Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं की बैठक के बाद पत्रकारों से चर्चा करते हुए बीजेपी विधायक ने उठाया झीरम का मुद्दा

  जगदलपुर. भाजपा के कलस्टर प्रभारी व विधायक अजय चंद्राकर मंगलवार को जगदलपुर पहुंचे. इस दौरान उन्होंने भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं की बै...

Also Read

 जगदलपुर. भाजपा के कलस्टर प्रभारी व विधायक अजय चंद्राकर मंगलवार को जगदलपुर पहुंचे. इस दौरान उन्होंने भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं की बैठक के बाद पत्रकारों से चर्चा की, जिसमें उन्होंने कॉंग्रेस और उनके लोकसभा प्रत्याशी पर जमकर निशाना साधा. चंद्राकर ने कहा कि प्रत्याशियों की लिस्ट घोषित करने में कांग्रेस का दम फूल रहा है, क्योंकि उनके पास कोई चेहरा ही नहीं है. कवासी लखमा पर हुए एफआईआर को लेकर उन्होंने कहा कि लखमा पैसे देकर बस्तर के भोलेभाले लोगों को खरीदना चाहते हैं. इससे उन्होंने कांग्रेस के चरित्र को उजागर करते हुए बस्तर के गौरव को कलंकित किया है. कवासी लखमा को प्रत्याशी बनाने पर उन्होंने कवासी के मंत्री रहते किए गए उल्लेखनीय कार्यों की जानकारी मांगी कि अब तक उन्होंने क्षेत्र के लिए क्या किया है.



अजय चंद्राकर ने कवासी लखमा पर संगीन आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने पांच साल में बस्तर में केवल धर्मांतरण को बढ़ावा दिया. कोंटा को केसिनो बनाया और छत्तीसगढ़ को नशे का गढ़ बना दिया. दरअसल लखमा मजबूरी में चुनाव लड़ रहे हैं. उनका उद्देश्य अपने बच्चे को राजनीतिक रूप से स्थापित करना है. अजय चंद्राकर ने लखमा के साथ साथ प्रदेश महासचिव मलकीत सिंह गैदू को भी निशाने पर लेते हुए एक बार फिर झीरम के मुद्दे को सामने लाया है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस झीरम कांड को हमेशा राजनीतिक मुद्दा बनाती है. इस घटना के दो प्रत्यक्षदर्शी लखमा और गैदू हैं. उन्हें सामने आकर सच बताना चाहिए. वहीं प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज पर तंज कसते हुए चंद्राकर ने कहा कि उन पर क्या ही कहा जाए, वो तो अपना खुद का टिकट तक नहीं ला पाए हैं. अजय चंद्राकर के बयान पर प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज ने भी पलटवार करते हुए कहा कि अजय चंद्राकर लोकसभा चुनाव के बाद मंत्री बनना चाहते हैं इसलिए पार्टी में अपना नंबर बढ़ाने के लिए इस तरह के बयान दे रहे हैं.