Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

स्वरूपानंद महाविद्यालय में विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर विविध आयोजन

  भिलाई. असल बात न्यूज़.    स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय, हुडको ,भिलाई में तंबाकू निषेध दिवस के अवसर पर शपथ एवं विचारों की अभिव...

Also Read

 


भिलाई.

असल बात न्यूज़.   

स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय, हुडको ,भिलाई में तंबाकू निषेध दिवस के अवसर पर शपथ एवं विचारों की अभिव्यक्ति कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए डॉ सावित्री शर्मा, प्रोफेसर ,शिक्षा विभाग ने बताया कि प्रतिवर्ष 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया जाता है । जिससे भविष्य की पीढ़ी को सुरक्षित रखा जा सके । इस वर्ष तंबाकू निषेध दिवस 2024 की थीम है-- " प्रोटेक्टिंग चिल्ड्रन फ्रॉम टोबैको इंडस्ट्री इंटरफ्रेंस " अर्थात तंबाकू उद्योग के दखल से बच्चों की रक्षा। 

इस अवसर पर महाविद्यालय के कार्यकारी अधिकारी डॉ दीपक शर्मा ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि मानव शरीर के लिए तंबाकू उत्पाद बेहद घातक है ,जिससे अनेक गंभीर बीमारियां जन्म लेती है । 

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने कहा कि युवाओं का तेजी से तंबाकू निर्मित उत्पादों का सेवन चिंता का विषय है । यद्यपि इन उत्पादों पर स्वास्थ्य के लिए हानिकारक चेतावनी लिखी होती है ,लेकिन समाज इसके प्रति जागरूक नहीं है। युवाओं के इस शौक को घातक बताते हुए उन्होंने कहा कि महाविद्यालय में तंबाकू मुक्त वातावरण रखना हम सब की नैतिक जिम्मेदारी है । 

इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापको एवं विद्यार्थियों द्वारा शपथ ली गई ,जिसमें अपने जीवन में किसी भी प्रकार के तंबाकू उत्पाद का सेवन नहीं करने का संकल्प लिया गया एवं पर्यावरण को भी तंबाकू उत्पादों के उपयोग से होने वाले दुष्प्रभावों से मुक्त करने में योगदान देने की शपथ ली गई।  स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा विद्यार्थियों एवं प्राध्यापिकाओं ने ई- सर्टिफिकेट प्राप्त किया। विचारों की अभिव्यक्ति कार्यक्रम के अंतर्गत प्राध्यापकों ने कहा कि   तंबाकू में अनेक प्रकार के रासायनिक यौगिक होते हैं ,जो सीधे स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं । विद्यार्थी तंबाकू उत्पाद सेवन को स्टेटस सिंबल ना समझे यह पूर्णतया अनुचित है । हमें समाज को इस तरफ जागरूक करने की आवश्यकता है । इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापक एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।