Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

राष्ट्रीय प्रवक्ता राधिका खेड़ा और संचार विभाग अध्यक्ष सुशील आनंद के बीच विवाद

  रायपुर।   छत्तीसगढ़ कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में भारी बहस, तू-तू, मैं-मैं, हंगामा, रोने की चर्चा है. यह चर्चा कांग्रेस की राष्ट्रीय प्र...

Also Read

 रायपुर। छत्तीसगढ़ कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में भारी बहस, तू-तू, मैं-मैं, हंगामा, रोने की चर्चा है. यह चर्चा कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता राधिका खेड़ा के उस ट्वीट के बाद तेज हो गई, जिसमें उन्होंने माता कौशल्या के मायके में बेटियों के सुरक्षित नहीं होने और पुरुष मानसिकता से ग्रसित लोगों के हावी होने को लेकर की. साथ ही यह भी कहा है कि वह कुछ खुलासा करेंगी. 

दरअसल, यह पूरा मामला जुड़ा है संचार विभाग में घटित घटना से. संचार विभाग में मंगलवार शाम को राधिका खेड़ा मीडियावालों को बाइट के लिए आमंत्रित किया था. बाइट देने के बाद बाद वह संचार विभाग मौजूद थीं. मीडिया के लोग बाइट लेने के बाद जा चुके थे. कुछ देर में संचार अध्यक्ष प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला के कमरे के बाहर बहस होने की आवाजें आने लगी.

जानकारी के मुताबिक, सुशील आनंद शुक्ला और राधिका खेड़ा के बीच कुछ-कुछ बातों को लेकर तीखी बहस होने लगी. बहस बढ़ते-बढ़ते इस कदर बढ़ गई की नौबत तू-तू, मैं-मैं और उससे आगे की आ गई थी. बढ़ते विवाद के बीच बताया जा रहा है कि राधिका खेड़ा कांग्रेस भवन से रोते हुए बाहर निकली और अपने होटल के लिए रवाना हो गई.

कांग्रेस भवन के अंदर हुई बहसबाजी की बात ज्यादा देर तक छिपी नहीं रही और राधिका खेड़ा के एक्स पर पोस्ट के साथ ही धीरे-धीरे बाहर आने लगी. राधिका खेड़ा ने घटना के कुछ घंटों बाद ही यह पोस्ट की.

उनके इस पोस्ट के बाद लोग कई तरह के कयास लगाने लगे. हालांकि, कांग्रेसियों की आपसी चर्चा और मीडिया फैलते रायता के बाद यह साफ हुआ कि मामला कांग्रेस भवन में आपसी समन्वय और हस्तक्षेप से जुड़ा हुआ है. यह भी स्पष्ट हो गया कि कई दिनों से चली आ रही खींचताना का नतीजा सुशील आनंद शुक्ला और राधिका खेड़ा के बीच हुई बहस है.

कांग्रेस भवन में हुई बहसबाजी पर विराम लगता उससे पहले ही एक वीडियो सामने आ गया. वीडियो कांग्रेस भवन का है. वीडियो में राधिका खेड़ा की आवाज सुनाई पड़ रही है. वीडियो में राधिका किसी बड़े कांग्रेस नेता से बात कर रही है. और रोते हुए यह कह रही है कि वह कांग्रेस पार्टी छोड़ रही है. उनके साथ दशकों की राजनीति में कभी ऐसा नहीं हुआ है. वहीं इस मामले की शिकायत राधिका खेड़ा ने दिल्ली पार्टी कार्यालय, वरिष्ठ नेताओं से कर दी है.

इस मामले में कांग्रेस संचार अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि यह पार्टी का आंतरिक मामला है. जैसा प्रचारित मीडिया में हो रहा है, वैसा कुछ भी नहीं है. पार्टी के इस मामले को सुलझा लिया जाएगा. जिसकी जो भी शिकायतें है दूर कर ली जाएगी.

वहीं चुनाव के मौके पर भाजपा का एक तरह से कांग्रेस को घेरने के लिए बैठे-बैठाए मुद्दा मिल गया है. भाजपा प्रवक्ता केदार गुप्ता ने वीडियो जारी कर कहा है कि राधिका का खेड़ा का वीडियो देखकर दुख हुआ है. लेकिन भाजपा राधिका से यह कहना चाहती है कि आप कांग्रेसियों बच लीजिए, छत्तीसगढ़ में आपको कुछ नहीं होगा यह साय सरकार, मोदी जी की गारंटी है. कांग्रेस अपने महिलाओं को सम्मान नहीं करती, यह राधिका खेड़ा के वीडियो से स्पष्ट हो गया है.