शाम तक लगभग 70 हजार लोगों ने करा लिया था वैक्सीनेशन

 

*-देर शाम चलती रही वैक्सीनेशन की कार्रवाई

दुर्ग  ।

असल बात न्यूज़।।

 वैक्सीनेशन के लिए आरंभ किये गये महाअभियान का शानदार रिस्पांस रहा। सुबह से ही 800 वैक्सीनेशन दलों ने बड़ी संख्या में लोगों को वैक्सीन लगाई। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. बंजारे ने बताया कि आंकड़े रात दस बजे तक ही आ पाएंगे, फिर भी अनुमान है कि शाम तक 70 हजार लोग वैक्सीन लगवा गया है। 

उन्होंने बताया कि सुबह से ही मोबाइल टीम ने घर-घर घूमकर लोगों को वैक्सीन लगाई। इसके लिए डोर-टू-डोर कैंपेन किया गया। डोर-टू-डोर कैंपेन का लाभ यह रहा कि बुजुर्ग एवं दिव्यांग लोग जो वैक्सीनेशन के लिए सेंटर तक आने में दिक्कत महसूस कर रहे थे, उनका भी वैक्सीनेशन हो सका। दुर्ग निगम में हुए टीकाकरण कार्यक्रम में विधायक श्री अरुण वोरा एवं महापौर श्री धीरज बाकलीवाल ने हिस्सा लिया। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने भी वैक्सीनेशन केंद्रों का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि टीकाकरण महाभियान का उद्देश्य कोरोना वैक्सीन के कवरेज को बढ़ाना है।

 कई बार दिव्यांगता अथवा अन्य परिस्थिति के चलते लोग टीकाकरण स्थल तक नहीं पहुंच पाते, ऐसे लोगों को सुविधा देने के लिए मोबाइल टीम भी तैयार की गई। उल्लेखनीय है कि कामकाजी लोगों की सुविधाओं के लिए शाम की पाली में भी वैक्सीनेशन कार्य होता रहा। सीएमएचओ डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर ने बताया कि वैक्सीनेशन के लिए लगी टीमों ने दिन भर कड़ी मेहनत की। आज के महाअभियान से निश्चित रूप से ही कोरोना टीकाकरण का जिले में कवरेज बढ़ा है और इससे कोविड संक्रमण से लड़ाई के लिए बड़ी सहायता मिलेगी। उन्होंने बताया कि टीकाकरण के इस महाअभियान के लिए सभी वर्गों की सहायता मिली। कल ही थर्ड जेंडर के एक प्रतिनिधिमंडल ने मिलकर कहा कि उनमें से जो भी लोग टीकाकरण से छूट गये हैं, वे इस दिन टीका लगा लेंगे। अपर कलेक्टर श्रीमती नूपुर राशि पन्ना ने बताया कि सभी निकायों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में व्यवस्था कराई गई थी तथा जिला मुख्यालय से इसकी लगातार मानिटरिंग हो रही थी।

 बीते एक हफ्ते से मितानिन और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने जो माहौल तैयार किया, उसका सकारात्मक नतीजा निकला और बड़ी संख्या में लोग वैक्सीनेशन के लिए सामने आये। देर शाम तक वैक्सीनेशन कार्य जारी था। शाम को वैक्सीनेशन की तस्वीर और बेहतर होने की उम्मीद है। वैक्सीनेशन के डाटा आफलाइन भी रहे, इन्हें अपडेट किया जा रहा है।