Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

स्वरूपानंद महाविद्यालय के विद्यार्थियों द्वाराविश्व जल दिवस के अवसर पर जल प्रदूषण को रोकने एवं जल सरंक्षण हेतु जन जागरूकता अभियान

  भिलाई. असल बात news.     स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय आमदी नगर हुडको भिलाई के  विद्यार्थियों ने जल प्रदूषण एवं जल संरक्षण हे...

Also Read

 

भिलाई.

असल बात news.    


स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय आमदी नगर हुडको भिलाई के  विद्यार्थियों ने जल प्रदूषण एवं जल संरक्षण हेतु जन जागरूकता एवं स्वजागरूकता के उद्देश्य से दुर्ग स्थित पोलसाय पारा एवं लुचकी तालाब जाकर तालाबों में प्रदूषण की स्थिति का अवलोकन किया एवं प्रदूषित जल को प्रयोगशाला में जांच करवाकर उसका  स्तर परखा। जाँच के पश्चात  तालाबों के जल में  निकिल, कैडमियम, सीसा, अरसेनिक एवं पारा की मात्रा मानक से अधिक पाई गई एवं जल का पी. एच. भी अधिक पाया गया अतः उक्त तालाबों का जल पीने योग्य नहीं है।

विधार्थियो ने क्षेत्र के पास निवासरत लोगों को जागरूक किया उन्हें बताया कि जल को प्रदूषित न करें क्योंकि प्रदूषित जल से अनेक बीमारियाँ हो सकती है एवं प्रदूषित जल को पीने से मवेशी भी रोगग्रस्त हो सकते है। विद्यार्थियों ने जल संरक्षण हेतु हॉफ ग्लास ऑफ वाटर कैंपियन के अंतर्गत जल की प्रत्येक बूंद को बचाने हेतु दुर्ग शहर में स्थित सोनाली रेस्टॉरेंट, मिस्टर इडली रेस्टॉरेंट एवं कैफे में जाकर वहां के प्रबंधक से मिलकर उनसे अनुरोध किया कि अपने होटल में आने वाले ग्राहकों को आधा ग्लास पानी ही सर्व करें एवं बचे हुए पानी को फेंके नहीं पेड़-पौधों में डालें एवं जल संरक्षण में सहयोग करें। कार्यक्रम प्रभारी श्रीमती जया तिवारी ने कहा कि विधार्थी ऐसे कार्यक्रमों से जुड़कर पानी के महत्व को समझते है।महाविधालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ दीपक शर्मा ने जल संरक्षण के लिए चलाये गये जागरूकता अभियान की प्रशंसा करते हुवे कला की पानी का हर बूंद अनमोल है जल व्यर्थ ना बहे और प्रदूषित ना हो इसके लिए हम सभी को प्रयास करना होगा।

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने विद्यार्थियों के द्वारा की जाने वाली इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि यदि आप ऐसे ही कार्य करते रहेंगे तो निश्चित रूप से जल प्रदूषण का निवारण होगा एवम जल को संरंक्षित किया जा सकेगा।