अस्पताल में महिलाओं के निजता भंग की शिकायत मिली,तो राज्य महिला आयोग ने कलेक्टर को कार्रवाई करने पत्र लिखा

 

रायपुर ।

असल बात न्यूज़।।  

अस्पताल में निजता भंग की कोशिश की शिकार हुई तो उसने साहस नहीं खोया। राज्य महिला आयोग के समक्ष शिकायत की। आयोग के द्वारा ऐसे मामलों को गंभीरता से लेकर स्वम संज्ञान में लिया जा रहा है। इस मामले में आयोग ने जिला कलेक्टर को कार्रवाई के लिए पत्र लिखा है।

छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक की अध्यक्षता में  बेमेतरा कलेक्टोरेट सभाकक्ष में हुई जनसुनवाई में उक्त मामला सामने आया।

जनसुनवाई में जिले के 16 विभिन्न प्रकरण रखे गये थे, जिसमें से 13 प्रकरणों को नस्तीबद्ध किया गया। जनसुनवाई में आयोग की सदस्य श्रीमती अर्चना उपाध्याय भी उपस्थित थी। एक अन्य प्रकरण की सुनवाई के दौरान जिला चिकित्सालय में महिलाओं के निजता भंग होने का मामला आया जिसमें आयोग ने स्वतः संज्ञान लेते हुए कलेक्टर को पत्र लिखा और कार्यवाही करते हुए प्रकरण नस्तीबद्ध किया। इसके साथ ही जिले में मानव तस्करी रोकथाम (एन्टी ह्यूमन ट्रैफकिंग) अन्य हितधारकों तथा पीड़ितों के पुनर्वास विषय परिचर्चा भी आयोजित की गई।

कार्यशाला आयोजित
एक प्रकरण में आवेदिका द्वारा तथ्यों को नहीं बता पाने के कारण आयोग ने जिला संरक्षण अधिकारी को निर्देशित किया कि आवेदिका के गांव जाकर प्रकरण की जांच कर आयोग में प्रस्तुत करें। अनावेदक सरंपच ने बताया कि आवेदिका ने उसके खिलाफ कई जगह शिकायत किया गया है, लेकिन आज कोई भी दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किया है। इस पर आयोग ने पुलिस के माध्यम से प्रकरण में उभय पक्षों के दो-दो लोगों से पूछताछ कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए, जिसके आधार पर निर्णय लिया जा सके। इस अवसर पर महिला जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी, शासकीय अभिभाषक भी उपस्थित थे।