Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

दोहे, फाग गीत और डंडा नृत्य के साथ किसानों ने किया सरकार की योजनाओं का स्वागत, सब बोले.... सबका लाठी ठुठवा.. ठुठवा, मोर लाठी तलवार रे...... किसान मन ला एक मुश्त पैसा दे दिस... हमर विष्णु देव सरकार रे....

 कवर्धा कबीरधाम जिले में धान का एक मुश्त राशि मिलने पर किसानों में अभूतपूर्व उत्साह किसानों के खातें में आया पैसा, कही फाग गीत तो कही राउत न...

Also Read

 कवर्धा



कबीरधाम जिले में धान का एक मुश्त राशि मिलने पर किसानों में अभूतपूर्व उत्साह

किसानों के खातें में आया पैसा, कही फाग गीत तो कही राउत नाच तो कही डंडा नृत्य कर विष्णुदेव सरकार को दिया धन्यवाद

कवर्धा,  किसानों को आर्थिक रूप में सशक्त और संबल बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई कृषक उन्नति योजना की शुरूआत होने पर इस योजना का कबीरधाम जिले के किसानों ने बहुत अनोखे और अलग अंदाज में स्वागत और अभिनंदन किया गया। किसानों को धान की अंतर की राशि एक मुश्त मिलने पर जिले के गांवों में अलग-अलग तस्वीर सामने आई। जिले के जोराताल गांव में छत्तीसगढ़ की मूल संस्कृति फागुन महिने में गुनगुनाने फाग-गीत और नंगाड़े की धुन से किसान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय और उपमुख्यमंत्री विजय शर्मा का अभिंदन करते हुए कृषक उन्नति योजना का स्वागत किया गया। इसी तरह सहसपुर लोहारा के दैहाडहीह में किसानों ने डंडा नृत्य और ग्राम कांपा के किसानों ने राउत नाच की धुन के साथ थिरकते  नजर आए। सभी किसानों ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव ने अब तक प्रदेश के युवाओं, किसानो, मताओं से किए सभी मोदी की गांरटी को पूरा किया है। उल्लेखनीय कि महतारी वंदन योजना के बाद छत्तीसगढ़ सरकार ने कृषक उन्नति योजना के तहत प्रदेश के 24 लाख 72 हजार किसानों के खाते में आदान सहायता राशि 13 हजार 320 करोड़ रूपए का एक मुश्त भुगतान किया है। इस योजना से कबीरधाम जिले के एक लाख 10 हजार 68 पंजीकृत किसानो को  546 करोड़ 67 लाख 22 हजार रूपए जारी की गई। कांपा में किसानों ने राउत नाच में दोहे साथ सरकार की योजनओं को जोड़कर सबको आंनदित किया। वहां के किसाने ने दोहे के साथ कहा ...... सबका लाठी ठुठवा.. ठुठवा, मोर लाठी तलवार रे...... किसान मन ला एक मुश्त पैसा दे दिस... हमर विष्णु देव सरकार रे.......ये दोहा बचते ही गांव के किसान भी थिरकने पर मजबूर हो गए।

     

जोराताल के किसानों ने फाग और नागडे धुन पर कहा श्री विष्णुदेव साय सरकार के होवत हे चर्चा

 

ग्राम जोराताल के किसानों ने फाग गीत और नगाड़े की थाप पर कृषक उन्नति योजना का स्वागत किया। फागगीतों पर महफिल सजाते हुए कहा अरे.....छत्तीसगढ़ में होवत हे श्री विष्णुदेव साय सरकार के चर्चा.....काबर की किसान मन के खातों में आज होवत है एक मुश्त धन वर्षा........जोराजाल के किसान परमेश्वर घृतलहरे, धनिदास मानिकपुरी, प्रभु ध्र्रु्रर्वे, बलदाउ नेताम, शिवदास, सागरदास, धरमेंन्द्र मानिकपुरी, पुरनदास पटेल, धन्नू पटेल, जनक जायसवाल, माधव चन्द्रवंशी, निर्मलदास पटेल, रामकुमार पटेल, हेमन्त जायसवाल, ताला राम पटेल औ मैतुराम पटेल सहित अन्य किसानों और लोक कलाकारो ने फाग गीतों के साथ सरकार की योजनाओं में शामिल प्रभु श्री राम लल्ला, महतारी वंदन योजना, कृषक उन्नति योजना, जल जीवन मिशन योजना सहित अन्य योजनाओं को जोड़ते हुए छत्तीसगढ शासन की योजनाओं को जनकल्याणकारी बताया। जोरा ताल के किसान धनिराम मानिकपुरी ने बताया कि छत्तीसगढ़ सरकार ने किसानों की सभी चिंता दूर कर दी। एक मुश्त राशि मिलने से सभी किसान बहुत खुश है।

     

कांपा के किसानों ने राउतनाच पर थिरके ओर एक मुश्त राशि देने के लिए सरकार को दी बधाई

 

जिले के बोड़ला विकासखण्ड के ग्राम कांपा के किसानों ने धान का एक मुश्त राशि मिलने पर राउत नांच के साथ गावं के बाकी किसान भी इस खुशी के पल का आनंद लिया। वहां कि किसान नरेश राम साहू, सेकराम साहू, आत्माराम साहू, परमेश्वर साहू, धनुष राम साहू, कृष्णा साहू, घनश्याम साहू, बरन यादव, मनाराम यादव,  तरेश्वर साहू और सरजू साहू ने दोहे के साथ सरकार की योजनाओं को जोडकर किसानों को आंनदित किया। कांपा में किसानों ने राउत नाच में दोहे साथ सरकार की योजनओं को जोड़कर सबको आंनदित किया। वहां के किसाने ने दोहे के साथ कहा ...... सबका लाठी ठुठवा.. ठुठवा, मोर लाठी तलवार रे...... किसान मन ला एक मुश्त पैसा दे दिस... हमर विष्णु देव सरकार रे.......ये दोहा बचते ही गांव के किसान भी थिरकने पर मजबूर हो गए।

 

डंडा नृत्य पर झूम उठे दैहानडीह के किसान और बच्चें

 

गांवों में डंडा नृत्य का अलग ही आंनद हैं। दैहानडीह के देवशंकर पटेल, जनोहर पटेल, उदलाल पटेल, लालाराम पटेल, हरिचंद पटेल, कोमल पटेल, परमेश्वर पटेल, रामानुज पटेल, राम सहाय पटेल सहित अन्य किसानों ने डंडा नृत्य करते हुए धान का बकाया राशि एक मुश्त मिलने पर खुशियों का ईजहार किया।