, और योजना के लिए बोर खनन हो गया है,जिसमें मोटर पंप डाल कर पानी की सप्लाई की जा रही है। इसके माध्यम से ग्राम छूही के 70 घरों में पानी की आपूर्ति की जा रही है। उन्होने कहा कि ग्राम में जलजीवन मिशन के अतर्गत पानी टंकी निर्माण के लिए जगह का चिन्हांन कर लिया गया था, लेकिन ग्राम में दो पक्षीय विवाद के कारण वहां पानी टंकी निर्माण नहीं हो पा रहा था। कलेक्टर के मार्गदर्शन में दो पक्षीय को समझाया गया, इसके बाद ग्रामीण जन मान गए। ग्राम छूही में पानी टंकी का निर्माण प्रांरभ हो गया है। वर्तमान में 85 प्रतिशत कार्य पूर कर लिया गया है। टंकी पूर्ण होन के बाद टंकी से पानी की सप्लाई की जाएगी। विभाग द्वारा जल जीवन मिशन के कार्यों की सतत मॉनिटरिंग की जा रही है और संबंधित निर्माण एंजेसी को कार्य पूरा करने के निर्देश दिए गए है।