Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

स्वरूपानंद महाविद्यालय के शिक्षा विभाग एवं एनएसएस इकाई द्वारा वृक्षारोपण एवं पर्यावरण जागरूकता रैली का आयोजन

  भिलाई. असल बात न्यूज़.     स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय भिलाई के शिक्षा विभाग एवं एनएसएस के संयुक्त तत्वाधान में शिक्षकों एवं...

Also Read

 


भिलाई.

असल बात न्यूज़.    

स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय भिलाई के शिक्षा विभाग एवं एनएसएस के संयुक्त तत्वाधान में शिक्षकों एवं विद्यार्थियों द्वारा पौधारोपण कार्यक्रम हुडको, भिलाई में संपन्न किया गया। साथ ही रोपित पौधों को वृक्ष-रक्षक के द्वारा सुरक्षित किया गया। पर्यावरण को सुरक्षित रखने, प्रदूषण से मुक्ति, एवं लोगों को छाया प्रदान करने के उद्देश्य से औषधीय, छायादार नीम एवं करंज के पौधों को रोपित किया गया।

कार्यक्रम प्रभारी स.प्रा. डॉ. पूनम शुक्ला शिक्षा विभाग ने उपस्थित जनों के समक्ष कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि पर्यावरण को प्रदूषित करने के लिए मनुष्य ही जवाबदेह है अतः हमें अपनी भूल सुधार हेतु पर्यावरण संरक्षण करना ही होगा। यह किसी एक की नही सभी की जिम्मेदारी है।

तत्पश्चात् विद्यार्थियों द्वारा लोगों को पर्यावरण सुरक्षा एवं संतुलन बनाये रखने हेतु जागरूक करने हेतु जागरूकता रैली निकाली गई एवम पर्यावरण सुरक्षा एवं वृक्षों की महत्ता संबंधी नारे भी लगाए गए। 

महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. दीपक शर्मा एवं डॉ. मोनिषा शर्मा ने विद्यार्थियों के इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा यदि देश का प्रत्येक नागरिक वर्ष मे कम से कम एक पौधे को रोपित कर उसकी सेवा व सुरक्षा करने का प्रण ले तो वह दिन दूर नहीं जब हम पर्यावरण प्रदूषण जैसी विकट समस्या से निजात पा लेंगें। 

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने कहा वृक्षारोपण पर्यावरण की सुरक्षा हेतु आवश्यक है साथ ही जल संरक्षण एवं संतुलित वर्षा हेतु भी महत्वपूर्ण है अतः हम सभी को स्वयं वृक्षारोपण करना चाहिए एवं अन्य लोगों को भी प्रेरित करना चाहिए।

महाविद्यालय की उपप्राचार्य डॉ. अजरा हुसैन ने कार्यक्रम की सफलता की अग्रिम शुभकामनायें दी तत्पश्चात् अपने संबोधन में कहा हम सभी प्रत्येक वर्ष अपने जन्म दिवस पर वृक्षारोपण करने का प्रण ले और इस परंपरा को पीढ़ी दर पीढ़ी हस्तांतरित करें तो शीघ्र ही पूरा पर्यावरण स्वच्छ एवं सुंदर होगा।

कार्यक्रम को सफल बनाने में शिक्षा विभाग के समस्त प्राध्यापकों एवं एनएसएस प्रभारी का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

कार्यक्रम में शिक्षा विभाग के विद्यार्थी एवं एनएसएस के स्वयंसेवक उपस्थित हुए।