Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने कलेक्टर नम्रता गांधी और कलेक्टर प्रतिनिधी द्वारा चिकित्सकों से दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया

  धमतरी। धमतरी स्थित जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने कलेक्टर नम्रता गांधी और कलेक्टर प्रतिनिधी द्वारा चिकित्सकों से दुर्व्यवहार करने का आरोप लगा...

Also Read

 धमतरी। धमतरी स्थित जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने कलेक्टर नम्रता गांधी और कलेक्टर प्रतिनिधी द्वारा चिकित्सकों से दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया है. जिला अस्पताल के सिविल सर्जन समेत 22 डॉक्टरों ने आज मुख्यमंत्री के प्रधान सविच को पत्र लिखकर इस दुर्व्यवहार की शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की है. डॉक्टरों ने कलेक्टर के खिलाफ उचित कार्रवाई न होने पर कलम बंद हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है.



जिला अस्पताल के डॉक्टरों के मुताबिक, बीते दिनों जिला कलेक्टर नम्रता गांधी और उनके प्रतिनिधियों द्वारा ‘जिला चिकित्सालय के निरीक्षण के दौरान डॉक्टरों से किये गये दुर्व्यवहार से सभी आहत हैं। डॉक्टरों को बिना लिखित आदेश के अपने कक्ष में बुलाकर स्पष्टीकरण मांगने के साथ ही अपमानित किया गया तथा विभागीय स्पष्टीकरण सह एक्नोलेजमेन्ट को फाड़ दिया गया और बिना उचित कारण के अपनी मनमानी करते हुए डॉक्टरों का 1 से 3 दिनों का वेतन काटा गया है. जबकि, सभी चिकित्सक अपने दिये गये दायित्वों का संपादन निष्ठापूर्वक कर रहे हैं.

पत्र में डॉक्टरों ने आगे लिखा कि वर्तमान में जून माह का आपातकालीन ड्यूटी रोस्टर जारी किया गया है जो कि संचालनालय स्वास्थ्य सेवायें (छ.ग.) के आदेश कमांक / अस्प. प्रशा./2019/445/1058, रायपुर दिनांक 13.12.20219 के अनुरूप नहीं है और आदेश की अव्हेलना है. डॉक्टरों का कहना है कि दोहपर 1 बजे के बाद लगभग 80-100 मरीज ईलाज के लिए रहते हैं जिनका ईलाज ओ०पी०डी० समय समाप्त होने के बाद भी किया जाता है. ओटी (ऑपरेशन थियेटर) भी चालू रहता है जिससे शाम की ओ.पी.डी (आउट पेशेंट डिपार्टमेंट) में देर हो जाती है. शाम की ओ.पी.डी में में चिकित्सकों की उपस्थिति के निरीक्षण के लिए तृतीय और चतुर्थ वर्ग के कर्मचारियों को भेजा जाता है और उनके द्वारा चिकित्सकों से दुर्व्यवहार पूर्वक रवैया किया जाता है.