जापान में कैबिनेट को कोविड प्रतिबंधों को संशोधित करने का निर्देश

 

 टोक्यो. जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने कोविड-19 प्रतिबंधों की समीक्षा करें और आगामी महीनों तक बीमारी से उत्पन्न जोखिमों का पुनर्मूल्यांकन करने के निर्देश दिये हैं।
श्री किशिदा ने शुक्रवार को मंत्रिमंडल के सदस्यों के साथ बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा,“संक्रामक कानून के तहत संशोधित श्रेणी के कारण, संक्रमित लोगों और उनके साथ संपर्क रखने वालों के आइसोलेशन के नियमों को संशोधित किया जाएगा। सरकारी वित्तीय सहायता भी विस्तृत पुनर्विचार के अधीन है। ‘कोरोना वायरस के साथ’ रहने के उपायों के लिए एक क्रमिक संक्रमण पर विचार किया जाएगा। संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से मास्क पहनने और अन्य उपायों को संशोधित किया जाएगा।”
उन्होंने बताया कि वर्तमान में, कोविड-19 संक्रामक रोगों पर कानून में सूचीबद्ध बीमारियों की दूसरी श्रेणी से संबंधित है, जो रोगियों को क्वारंटाइन में रखने और अन्य प्रतिबंधों को पेश करने पर जोर देती है। आज, मंत्रियों ने इस बीमारी को मौसमी फ्लू में से एक पांचवीं श्रेणी में ले जाने की संभावनाओं और शर्तों पर चर्चा की है।
वर्तमान नियमों के तहत, जापान के निवासियों को इमारतों के अंदर और सार्वजनिक परिवहन पर मास्क पहनना अनिवार्य है। स्कूली छात्रों को सिर्फ खेल गतिविधियों के दौरान ही मास्क उतारने की इजाजत है। यदि बाहर के लोगों के बीच की दूरी दो मीटर (6.5 फीट) से अधिक है, तो वे मास्क भी उतार सकते हैं। अनेक जापानी लोग हालांकि, उन्हें स्वेच्छा से पहनना पसंद करते हैं, भले ही वे कुत्ते को टहला रहे हों या साइकिल चला रहे हों। यदि कोविड-19 को एक नई श्रेणी में रखा जाता है, तो लोगों को अब अंदर मास्क पहनने की आवश्यकता नहीं होगी।