Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

चुनाव सम्पन्न होने के साथ ही कार्यालयीन रूटीन कार्य पर ध्यान देवें अधिकारी: कलेक्टर, जनसमस्या एवं जनशिकायत के लंबित प्रकरण तत्परतापूर्वक निपटायें - पानी की समस्या से निपटने हो समुचित प्रबंध, अभियान चलाकर करें राजस्व प्रकरणों का निराकरण - ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर के माध्यम से जुनियर खिलाड़ियों को मिलेगी पहचान

दुर्ग  कलेक्टर सुश्री चौधरी ने की समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा दुर्ग, कलेक्टर सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी ने कहा कि जिले में ग्रीष्मकालीन खेल प्...

Also Read

दुर्ग


 कलेक्टर सुश्री चौधरी ने की समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा

दुर्ग, कलेक्टर सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी ने कहा कि जिले में ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर के माध्यम से विभिन्न खेलों के सब-जुनियर एवं जुनियर वर्ग के प्रतिभाशाली बालक-बालिकाओं को बीएसपी के खेल प्रशिक्षकों के मार्गदर्शन में प्रशिक्षण सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएगी। ताकि वे आने वाले दिनों में अपने प्रतिभा का प्रदर्शन कर सकेंगे। उन्होंने इस हेतु जिला खेल अधिकारी को बेहतर कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिये है। कलेक्टर सुश्री चौधरी ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित अधिकारियों की बैठक में जनसमस्याओं एवं जन शिकायतों के प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की। उन्होंने लंबित प्रकरणों को त्वरित रूप से निराकरण करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि चुनाव सम्पन्न होने के साथ ही कार्यालयीन रूटीन कार्य पर अधिकारी ध्यान देवें। उन्होंने गर्मी के मौसम में जिले के नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की समस्या न हो, इसे ध्यान में रखते हुए अधिकारियों को पानी सप्लाई हेतु समुचित प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है। कलेक्टर ने कहा कि अभियान चलाकर लंबित राजस्व प्रकरणों का निराकरण किया जाए। इसी प्रकार राजस्व न्यायालय के प्रकरण जल्द से जल्द निराकृत किया जाए। किसान किताब एन्ट्री, आधार सींडिंग, डिजीटल हस्ताक्षर, नक्शा बटांकन आदि पर विशेष ध्यान दिया जाए। कलेक्टर ने कहा कि जिला अस्पताल में वरिष्ठ नागरिकों की स्वास्थ्य जांच विशेषज्ञ चिकित्सों के माध्यम से कराने शिविर आयोजित किया जाए। उन्होंने इस हेतु सिविल सर्जन को आवश्यक पहल करने के निर्देश दिये। जिले में बायोमेडिकल वेेस्ट पर कार्यशाला आयोजित करने और मानसून के दौरान मौसमी बीमारी की रोकथाम हेतु चिकित्सालयों में समुचित प्रबंध करने सीएमएचओ को निर्देशित किया है। कलेक्टर सुश्री चौधरी ने जिले के सहकारी समितियों एवं पंजीकृत दुकानों में खरीफ फसल बीज व खाद भण्डारण एवं वितरण की जानकारी भी ली। उन्होंने सभी एसडीएम और उप संचालक कृषि को बीज व खाद की सेम्पल जांच करने के निर्देश दिए। साथ ही कलेक्टर ने बालोद जिले के करकाभांट शक्कर कारखाना को गन्ने की आपूर्ति के लिए जिले में गन्ने की पैदावारी को बढ़ावा देने बालोद जिले से लगे एरिया के किसानों को गन्ने की फसल के लिए प्रोत्साहित करने व आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने उप संचालक कृषि को निर्देशित किया। कलेक्टर ने कहा कि आगामी मानसून को ध्यान में रखते हुए जिले के सभी स्कूल, आश्रम एवं छात्रावासों की आवश्यक मरम्मत करा ली जाए। जिला शिक्षा अधिकारी, आर.ई.एस. एवं संबंधित जनपद पंचायत इस पर विशेष ध्यान देवें। उन्होंने अधिकारियों को विभाग से संबंधित 31 मार्च तक के सभी लंबित प्रकरण निराकृत कर लेने के निर्देश दिये है। बैठक में एडीएम श्री अरविन्द एक्का,  वनमंडलाधिकारी श्री चन्द्रशेखर परदेशिया, नगर निगम भिलाई के आयुक्त श्री देवेश ध्रुव, नगर निगम दुर्ग के आयुक्त श्री लोकेश चन्द्राकर, नगर निगम भिलाई-3 चरोदा के आयुक्त श्री दशरथ राजपूत, नगर निगम रिसाली के आयुक्त सुश्री मोनिका वर्मा, अपर कलेक्टर श्री बी.के. दुबे एवं श्रीमती योगिता देवांगन, सभी एसडीएम व जनपद सीईओ सहित समस्त विभाग के जिला प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।