केबल्स ध्वस्त हो जाने से जेके लक्ष्मी सीमेंट के माइंस में प्रोडक्शन ठप्प, प्रबंधन को सुबह तक व्यवस्था सुधर जाने की उम्मीद

 अहिवारा दुर्ग।

असल बात न्यूज़।। 

       00  स्थान से रिपोर्ट

अहिवारा में हाईवा की चपेट में आकर दोस्त बिजली व्यवस्था को बहाल करने के लिए जेके लक्ष्मी सीमेंट कंपनी प्रबंधन के द्वारा अभी युद्ध स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार यह दुर्घटना से बिजली आपूर्ति में अवरोध आ हो जाने से कंपनी की माइंस में प्रोडक्शन का काम ठप पड़ गया है। ऐसी दुर्घटना कैसी हो गई जिससे इतना बड़ा नुकसान हो गया इसको लेकर कंपनी प्रबंधन भौचक्क है तथा इसके कई पहलुओं के बारे में जानकारियां जुटाई जा रही हैं। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह दुर्घटना सुबह 8:00 से 10:00 के बीच की बताई जा रही है। जिस हाईवा की चपेट में आ जाने से यह हादसा हुआ है बताया था कि वह गाड़ी जेके लक्ष्मी एंड कंपनी से ही सीमेंट भरने जा रही थी तथा उसने डीओ कटा लिया था और लोडिंग करने के लिए रवाना हुई थी। जहां यह हादसा हुआ है उसके कुछ पहले घुमावदार मोड़ है। 

कंपनी प्रबंधन के द्वारा व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए व्यापक उपाय शुरू कर दिए गए हैं। देर शाम तक गिरे हुए केबलस को काटकर हटाया जा रहा है। जो बिजली खंभे ढह गए हैं उन्हें भी हटाने का काम शुरू कर दिया गया है। इस काम के लिए जेसीबी तथा मानव संसाधनों की संख्या बढ़ा दी गई है। प्रबंधन के लोगों ने बताया कि व्यवस्था को सुचारू बनाने के काम देर रात तक जारी रहेंगे तथा सुबह तक बहुत कुछ सामान्य स्थिति हो जाने की संभावना है। जो बिजली खंभे ढह गए हैं उनकी जगह उससे अधिक ऊंचाई के बिजली पोल लगाए जा रहे हैं।


इस चित्र में आप देख रहे हैं कि कैसे इतने मोटे-मोटे लोहे के बिजली के खंभे ढह गए। कागज के खंभों के जैसे मुड़ गए। हाईवा से खिचकर जमीन तक नीचे झुक गए। इन्हें खंभों से सड़क के दूसरे पार तक बिजली लाइन पहुंचाई गई थी। 


असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

 पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............

................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक , सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता