Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

कांग्रेस प्रदेश प्रभारी पायलट को मुख्यमंत्रियों की गिरफ्तारी पर चिंता जताने की बजाय अपनी पार्टी के प्रदर्शन की चिंता करनी चाहिए - जितेन्द्र वर्मा, कांग्रेस के नेताओ ने ही केजरीवाल की गिरफ्तारी की मांग की थी तो अब आंसू क्यों बहा रहे- जितेन्द्र वर्मा

 दुर्ग भ्रष्टाचार के खिलाफ हर कार्यवाही का विरोध करती है कांग्रेस इसीलिए जनता भी करती है कांग्रेस का विरोध  : जितेन्द्र वर्मा दुर्ग। भारतीय ...

Also Read

 दुर्ग


भ्रष्टाचार के खिलाफ हर कार्यवाही का विरोध करती है कांग्रेस इसीलिए जनता भी करती है कांग्रेस का विरोध  : जितेन्द्र वर्मा

दुर्ग। भारतीय जनता पार्टी के दुर्ग जिला अध्यक्ष जितेन्द्र वर्मा ने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी सचिन पायलट द्वारा मुख्यमंत्रियों की गिरफ्तारी को लेकर केंद्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग के आरोप को निराधार और मनगढ़ंत बताया है। उन्होंने कहा कि यह वही कांग्रेस पार्टी है जो अरविंद केजरीवाल के शराब नीति का विरोध करने के लिए बड़ी-बड़ी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रही थी, कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन ने बड़े-बड़े बयान दिए थे। जब मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी हुई थी तब भी कहा था कि यह भ्रष्टाचार का मामला है, मनीष सिसोदिया से किसी को सिंपैथी रखने की जरूरत नहीं है। तो अब क्या हुआ कांग्रेस का स्टैंड क्यों बदल गया? क्या इनके बीच कोई सौदा हुआ है? या फिर कोई लेनदेन हुआ है, जिसके कारण विरोध से अब केजरीवाल के समर्थन में राहुल गांधी पोस्ट कर रहे हैं। सचिन पायलट को इस रुख का जवाब देना चाहिए। श्री वर्मा ने कहा कि कांग्रेस के तो डीएनए में भ्रष्टाचार रचा-बसा है। आपदा को भी अपने भ्रष्टाचार के लिए अवसर बनाने में कांग्रेस कितनी माहिर है, इसे छत्तीसगढ़ ने पिछले पाँच वर्षों के कांग्रेसी कुशासन में जनता ने देखा-सुना और भोगा है।


भाजपा जिला अध्यक्ष जितेन्द्र वर्मा ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश प्रभारी पायलट को मुख्यमंत्रियों की गिरफ्तारी पर चिंता व्यक्त करने के बजाय लोकसभा चुनाव में अपनी पार्टी के प्रदर्शन की चिंता करनी चाहिए। पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पूरी ताकत लगाकर भी केवल 52 सीटें जीत पाई थी, जबकि उसका गठबंधन 100 का आँकड़ा तक पार नहीं कर पाया। इस बार तो हालात कहीं अधिक बदतर हैं। श्री वर्मा ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की हालत काफी दयनीय है। कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री से लेकर पूर्व मंत्री तक भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे हुए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री बघेल के खिलाफ तो एफआईआर तक दर्ज हो चुकी है। कांग्रेस के दर्जनों विधायक घोटाले के आरोपों में घिरे हुए हैं। कांग्रेस के कार्यकर्ता अपने नेताओं पर सरेआम आरोप लगा रहे हैं। श्री वर्मा ने कहा कि इंडी अलायंस पूरी तरह से बिखरा हुआ है। उस पर गठबंधन के सहयोगी दलों की कारगुजारियां ऐसी हैं कि लगातार उन पर जाँच एजेंसियाँ अपना शिकंजा कस रही हैं। पहले झारखंड के कांग्रेस सांसद के घर में बड़ी मात्रा में कैश क्या भाजपा ने रखा था? देश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि बरामद किए गए नोटों को गिनते-गिनते मशीनें तक खराब हो गई लेकिन नोटों का अंबार खत्म होने का नाम नहीं ले रहा था। नोटों का यह जखीरा वहां के सीएम के संरक्षण के बिना कैसे संभव था? दिल्ली में केजरीवाल और उनके सिपहसालारों ने शराब के मामले में इतना घिनौना खेल खेला कि पहले उपमुख्यमंत्री और अब मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी की बारी आ गई। सत्ता लोलुपता की ऐसी शर्मनाक मिसाल कभी देश ने नहीं देखी होगी कि केजरीवाल जेल में रहकर सरकार चलाना चाहते हैं।


भाजपा जिला अध्यक्ष जितेंद्र वर्मा ने कहा कि कांग्रेस के भीतर मचे घमासान और अंतर्कलह के कारण बस्तर में नामांकन की तिथि घोषित हो जाने के बाद भी कांग्रेस ने अब तक अपने प्रत्याशी का नाम घोषित नहीं किया है। इसी तरह काँकेर, सरगुजा, बिलासपुर और रायगढ़ लोकसभा क्षेत्र के लिए भी चुनाव कार्यक्रम और तारीखों का ऐलान हो जाने के बावजूद कांग्रेस अब तक अपने उम्मीदवार घोषित नहीं कर पाई है। कांग्रेस की इससे अधिक दुर्दशा और क्या हो सकती है कि कांग्रेस में प्रत्याशियों के लाले पड़ गए हैं। हर मोर्चे पर कांग्रेस की विफलता, कांग्रेस में व्याप्त असंतोष को अब कांग्रेस के कार्यकर्ता ही कई मंचों पर प्रदर्शित कर रहे हैं। श्री वर्मा ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार ने जो वादा किया था, प्रदेश में सरकार बनते ही अपने 100 दिनों के कार्यकाल में उसमें से अधिकांश वादों को पूरा करके प्रदेश सरकार 'मोदी की गारंटी' को पूरा करने की दिशा में तेजी से अग्रसर है और जनता के आशीर्वाद से भाजपा कार्यकर्ता प्रदेश की सभी 11 सीटें जीतकर लोकसभा में 'अबकी बार 400 पार' का संकल्प लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सशक्त नेतृत्व वाली सरकार बनाने के लिए जन-जन तक पहुँच रहे हैं। भाजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक बार फिर 400 से अधिक सीटें जीत कर सत्ता  में वापसी करने वाली है। कांग्रेस डूबती नाव है, वह अपना पिछला प्रदर्शन दोहरा ले, वही उसकी बड़ी उपलब्धि होगी।