Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

घरो से निकलने वाले कचरो से भिलाई निगम बना रहा खाद

भिलाई भिलाईनगर। नगर पालिक निगम भिलाई क्षेत्रांतर्गत प्रतिदिन घरो से निकलने वाले गीला एवं सूखा कचरे का एकत्रिकरण कार्य किया जा रहा है। गिले क...

Also Read

भिलाई










भिलाईनगर। नगर पालिक निगम भिलाई क्षेत्रांतर्गत प्रतिदिन घरो से निकलने वाले गीला एवं सूखा कचरे का एकत्रिकरण कार्य किया जा रहा है। गिले कचरे से जैविक खाद का निर्माण किया जा रहा है। साथ ही नगर निगम के उद्यानो से निकलने वाले पत्ते, खरपतवार, फूल इत्यादि को एकत्रित कर वहीं पर गढढा बनाकर जैविक उपयोगी खाद बनाया जा रहा है। उसी खाद से नगर निगम अपने नर्सरी में फूल पौधो को हरा भरा रखेगा। इसके साथ साथ जो हाउसिंग सोसायटी है उनके बीच में भी जाकर उन्हे प्रेरित किया जा रहा है कि अपाटमेंट के बीच में या जहां पर भी उद्यान है वहां से निकलने वाले जैविक कचरे को वहीं पर गढढा बनाकर सेग्रिगेट किया जाये जिससे खाद बन जाये, फिर से उसे उपयोगी खाद बनाया जा सके। आयुक्त देवेश कुमार ध्रुव ने उद्यान अधिकारी, भवन अनुज्ञा अधिकारी एवं निगम के जोन स्वास्थ्य अधिकारियो को निर्देशित किया है की जैविक कचरो का डिस्पोजल स्थानीय स्तर पर गढढा बनाकर खाद का निर्माण करके उपयोग किया जावे। नगर निगम भिलाई ने सभी नागरिको से अपील की है कि वे स्वयं ही अपने घरो से निकलने वाले फूल, गिरे हुए पत्ते पुजा सामग्री, बेल पत्र इत्यादि को अपने घरो के गमले में ही डालकरके थोड़ा मिटटी, गोबर, गुड़, पानी डाल के ढंग देवे। कुछ दिनो बाद थोड़ा थोड़ा पानी डालते रहे, जिससे अपने आप जैविक कचरा शढ़ करके खाद बन जायेगा। जिसे फिर से अपने घरो के बाड़ी में फूल पौधो में डालकर उपयोग कर सकते है।