Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

भारतीय ज्ञान परंपरा विषय पर आधारित एफडीपी कार्यक्रम का आयोजन

  भिलाई। असल बात न्यूज़।।    इंदिरा गांधी स्नातकोत्तर महाविद्यालय वैशाली नगर भिलाई में राष्ट्रीय सात दिवसीय भारतीय ज्ञान परंपरा विषय पर आधार...

Also Read

 भिलाई।

असल बात न्यूज़।।   

इंदिरा गांधी स्नातकोत्तर महाविद्यालय वैशाली नगर भिलाई में राष्ट्रीय सात दिवसीय भारतीय ज्ञान परंपरा विषय पर आधारित एफडीपी कार्यक्रम का आयोजन किया गया । कार्यक्रम की शुरुआत महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. श्रीमती अलका मेश्राम द्वारा किया गया इन्होंने भारतीय ज्ञान परंपरा वर्तमान समय में हर क्षेत्र एवं विषय में उसकी आवश्यकता पर प्रकाश डाला साथ ही महाविद्यालय की प्राध्यापिका एवं आई.के. एस. की संयोजक डॉक्टर शिखा श्रीवास्तव ने भारतीय ज्ञान परंपरा का वैदिक काल से वर्तमान तक उनके मूल्यों पर चर्चा की।

इसमें प्रथम दिवस जगतगुरु श्री देवनाथ इंस्टिट्यूट ऑफ़ वैदिक साइंस रिसर्च नागपुर के प्रोजेक्ट संयोजक श्री अनुराग देशपांडे ने भारतीय ज्ञान परंपरा की प्राचीन परंपरा हमारे दैनिक जीवन से ओत प्रोत है के महत्व के बारे में जानकारी दी । द्वितीय दिवस डॉक्टर प्रियंका द्विवेदी सहायक प्राध्यापक संस्कृत साहित्य, श्री सोमनाथ संस्कृत महाविद्यालय, गिर सोमनाथ, गुजरात ने नाट्य कथावस्तु भारतीय ज्ञान परंपरा के संदर्भ में जानकारी प्रस्तुत की । तीसरे दिन श्री कौस्तुभ भगत सहायक प्राध्यापक, तोलोनी महाविद्यालय, बॉम्बे यूनिवर्सिटी ने भारतीय ज्ञान परंपरा के तहत परंपरागत भारतीय जल प्रबंधन एवं संरक्षण विषय पर विस्तृत जानकारी दी जो वर्तमान में जल संरक्षण के लिए अति महत्वपूर्ण है । चौथे दिन डॉक्टर एस. एस. रघुवंशी सेवानिवृत्ति वैज्ञानिक, डिपार्टमेंट ऑफ़ एटॉमिक एनर्जी हैदराबाद ने वैदिक परंपरा से विज्ञान एवं तकनीक के विषय पर विस्तृत जानकारी दी । पांचवें दिन भंते डॉक्टर चंद्रकीर्ति, सहायक प्राध्यापक, सम्राट अशोक सुब्रति स्कूल मेरठ ने पाली भाषा की वर्तमान समय में उपयोगिता पर प्रकाश डाला । छठे दिन डॉक्टर जय शर्मा एसोसिएट प्राध्यापक शासकीय कन्या महाविद्यालय, सीहोर, मध्य प्रदेश ने भारतीय ज्ञान परंपरा में वाणिज्य एवं व्यवस्थापन के मूल्य - प्राचीन से वर्तमान के बारे में जानकारी दी । इसी प्रकार सातवें और अंतिम दिन डॉक्टर ज्योति पाटील प्राचार्य शासकीय महाविद्यालय, नागपुर ने भारतीय ज्ञान परंपरा का परंपरागत स्वरूप एवं आधुनिक स्वरूप एवं उनके सहसंबंधों की विस्तृत जानकारी दी । 

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉक्टर अलका मेश्राम में सभी वक्ताओं के सारगर्वित उद्बोधन की सराहना की । साथ ही आई.के. एस. प्रभारी डॉ शिखा श्रीवास्तव द्वारा धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया गया । कार्यक्रम में प्रतिदिन 150 से 200 प्रतिभागी सम्मिलित हुए । महाविद्यालय से डॉक्टर कैलाश शर्मा, डॉक्टर नीता डेनियल, डॉक्टर एस के बोहरे, अमृतेश शुक्ला, डॉक्टर मेरिली रॉय, डॉक्टर रविंद्र छाबड़ा, डॉक्टर किरण रामटेके, डॉक्टर नमिता गुहा राय, डॉक्टर स्मृति अग्रवाल, डॉक्टर आरती दीवान, डॉक्टर अजय मनहर, डॉक्टर अलपा श्रीवास्तव, डॉक्टर मीनाक्षी भारद्वाज ,प्रो सुरेश ठाकुर, प्रो सुशीला शर्मा, डॉ चांदनी मरकाम , प्रो अत्रीका कोमा , डॉ संजय दास आदि सम्मिलित हुए ।