Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

21 जून को पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है. प्रदेश सहित पूरे देश में भी योग शिविर का आयोजन किया गया

   आरंग.  21 जून को पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है. प्रदेश सहित पूरे देश में भी योग शिविर का आयोजन किया गया. इसी क्र...

Also Read

  आरंग. 21 जून को पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है. प्रदेश सहित पूरे देश में भी योग शिविर का आयोजन किया गया. इसी क्रम में आरंग के ग्राम भिलाई स्थित सीआरपीएफ कैंप में “महिला सशक्तिकरण के लिए योग” थीम पर योग दिवस मनाया गया.

इस योग शिविर में सीआरपीएफ छत्तीसगढ़ सेक्टर के डीआईजी शिव कुमार बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए. संस्कृत महाविद्यालय रायपुर से आए योग गुरु रविशंकर साहू ने योग शिविर में शामिल लोगों को योग के विभिन्न आसनों के बारे में जानकारी दी. इस अवसर पर डीआईजी शिव कुमार ने कहा, “योग हमारे जीवन में संतुलन स्थापित करता है. फोर्स में कई बार गंभीर स्थितियों का सामना करना पड़ता है, जिसमें सोने और खाने का समय नहीं मिल पाता. ऐसी स्थिति में शरीर में संतुलन बनाए रखने के लिए योग जरूरी है.”

इस आयोजन में शिव कुमार, पुलिस उप महानिरीक्षक, केरिपुबल, छत्तीसगढ़ सेक्टर, अजय कुमार सिंह, उप महानिरीक्षक, ग्रुप केंद्र, केरिपुबल, रायपुर, सुनील यादव, उप महानिरीक्षक, सेंट्रल जोन टैक रायपुर, एन.के. सिंह, उप महानिरीक्षक, छत्तीसगढ़ सेक्टर के अतिरिक्त केरिपुबल के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों, कार्मिकों एवं उनके परिवारजन, सरकारी स्कूल भिलाई के बच्चे, और भिलाई गाँव के ग्रामीणों ने 10वां “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” मनाया.

योग दिवस की शुरुआत 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के प्रस्ताव से हुई थी. उसी वर्ष 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने इस प्रस्ताव को स्वीकृति देते हुए 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी. इस प्रस्ताव को 177 देशों का समर्थन मिला था, जिसके बाद पहली बार दुनियाभर में योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया. इस दिन विश्व के लाखों लोगों ने सामूहिक रूप से योगाभ्यास किया था.

योग दिवस के लिए 21 जून का चयन

योग दिवस मनाने के लिए 21 जून का चयन एक विशेष वजह से किया गया. 21 जून उत्तरी गोलार्ध में सबसे लंबा दिन होता है, जिसे ग्रीष्म संक्रांति कहते हैं. इस दिन के बाद सूर्य दक्षिणायन में प्रवेश करता है, जिसे योग और अध्यात्म के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है. इसी कारण 21 जून को योग दिवस के रूप में मनाए जाने का फैसला लिया गया था.

योग दिवस 2024 की थीम

हर साल विश्व योग दिवस की एक विशेष थीम होती है. इस साल योग दिवस की थीम ‘महिला सशक्तिकरण के लिए योग’ है, जो महिलाओं पर आधारित है.