Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

स्वरुपानंद महाविद्यालय और बायोइनोवेल लाईफसाईंस प्राईवेट लिमिटेड बैंगलोर के मध्य रिसर्च एवं सेटेलाईट लैब निर्माण के लिए हुआ एमओयू

भिलाई. असल बात न्यूज़.    वर्तमान वैज्ञानिक परिवेश में छात्रों को व्यावहारिक ज्ञान देने हेतु एवं विकसित भारत की लक्ष्यपूर्ति के लिए स्वामी श्...

Also Read

भिलाई.

असल बात न्यूज़.   

वर्तमान वैज्ञानिक परिवेश में छात्रों को व्यावहारिक ज्ञान देने हेतु एवं विकसित भारत की लक्ष्यपूर्ति के लिए स्वामी श्री स्वरुपानंद सरस्वती महाविद्यालय एवं बायोइनोवेल बैंगलोर के मध्य एमओयू किया गया।

इस एमओयू को लेकर महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारिणी अधिकारी डॉ. दीपक शर्मा ने इस एमओयू के लिए महाविद्यालय को बधाई दी एवं इसे शोध की दिशा में सराहनीय कदम बताया।

प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने बताया कि इससे स्नातकोत्तर के छात्रों को प्रोजेक्ट में सहायता मिलेगी एवं विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास, रोजगार एवं स्वरोजगार के अधिक अवसर प्राप्त होंगे। बायोइनोवेल के डायरेक्टर देवाशीष साहो ने कहा कि स्वरुपानंद महाविद्यालय में सैटेलाईट प्रयोगशाला स्थापित की जायेगी जिससे शोध छात्रों एवं प्रोजेक्ट के लिये छात्रों को एक प्लेटफार्म मिलेगा। विभिन्न कार्यशाला, शोध, वर्कशॉप इत्यादि का सफल आयोजन किया जायेगा इस समझौते के तहत छात्रों को उच्चशिक्षा, शोध एवं प्रसार, नवीन शोध तकनीक सीखने का अवसर मिलेगा।

एमओयू में महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने एवं देवाशीष साहो, डायरेक्टर बायोइनोवेल ने हस्ताक्षर किया। एमओयू के तहत स्थापित सेटेलाईट लैब में केवल महाविद्यालय के छात्र ही नहीं अपितु अन्य महाविद्यालय के छात्र एवं शोधार्थी अपने शोध संबंधी कार्य एवं विश्लेषण कर सकते है। विभिन्न बायोकेमिल विश्लेषण एवं जीन तकनीकों के लिये अंचल के छात्रों एवं शोधार्थियों को बाहर नहीं जाना होगा।