Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

प्रधानमंत्री 18-19 जून को उत्तर प्रदेश और बिहार का दौरा करेंगे,, उत्तर प्रदेश में किसान सम्मान सम्मेलन में भाग लेंगे ,औऱ वहां 20,000 करोड़ रुपये से अधिक की पीएम किसान योजना की 17वीं किस्त जारी करेंगे

    सहायता समूहों की 30,000 से अधिक महिलाओं को कृषि सखी के रूप में प्रमाण पत्र प्रदान करेंगे प्रधानमंत्री बिहार में नालंदा विश्वविद्यालय परि...

Also Read

 


 

सहायता समूहों की 30,000 से अधिक महिलाओं को कृषि सखी के रूप में प्रमाण पत्र प्रदान करेंगे

प्रधानमंत्री बिहार में नालंदा विश्वविद्यालय परिसर का उद्घाटन करेंगे 


 नई दिल्ली.
  असल बात न्यूज़.

 ताजा राजनीतिक परिस्थितियों में देश में उत्तर प्रदेश और बिहार का क्या महत्व हो गया है यह सब समझ सकते हैं. इन राज्यों ने अभी देश की राजनीति में बड़ा सबक दिया है.उत्तर प्रदेश के ताजा राजनीतिक उठापटक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश और बिहार का दौरा करने वाले हैं.वे 18 और 19 जून, 2024 को उत्तर प्रदेश और बिहार का दौरा करेंगे।


18 जून को शाम 5 बजे प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश के वाराणसी में प्रधानमंत्री किसान सम्मान सम्मेलन में भाग लेंगे। शाम 7 बजे प्रधानमंत्री दशाश्‍वमेध घाट पर गंगा आरती में भाग लेंगे। रात 8 बजे वह काशी विश्‍वनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना और दर्शन भी करेंगे।

19 जून को सुबह 9.45 बजे प्रधानमंत्री नालंदा के भग्नावशेष का दौरा करेंगे। सुबह 10.30 बजे प्रधानमंत्री बिहार के राजगीर में नालंदा विश्‍वविद्यालय के परिसर का उद्घाटन करेंगे। इस अवसर पर प्रधानमंत्री आयोजित सभा को संबोधित भी करेंगे।

प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश में

तीसरी बार प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने के बादप्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पीएम किसान निधि की 17वीं किस्त जारी करने की अपनी पहली फाइल पर हस्ताक्षर किएजो किसान कल्याण के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। इस प्रतिबद्धता को जारी रखते हुएप्रधानमंत्री प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण के माध्यम से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) के अंतर्गत लगभग 9.26 करोड़ लाभार्थी किसानों को 20,000 करोड़ रुपये से अधिक की 17वीं किस्त जारी करेंगे। अब तक, 11 करोड़ से अधिक पात्र किसान परिवारों को पीएम-किसान योजना के अंतर्गत 3.04 लाख करोड़ रुपये से अधिक का लाभ मिला है।

इस आयोजित कार्यक्रम के दौरानप्रधानमंत्री स्वयं सहायता समूहों की 30,000 से अधिक कृषि सखी महिलाओं को प्रमाण पत्र प्रदान करेंगे।

कृषि सखी कन्वर्जेंस कार्यक्रम (केएससीपी) का मुख्‍य उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं का कृषि सखी के रूप में सशक्तिकरण करते हुए कृषि सखी महिलाओं को पैरा-एक्सटेंशन वर्कर के रूप में प्रशिक्षण और प्रमाणन प्रदान करके, ग्रामीण भारत की तस्‍वीर को बदलना है। यह प्रमाणन पाठ्यक्रम ‘‘लखपति दीदी’’ कार्यक्रम के उद्देश्यों के भी अनुरूप है।