Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

श्री बांके बिहारी मंदिर की 3D डिजाइन हुई अनावृत्त, नवनिर्माण का साक्षी बनने का अवसर मिलना ही सौभाग्य की बात - मोतीलाल साहू, 154 वर्ष पुराने मंदिर का पुनर्निर्माण, प्रभु की प्रेरणा से ही संभव- सियाराम अग्रवाल

रायपुर 17 अप्रैल, बुधवार रामनवमी के शुभ अवसर पर नयापारा सदर बाजार रायपुर स्थित 154 वर्ष पुराने श्री बांके बिहारी जी के मंदिर की 3D डिजाइन का...

Also Read

रायपुर









17 अप्रैल, बुधवार रामनवमी के शुभ अवसर पर नयापारा सदर बाजार रायपुर स्थित 154 वर्ष पुराने श्री बांके बिहारी जी के मंदिर की 3D डिजाइन का अनावरण करते हुए, कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रायपुर ग्रामीण के विधायक श्री मोतीलाल साहू ने कहा कि , 3D डिजाइन अनावृत करने का अवसर प्रभु की प्रेरणा से ही संभव हुआ है। यह डिजाइन पुरातत्व कला का एक नायाब उदाहरण है, पूरा मंदिर बनने के पश्चात यह, क्षेत्र वासियों के लिए एक अद्भुत सौगात साबित होगी।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अखिल भारतीय अग्रवाल संगठन के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष श्री सियाराम अग्रवाल ने कहा कि प्रभु अपने हर कार्य, और सेवा के लिए लोगों को अवसर देते हैं, यह सेवा करने वालों का सौभाग्य है कि उन्हें निमित्त बनाया गया है। 

विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री श्री कन्हैया अग्रवाल, श्री राधेश्याम बंका, और कर्मचारी संघ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री अरुण दुबे मंचस्थ रहे, श्री अरुण दुबे ने अपने संबोधन में कहा कि मेरा जन्म इसी मंदिर में हुआ लगभग 55 वर्षों तक मैने और मेरे परिवार ने ठाकुर जी की सेवा की है, सौभाग्यशाली हूं जो मैं अपने जीते जी, इस मंदिर का नवनिर्माण देख पा रहा हूं, साधुवाद देता हूं ट्रस्ट के अध्यक्ष डॉ अशोक अग्रवाल और उनकी पूरी टीम को जिन्होंने मंदिर के पुनः निर्माण का बीड़ा उठाते हुए, इस कार्य को साकार रूप देना प्रारंभ कर दिया है। यह मंदिर, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के संघर्ष का जहां साक्षी रहा है, वही प्रसिद्ध फिल्मकार स्वर्गीय पृथ्वीराज कपूर ने भी यहां आकर प्रभु के दर्शन किए हैं। 


 श्री बांके बिहारी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष डॉ अशोक अग्रवाल ने बताया कि , बचपन में वे अपने पिता की उंगली थाम इस मंदिर में आया करते थे, प्रभु की इच्छा से ही वह इस मंदिर से जुड़ पाए हैं, ट्रस्ट के इकलौते जीवित तत्कालीन ट्रस्टी, वरिष्ठ अधिवक्ता श्री गौरी शंकर अग्रवाल ने उन्हें इस ट्रस्ट से जोड़ा और कहा कि, मैंने आज तक मंदिर की सारी संपत्तियों को सहेज कर रखा है, अब आप इसे संभाले और उनके जीवन काल में ही वे इस मंदिर का पुनर्निर्माण करके दिखाएं, प्रभु की प्रेरणा और  इच्छा मानकर उन्होंने, पिछले कई वर्षों में अपने साथियों के साथ मिलकर मंदिर से जुड़ी विपरीत परिस्थितियों को दूर कर, मोहल्ले वासियों का दिल जीता है। अपने मित्रों और परीचीतों के द्वारा प्रदत्त सहयोग से मंदिर अपनी पूर्णता की ओर है, उन्होंने  दृढ़ विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि, पुरातत्व कला की यह शानदार डिजाइन आने वाले समय में अपनी अद्भुत छटा के लिए जानी जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि, यह शानदार 3 डी डिजाइन इंजीनियर श्री नीरज गज्जर, जीन्होंने कौशल्या माता मंदिर की बाहरी साज सज्जा की डिजाइन बनाई थी, के द्वारा बनाई गई है। मंदिर को, वास्तु सम्मत  बनाने के लिए प्रसिद्ध ज्योतिष एवं वास्तु शास्त्री श्री सुमित विज की सेवाएं ली गई है, मंदिर का संपूर्ण लेआउट व 2D डिजाइन का कार्य , इंटीरियर डेकोरेटर श्रीमती अनीशा नारायण अग्रवाल के द्वारा किया गया, इंजीनियरिंग कॉलेज के प्रोफेसर डॉ मोहनलाल अग्रवाल एवं इंजीनियर श्री अजय गर्ग एवं स्वयं डॉ अशोक अग्रवाल के द्वारा स्ट्रक्चरल डिजाइन तैयार की गई है।


