दुर्ग संभाग में इसी शैक्षणिक सत्र से 17 नए स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल, दुर्ग जिले में सात और राजनांदगांव जिले में तीन

 

*नये स्कूलों में विद्यार्थियों को प्रवेश एक जुलाई से

*कलेक्टरों को नवीन स्कूलों के लिए शैक्षिक एवं गैर शैक्षिक पदों की पूर्ति एवं आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश


रायपुर, दुर्ग । 

असल बात न्यूज़।। 

राज्य सरकार, स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों की संख्या में बढ़ोतरी करने जा रही है तो इसका मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के गृह जिले दुर्ग जिले को भी बड़ा फायदा मिलता दिख रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार "एजुकेशन हब" माने जाने वाले "दुर्ग जिले" में सात नए स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम उत्कृष्ट विद्यालय खोले जाएंगे। बताया जाता है कि संभाग आयुक्त दुर्ग श्री कावरे ने भी दुर्ग संभाग में और अधिक स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम विद्यालय खोले जाने के लिए राज्य सरकार को पत्र लिखा था। नए शुरू होने वाले स्कूल में बच्चों को जुलाई महीने से एडमिशन मिल सकेगा।

राज्य में सरकार के द्वारा शुरू किए गए अंग्रेजी माध्यम विद्यालय का आम लोगों में बड़ा क्रेज दिख रहा है। पहले जो लोग,अपने बच्चों को सरकारी स्कूल में पढ़ाने के नाम पर मुंह बिचकाते  नजर आते थे, अब  अंग्रेजी माध्यम के सरकारी विद्यालय के शुरू हो जाने के बाद वे सब भी वहां अपने बच्चों को एडमिशन दिलाने के लिए लाइन में खड़े दिख रहे हैं। इसे देखते हुए राज्य सरकार के द्वारा इस अंग्रेजी माध्यम स्कूल की संख्या में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है। इसी कड़ी में प्रदेश में आज 76 नए स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम विद्यालय खोलने का निर्णय लिया गया है। इसमें से 7 विद्यालय दुर्ग जिले में खोले जाएंगे तथा बेमेतरा जिले में चार और तीन- तीन विद्यालय राजनांदगांव और बालोद जिले में शुरू किए जाएंगे। दुर्ग संभाग के कबीरधाम जिले में एक विद्यालय शुरू किया जाएगा। मुख्यमंत्री के भ्रमण एवं भेंट-मुलाकात के दौरान बड़ी संख्या में पालक और बच्चे अंग्रेजी माध्यम स्कूल की मांग अपने इलाकों में करते रहे हैं। पालकों और बच्चों के आग्रह पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने राज्य में 50 और नवीन अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोलने की घोषणा करने के साथ ही अपने ट्वीटर हैण्डल से भी इसकी जानकारी दी थी। विधानसभा क्षेत्रों के भेंट-मुलाकात के दौरान लोगों की मांग पर मुख्यमंत्री ने 26 और नवीन अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोलने की घोषणा की थी।