Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

भिलाई निगम द्वारा फाइट द वाइट व जल जनित बीमारी रोकने के लिए चल रहा अभियान

भिलाई  जल जनित बीमारी से बचाव के लिए नगर निगम भिलाई क्षेत्र में अभियान चल रहा है। इसके अंतर्गत जोन -4,वार्ड -41 औधोगिक क्षेत्र -छावनी अंतर्ग...

Also Read

भिलाई 



जल जनित बीमारी से बचाव के लिए नगर निगम भिलाई क्षेत्र में अभियान चल रहा है। इसके अंतर्गत जोन -4,वार्ड -41 औधोगिक क्षेत्र -छावनी अंतर्गत आदिवासी मोहल्ला में निगम का विशेष दस्ता, शहरी परिवार कल्याण केंद्र -सुपेला, एवं जिला मलेरिया विभाग की संयुक्त टीम द्वारा फाइट द बाइट (मच्छर उन्मूलन कार्यक्रम) एवं जल जनित मौसमी बीमारियों से बचाव के घर-घर जा रहे हैं । जन जागरूकता अभियान के तहत जन समुदाय मे उल्टी -दस्त, टाइफाइड, पीलिया से बचाव हेतु बता रहे हैं।  पानी उबालकर/ठंडा कर सेवन  करें,शौच के बाद साबुन से अच्छी तरह से हाथ धोवे एवं बासी भोजन एवं सड़े गले खाद्यपदार्थ का सेवन नहीं करने की समझाइश  दे रहे हैं। बचाव हेतु क्या उपाय करना चाहिए, डायरिया/उल्टी -दस्त होने की स्थिति में तरल पदार्थ जैसे नारियल पानी,दाल का पानी, ओआरएस का घोल ज्यादा मात्रा में पीते रहने के लिए कहा गया  है। अपने घर में ही जीवन रक्षक घोल (एक ग्लास पानी में एक चुटकी नमक एवं एक चम्मच शक्कर, नींबू उपलब्ध हो तो दो -तीन बूंद नींबू का रस मिलाकर) पीने की सलाह हिंदी जा रही है । ज्यादा अच्छा होगा कि नजदीकी अस्पताल में जाकर स्वास्थ्य परीक्षण कराएं संबंधित डॉक्टर को दिखाकर स्वास्थ्य लाभ लेवे' ।

डेंगू/मलेरिया से बचाव के लिए अपने घर के आसपास पानी का जमाव नहीं होने दें, कूलर, पानी का ड्रम, कंटेनर में संग्रहित किए गए पानी को प्रत्येक सप्ताह रविवार के दिन पुराना पानी खाली कर, सूखाकर ही नया पानी भरकर उपयोग करने की सलाह द गई है ।  निगम द्वारा दिया जा रहा पानी मिश्रित टेमीफास बाटल से दो ढक्कन दवा उस कूलर में भरे गए नए पानी में डालने की स्वास्थ्य शिक्षा दी गई।

आयुक्त देवेश कुमार धारू वी ध्रुव ने जोन   के सभी स्वास्थ्य अधिकारी, सुपरवाइजर, मितानिन, सफाई कर्मचारी, मलेरिया उन्मूलन विभाग को घर-घर जाकर सर्वे करने के लिए निर्देशित किए हैं । रविवार के दिन विशेष ड्राई डे मनाया जा रहा है। सभी  जोन आयुक्त जनप्रतिनिधियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं से सहयोग लेकर व्यापक स्तर पर कार्यक्रम चलाएंगे।