महिलाओं की सुरक्षा करने मैदान में उतरी पिंक टीम , टीम में शामिल है 80 से अधिक महिला पुलिस अधिकारी कर्मचारी, पिंक कलर के वाहन से कर रही हैं गस्त


🔻 * महिलाओं की सुरक्षा के लिए दुर्ग पुलिस की नई पहल- पिंक गश्त

🔻 *पुलिस अधीक्षक दुर्ग  प्रशांत अग्रवाल के द्वारा पुलिस कंट्रोल रूम भिलाई से पिंक गश्त की शुरुआत

🔻 *दुर्ग-भिलाई के 11 से अधिक स्थानों पर फ्लेक्स, पंपलेट, सेल्फी स्टैंड और खास गिफ्ट "सुरक्षा की चाबी" को महिलाओं को देकर किया जागरूक

दुर्ग, भिलाई। असल बात न्यूज़।

महिलाओं को सुरक्षा दिलाने और उनके खिलाफ अपराध के रोकथाम के लिए नई मुहिम शुरू की गई है। अब इस सुरक्षा का जिम्मा पिंक टीम संभालेगी। पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल ने पुलिस कंट्रोल रूम सेक्टर 6 भिलाई से पिंक टीम गश्त की शुरुआत की। महिलाओं से चैन स्नैचिंग, मारपीट, लूट, धोखाधड़ी जैसी घटनाओं में आम लोगों को परेशान कर रखा है। पिंक टीम,महिलाओं के खिलाफ जी क्षेत्र में अधिक अपराध हो रहे हैं उन क्षेत्रों में प्राथमिकता पूर्वक सक्रिय रहेगी।

       जिला पुलिस   के द्वारा  महिलाओं को सुरक्षा देने के मकसद से यह नई पहल- पिंक गश्त की शुरुआत की है। अपराध वाले इलाकों में गश्त के लिए महिला पुलिसकर्मियों की खास टीम का गठन किया है, जिसमें महिला पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों के द्वारा जिला दुर्ग-भिलाई शहर के चिन्हांकित 11 स्थानों पर जाकर महिलाओं से रूबरू होकर उनको सुरक्षा के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए जाएंगे,। उक्त स्थानों में फ्लेक्स, पंपलेट एवं सेल्फी स्टैंड के माध्यम से महिलाओं को उनसे जुड़े अधिकारों एवं कानूनों के बारे में जागरूक कराया जावेगा।, साथ ही एक *स्पेशल गिफ्ट- सुरक्षा की चाबी* दी जावेगी जिसमें दुर्ग पुलिस के महत्वपूर्ण फोन नंबर जैसे- पुलिस कंट्रोल रूम भिलाई, महिला थाना, रक्षा टीम के नंबर अंकित होंगे, जिनको इमरजेंसी पर सुरक्षा स्वरूप महिला के द्वारा कॉल करने पर तुरंत पुलिस की टीम मदद के लिए पहुंचेगी। 

          महिलाओं को सुरक्षा देने के लिए दुर्ग पुलिस की नई पहल  के तहत शहर  के 11 स्थानों में महिला पुलिस की खास पट्रोलिंग टीम को महिलाओं की सुरक्षा के लिए गुलाबी रंग की स्कूटी, पेट्रोलिंग वाहन और इसी रंग के *बैच व रिस्ट बैंड*  दिए गए हैं। जिसे महिला पुलिस बल के द्वारा आम महिलाओं को पहनाकर पुलिस पब्लिक के संपर्क में बढ़ोतरी की जा सकेगी। 

        महिला पुलिसकर्मियों की टीम को गुलाबी स्कूटी और पेट्रोलिंग वाहन खास वजह से दिए गए हैं ताकि सड़क पर उनकी उपस्थिति दिख सके और अपराधों के खिलाफ महिलाएं अपनी बात  सहजता से पहुंचा सकें। 

            पुलिस अधीक्षक दुर्ग के द्वारा बताया गया  कि दुर्ग पुलिस के पिंक गश्त अभियान से महिलाओं का कॉन्फिडेंस बढ़ेगा, जिससे वे बिना किसी हिचकिचाहट के पुलिस से संपर्क कर सकेंगी।  इस मुहिम के बाद पुलिस-पब्लिक के संपर्क में बढ़ोतरी होगी।  जिससे महिलाओं की हर समस्या का समाधान करने की कोशिश की जावेगी और उन्हें भीड़भाड़ वाले इलाकों में सुरक्षित वातावरण उपलब्ध कराया जावेगा। 

        अतिरिक्त  पुलिस अधीक्षक शहर श्री संजय कुमार ध्रुव के द्वारा बताया कि गलियों में पुलिस की गश्त बढ़ने के चलते अब स्ट्रीट क्राइम में कमी होंगी। इस मुहिम के तहत महिला पुलिसकर्मियों को सेल्फ डिफेंस के तहत महिलाओं को कोचिंग देकर जागरूक कराया जा रहा है एवं उन्हें अकेले होने पर स्प्रे और चिली पाउडर आपातकालीन फोन नंबर की बात बताई । इसके अलावा किसी भी टैक्सी या सुनसान जगहों पर जाने के पहले अपना जीपीएस ऑन कर अपने नजदीकी रिश्तेदारों को भेजने के संबंध में महत्वपूर्ण टिप्स भी दिए जा रहे हैं।


            जिले में दुर्ग पुलिस 11 महिला अधिकारियों/कर्मचारियों की यह खास पट्रोलिंग टीम बनाई है। इन महिला सिपाहियों को गुलाबी रंग की 40 स्कूटी दी गई हैं। ये खास पट्रोलिंग टीमें शाम 6 बजे से 11 बजे तक पट्रोलिंग करेंगी।

          उपरोक्त कार्यक्रम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर श्री संजय कुमार ध्रुव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री अनंत कुमार, नगर पुलिस अधीक्षक भिलाई नगर श्री राकेश जोशी, नगर पुलिस अधीक्षक छावनी श्री विश्वास चंद्राकर, उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय, श्री अभिषेक झा,रक्षित निरीक्षक दुर्ग श्री निलेश द्विवेदी, थाना प्रभारी दुर्ग, मोहन नगर, सुपेला, छावनी, जामुल, वैशाली नगर, भिलाई नगर, भिलाई भट्टी सहित सूबेदार तृप्ति सिंह, कंट्रोल रूम के अधिकारी/कर्मचारीगण उपस्थित थे। अभियान को सफलतापूर्वक संचालित करने में साल्टेड एड एजेंसी के संस्थापक श्री अजय रात्रे, एवं बधाई हो इंडिया इवेंट कंपनी के डायरेक्टर श्री निशांत जैन की भूमिका रही।