Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

आगामी खरीफ विपणन वर्ष को ध्यान में रखते हुए खाद, बीज और उर्वरक का भंडारण और वितरण सुश्चित करें-कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे, कलेक्टर ने खरीफ फसल 2024-25 के तैयारियों की समीक्षा की

 कवर्धा फसल बीमा के तहत जिले के 10 हजार 988 किसानों को 9 करोड़ 50 लाख 91 हजार 818 रूपए उनके बैंक खाते में अंतरित कवर्धा, कलेक्टर श्री जनमेजय ...

Also Read

 कवर्धा




फसल बीमा के तहत जिले के 10 हजार 988 किसानों को 9 करोड़ 50 लाख 91 हजार 818 रूपए उनके बैंक खाते में अंतरित

कवर्धा, कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने आगामी मानसून से पूर्व खरीफ फसल 2024-25 के लिए खाद, बीज और उर्वरक के भंडारण और वितरण की तैयारियों के संबंध में समीक्षा की। कृषि विभाग, बीज निगम को पूर्व में दिए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार कार्यवाही की जानकारी ली। कलेक्टर ने बैठक में खरीफ फसल की तैयारियों की गहनता से समीक्षा करते हुए जिले में खाद-बीज की मांग के अनुपात में भण्डारण एवं समितियों में वितरण और किसानों द्वारा समितियों के माध्यम से किए जा रहे उठाव सहित सभी एजेंडों पर बारीकी से समीक्षा की। कलेक्टर ने फसल बीमा अंतर्गत माह जनवरी से मार्च तक बेमौसम बारिश से हुए फसल नुकसान मे प्राप्त किसानों की शिकायत के आधार पर क्रियान्वयन की जानकारी ली। बैठक में बताया गया कि बीमा कंपनी द्वारा सर्वे कर अब तक कुल 10 हजार 988 किसानों को 9 करोड़ 50 लाख 91 हजार 818 रूपए उनके बैंक खाते में अंतरित किया जा चुका है।

कलेक्टर श्री महोबे ने कहा कि आगामी खरीफ विपणन वर्ष को ध्यान में रखते हुए खाद, बीज और उर्वरक का भंडारण सुश्चित करें। किसानों को कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। इसके साथ ही किसानों को बीज के उठाव के संबंध में जानकारी भी प्रदान करें। कलेक्टर ने जिले के सभी सेवा सहकारी समितियों के माध्यम से संबंधित समितियों के पंजीकृत किसानों द्वारा किए जा रहे खाद-बीज और उर्वरक की मांग की पूरी जानकारी ली एवं मांग के अनुपात में जिले में खाद-बीज और उर्वरक का भण्डारण सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिले में यूरिया, सुपर फास्फेट, डीएपी, एनपीके और पोटाश के लक्ष्य एवं भंडारण और वितरण की पूरी जानकारी ली।

कृषि विभाग के उपसंचालक श्री राकेश शर्मा ने बताया कि खरीफ 2024 में जिले में कुल बीज की मांग 17594.60 क्विंटल है। जिसमें धान 14300.00 क्विंटल, मक्का (हायब्रिड) 200 क्विंटल, कोदो कुटकी 131.60 क्विंटल, रागी 190.00 क्विंटल, अरहर 616.00 क्विंटल, उड़द 300.00 क्विंटल, मूंग 250.00 क्विंटल, सोयाबीन 1420.00 क्विंटल, मूंगफली 100.00 क्विंटल, तिल 15.00 क्विंटल, सनई 72.00 क्विंटल है। उन्होंने बताया कि 28 मई 2024 की स्थिति में कुल बीज भण्डारण 10714.20 क्विंटल है। जिसमें धान  6824.40 क्विंटल, धान (हायब्रिड) 3250.00 क्विंटल, मक्का (हायब्रिड)  50.00 क्विंटल,  कोदो कुटकी 16.80 क्विंटल, अरहर 232.00 क्विंटल, उड़द 150.00 क्विंटल, मूंग 180.00 क्विंटल, मूंगफली-10.00 क्विंटल, तिल 1.00 क्विंटल, सनई 72.00 क्विंटल है। उन्होंने बताया कि समितियों में भण्डरित 5043.20 क्विंटल, निजी क्षेत्रों में भण्डारित 5671.00 क्विंटल है। उन्होंने बताया कि 8153.70 क्विंटल कुल बीज वितरण किया गया है। जिसमें धान 5404.30 क्विंटल, धान (हायब्रिड) 2730.60 क्विंटल, मक्का (हायब्रिड) 10.00 क्विंटल, कोदो कुटकी 16.80 क्विंटल, अरहर 182.00 क्विंटल, उड़द 90.30 क्विंटल, मूंग 60.40 क्विंटल, मूंगफली-3.00 क्विंटल वितरण किया गया है।

बैठक में बताया गया कि जिले में खरीफ 2024 के लिए 66350 मेट्रिक टन उर्वरक वितरण का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि 28 मई 2024 की स्थिति में कुल उर्वरक 39534.40 मेट्रिक टन भण्डारण है। इसमें यूरिया 17181 मेट्रिक टन, डी.ए.पी. 6071.90 मेट्रिक टन, एम.ओ.पी. 1832.50 मेट्रिक टन,  एस.एस.पी 11609 मेट्रिक टन, एन.पी.के. 2840 मेट्रिक टन है। समितियों में 26525.40 मेट्रिक टन और निजी क्षेत्रों में 13009.00 मेट्रिक टन भण्डारित है। 22078.87 मेट्रिक टन कुल उर्वरक वितरण किया गया है। जिसमें यूरिया 9652.10 मेट्रिक टन, डी.ए.पी. 4214.54 मेट्रिक टन, एम.ओ.पी. 817.31 मेट्रिक टन,  एस.एस.पी 6403.85 मेट्रिक टन, एन.पी.के. 991.07 मेट्रिक टन वितरण किया गया है।