Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

श्याम प्रसाद जी ने भारत की अखंडता के लिए अपना सब कुछ त्यागा:किरण देव, श्यामा प्रसाद जी ने केवल देश को सर्वोपरि रखा:बृजमोहन अग्रवाल

रायपुर  रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को पूरे प्रदेश में भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी की जयंती (06 जुलाई) पर विभ...

Also Read

रायपुर 


रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को पूरे प्रदेश में भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी की जयंती (06 जुलाई) पर विभिन्न कार्यक्रम रखकर उन्हें श्रद्धापूर्वक स्मरण किया और उनके बताए मार्ग पर चलकर शक्तिशाली, समृद्धशाली और स्वाभिमानी भारत के संकल्प को पूर्ण करने की प्रतिबद्धता दुहराई।


भाजपा प्रदेश अध्यक्ष व विधायक किरण सिंह देव ने बस्तर जिले के सुदूर क्षेत्र दरभा मण्डल के कामानार ग्राम में शनिवार को भाजपा के ग्रामीण कार्यकर्ताओं के साथ भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी की जयंती मनाकर उनको याद किया और उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर श्री देव ने डॉ. मुखर्जी के छायाचित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी के रूप में भाजपा केंद्र सहित अनेक राज्यों में सत्तासीन है जो हमारे महापुरुषों की तपस्या व बलिदान के कारण ही संभव हो पाया है। डॉ. मुखर्जी के आदर्शों को अपनाकर उनके विचारों को साकार रूप प्रदान करना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है।


भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री देव ने कहा कि अगर देश के पास भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी नहीं होते तो कश्मीर का विषय चर्चा में नहीं आता । जिस प्रकार लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल ने खंड-खंड हो रहे देश को अखंड बनाया, उसी प्रकार डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने अखंड भारत की संकल्पना को साकार करने के लिए अपना पूरा जीवन होम कर दिया। डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी केवल राजनीतिक कार्यकर्ता नहीं थे। उनके जीवन से ही राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं को सीख लेनी चाहिए। उनका स्वयं का जीवन प्रेरणादायी, अनुशासित तथा निष्कलंक था। राजनीति उनके लिए राष्ट्र की सेवा का साधन थी, उनके लिए सत्ता केवल सुख के लिए नहीं थी। डॉ. मुखर्जी ने राष्ट्रनीति के लिए राजनीति में पदार्पण किया। वे देश की सत्ता चाहते तो थे, किंतु किसके हाथों में? उनका विचार था कि सत्ता उनके हाथों में जानी चाहिए, जो राजनीति का उपयोग राष्ट्रनीति के लिए कर सकें। आज केंद्र समेत विभिन्न राज्यों में सत्तारूढ़ भाजपा उनके आदर्शों से अनुप्राणित होकर कार्य कर रही है।


डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी जी की जयंती पर आज भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर में सांसद बृजमोहन अग्रवाल, विधायक पुरंदर मिश्रा, प्रदेश भाजपा  उपाध्यक्ष श्रीमती लक्ष्मी वर्मा, महामंत्री संजय श्रीवास्तव, वरिष्ठ भाजपा नेता सच्चिदानंद उपासने, प्रदेश मंत्री किशोर महानंद, भाजपा जिलाध्यक्ष जयंती पटेल, भाजपा प्रदेश मीडिया प्रभारी अमित चिमनानी, प्रदेश प्रवक्ता नलिनीश ठोकने, राजीव  चक्रवर्ती, जिला महामंत्री सत्यम दुवा, रमेश ठाकुर, वरिष्ठ भाजपा नेता सुभाष तिवारी, प्रफुल्ल विश्वकर्मा, पूर्व विधायक श्रीचंद सुंदरानी, अनूप मसंद, अमरजीत छाबड़ा, अमित मैशेरी, सीमा संतोष साहू, किरण बघेल, कृतिका जैन सहित वरिष्ठ भाजपाजन मौजूद रहे। जगदलपुर में पूर्व विधायक बैदूराम कश्यप, श्रीमती सीता नाग, श्रीमती शांति, ललिता कश्यप, फूल सिंह सेठिया, नीतू भदोरिया, भोला श्रीवास्तव, हरिप्रसाद, संतोष बघेल, गागरा राम, विष्णु प्रताप, जिला कार्यालय, जांजगीर नैला में वरिष्ठ भाजपा नेता नारायण चंदेल, जिला अध्यक्ष गुलाब सिंह चंदेल, पूर्व विधायक अंबेश जांगड़े, एवं क्षेत्रवासी उपस्थित थे।