सर्वप्रथम, दुपट्टा पहना कर अतिथियों का स्वागत ट्रस्ट के सचिव श्री सुरेश चौधरी, ट्रस्टी श्री विनोद अग्रवाल,एवम् श्री श्रीगोपाल अग्रवाल ने किया।


नए बनने वाले ट्रस्टी एवं मंदिर निर्माण समिति के कोषाध्यक्ष श्री अजय खेतान, सुनील खंडेलवाल, मंदिर निर्माण में मुक्त हस्त से सहयोग करने वाले श्री राजेश मिश्रा, श्री विशाल रोहरा, श्री नारायण अग्रवाल, मंदिर के वार्षिक संरक्षक सदस्य राधेश्याम बंका, श्याम सुंदर अग्रवाल, अग्रवाल, राधेश्याम अग्रवाल राजू, पुष्प रंजन जैन, विशेष आमंत्रित एवं पोशक वार्षिक सदस्य नरेश जोशी, अरुण नारद, अज्जू सोनी, राजू अग्रवाल, कमल गुप्ता , स्ट्रक्चरल डिजाइन करने वाले इंजीनियर डॉ मोहनलाल अग्रवाल, वास्तु शास्त्री श्री सुमित विज का स्वागत अतिथियों के द्वारा दुपट्टा पहना कर किया गया।


ट्रस्टी सचिव श्री सुरेश चौधरी ने बताया कि, नए बनने वाले ट्रस्टी एवं मंदिर निर्माण समिति के डॉ. मनोज मुरारी लाल अग्रवाल (अध्यक्ष) श्री नंदकिशोर अग्रवाल (सचिव) श्री अजय खेतान (कोषाध्यक्ष) बनाए गए हैं, नए ट्रस्टी बनने के लिए श्री संजय अग्रवाल (अर्चना स्टील) श्री संतोष अग्रवाल (बांके बिहारी इंडस्ट्रीज) श्री संकेत अग्रवाल (पिनेकल हाइड्रोकोलॉयड्स) श्री विकास गजानंद अग्रवाल, श्री मनोज सियाराम अग्रवाल, श्री संपत अग्रवाल विधायक बसना, श्री विजय अग्रवाल (अध्यक्ष अग्रवाल सभा),श्री सुनील रामदास अग्रवाल, श्री सुनील अग्रवाल (रत्ना खनिज उद्योग) की सहमति प्राप्त हो चुकी है। बाकी मंदिर समिति से जुड़े अनेक सदस्यों की सहमति प्राप्त की जा रही है, मंदिर समिति में कुल 21 नए ट्रस्टी बनाए जाने हैं।

आज के इस कार्यक्रम को सफल बनाने में संस्था के प्रचार प्रसार प्रभारी श्री संजय अग्रवाल और श्री गोविंद अग्रवाल के योगदान को भी उन्होंने रेखांकित करते हुए कहा कि, स्वास्थ्यगत कारन की वजह से वे आज उपस्थित नहीं हो पाए हैं।


ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष श्री विनोद अग्रवाल एवं मंदिर निर्माण समिति के श्री अजय खेतान ने बताया कि, मंदिर में अब तक लगभग 18 लाख रुपए की राशि लगाई जा चुकी है, कुल 1 करोड़ 51 लाख रुपए की मंदिर के निर्माण में अनुमानित लागत आने की संभावना है। 


रामनवमी के पावन अवसर पर पूजा अर्चना एवं आरती के उपरांत प्रसाद वितरण किया गया आभार प्रदर्शन, मंदिर समिति के संरक्षक सदस्य श्री कन्हैया अग्रवाल के द्वारा किया गया। 


3डी डिजाइन अनावृत्त करने के पूर्व पंडित श्री सुरेश दुबे ने मंत्रचार के साथ मंदिर डिजाइन की पूजा अर्चना की , पंडित अनिल दुबे ने भगवान के दरबार की भव्य आरती एवं ट्रस्ट के सहयोग से प्रसाद का शानदार व्यवस्था की।


इस अवसर पर रायपुर सेंट्रल मारवाड़ी युवा मंच के सचिव श्री योगेश शर्मा, अग्रवाल समाज के वरिष्ठ सदस्य श्री महेंद्र बागडोडिया, मारवाड़ी युवा मंच के पूर्व अध्यक्ष श्री दीपक अग्रवाल, भवन मंदिर निर्माण के ठेकेदार श्री सुभाष अग्रवाल और श्री विकास अग्रवाल, श्री विजय अग्रवाल (सिंधी स्कूल) सहित मोहल्ले के अनेक गणमान्य नागरिक गण उपस्थित रहे।



डॉ अशोक अग्रवाल 

अध्यक्ष, श्री बांके बिहारी मंदिर ट्रस्ट 

पेठा लाइन, नयापारा सदर बाजार, रायपुर