Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

कांग्रेस और इंडी गठबंधन संविधान बदलने का मिथ्या प्रचार करने में लगे है मोदी जी ने तो देश का सविधान जम्मू कश्मीर में भी लागू करवा दिया : आठवले,विपक्ष प्रधानमंत्री के लिए अमर्यादित और असंसदीय भाषा का इस्तेमाल करके अपनी ओछी मानसिकता का प्रदर्शन कर रहा, प्रधानमंत्री की मृत्यु की कामना करना अशोभनीय

रायपुर रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आठवले) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री आठवले ने कहा : लोकतंत्र नहीं, बल्कि कांग्रेस और इंडी गठबंध...

Also Read

रायपुर



रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आठवले) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री आठवले ने कहा : लोकतंत्र नहीं, बल्कि कांग्रेस और इंडी गठबंधन खतरे में है, इसलिए अनर्गल प्रलाप कर रहे

 देश पर आपातकाल थोपकर और 80 बार मनमाने संशोधन करके संविधान की धज्जियाँ उड़ाने वाली कांग्रेस आज संविधान के नाम पर घड़ियाली आँसू बहा रही है : केंद्रीय मंत्री

 राहुल गांधी  देश  के मूड से बेखबर, देश के दिल में मोदी है

 जो गड़बड़ी करेगा, उस पर  जाँच एजेंसियों की कार्रवाई तो होकर रहेगी, अगर वे सही हैं तो कोर्ट से उनको जमानत क्यों नहीं मिल रही है?


 विपक्ष प्रधानमंत्री के लिए अमर्यादित और असंसदीय भाषा का इस्तेमाल करके अपनी ओछी मानसिकता का प्रदर्शन कर रहा, प्रधानमंत्री की मृत्यु की कामना करना अशोभनीय

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के सहयोगी दल रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आठवले) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने कहा है कि कांग्रेस और इंडी गठबंधन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के विरुद्ध संविधान बदलने का मिथ्या प्रचार करके देश को गुमराह करने में लगे हैं। श्री आठवले ने कहा कि भाजपानीत एनडीए की सरकार संविधान को मजबूत बनाने का काम कर रही है। लोकतंत्र कतई खतरे में नहीं है बल्कि कांग्रेस और इंडी गठबंधन खतरे में है, इसलिए विपक्ष अनर्गल प्रलाप कर रहा है।


केंद्रीय मंत्री व आरपीआई अध्यक्ष श्री आठवले ने शुक्रवार को एकात्म परिसर स्थित भाजपा कार्यालय में पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि देश पर आपातकाल थोपकर और संविधान में 80 बार मनमाने संशोधन करके संविधान की धज्जियाँ उड़ाने वाली कांग्रेस आज संविधान के नाम पर घड़ियाली आँसू बहा रही है। प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने धारा 370 खत्म करके जम्मू-कश्मीर में भारत के संविधान को लागू किया, वहाँ बेखौफ राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराने का काम किया और सेना को पूरा अधिकार सौंपकर आतंकवाद को खत्म किया। श्री आठवले ने कहा कि कश्मीर का मसला देश और देश के हर व्यक्ति से जुड़ा मसला है। श्री आठवले ने कटाक्ष किया कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी इस बात से बिल्कुल बेखबर हैं कि देश की जनता किसके साथ है? हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की करारी शिकस्त के बाद राहुल गांधी दलितों और मुस्लिमों को, देशभर में जातियों को एक-दूसरे के विरुद्ध बाँटने का काम कर रहे हैं। उनकी भारत जोड़ो यात्रा दरअसल भारत तोड़ो यात्रा ही साबित हुई है। श्री आठवले ने कहा कि 28 पार्टियों का 'ठगबंधन' श्री मोदी के विरोध में खड़ा है, जहाँ हर पार्टी में प्रधानमंत्री पद का दावेदार है, जबकि एनडीए के सभी सहयोगी क्षेत्रीय दलों को मजबूती के साथ आगे बढ़ने का अवसर मिल रहा है और सभी दल प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में चल रहे हैं। अपनी पार्टी आरपीआई की चर्चा करते हुए श्री आठवले ने कहा कि हम पिछले 12 वर्षों से भाजपा के साथ मिलकर काम कर रहे हैं और पिछली बार की तरह ही इस बार भी हमने छत्तीसगढ़ की सभी 11 लोकसभा सीटों पर भाजपा का समर्थन करने का निर्णय किया है।


केंद्रीय मंत्री व आरपीआई अध्यक्ष श्री आठवले ने प्रधानमंत्री श्री मोदी के 10 वर्षों के कार्यकाल की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए कहा कि इन 10 वर्षों में गाँव-गरीब के साथ-साथ देश के हर तबके के कल्याण और विकास की योजनाओं से करोड़ों देशवासी लाभान्वित हुए हैं। अपने 10 वर्ष के कामकाज का रिपोर्ट कार्ड लेकर हम चुनाव में जा रहे हैं। देश आज प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में विश्व की पाँचवीं सबसे बड़ी आर्थिक शक्ति बन गया है और आगे उनके नेतृत्व में तीसरी सबसे बड़ी आर्थिक शक्ति बनेगा और कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दल प्रधानमंत्री के लिए अमर्यादित और असंसदीय भाषा का इस्तेमाल करके अपनी ओछी मानसिकता का प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदेश के बस्तर लोकसभा के कांग्रेस प्रत्याशी कवासी लखमा के 'कवासी जीतेगा, मोदी मरेगा' वाले बयान पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हुए श्री आठवले ने कहा कि प्रधानमंत्री की मृत्यु की कामना करना अशोभनीय है। किसी की भी मृत्यु की कामना करना हमारी संस्कृति कतई नहीं है। ईवीएम को लेकर कांग्रेस नेताओं के बयानों को लेकर हुए एक सवाल पर श्री आठवले ने कहा कि मतपत्रों के कागज और मतगणना में समय की बचत के लिहाज से ईवीएम कांग्रेस लेकर आई है। कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना में कांग्रेस जीती, इससे पहले छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस जीती, तब कांग्रेस के लिए ईवीएम ठीक था और हार गई तो ईवीएम हैक होने का प्रलाप कर रही है। श्री आठवले ने छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के कामकाज की भी तारीफ की और कहा कि बहुत ही कम समय में प्रदेश सरकार ने मोदी की गारंटी को पूरा करने की दिशा में तेजी से काम करके मिसाल कायम की है।


केंद्रीय मंत्री व आरपीआई अध्यक्ष श्री आठवले ने ईडी समेत केंद्रीय जाँच एजेंसियों द्वारा की जा रही कार्रवाइयों को लेकर कांग्रेस व इंडी गठबंधन के आरोपों से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा कि जो गड़बड़ी करेगा, उस पर कार्रवाई तो होकर रहेगी। जिन पर कार्रवाई हो रही है, अगर वे निर्दोष हैं तो उन्हें डरने की जरूरत नहीं है, लेकिन विपक्ष का प्रलाप बता रहा है कि उसके नेता इन कार्रवाइयों से डरे हुए हैं। अगर वे सही हैं तो कोर्ट से उनको जमानत क्यों नहीं मिल रही है? श्री आठवले ने कहा कि ईडी व केंद्रीय जाँच एजेंसियाँ पर्याप्त साक्ष्यों और दस्तावेजों के साथ निष्पक्ष कार्रवाई कर रही हैं। देशभर के साथ-साथ छत्तीसगढ़ में कांग्रेस समेत विभिन्न राजनीतिक दलों से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल होने पर श्री आठवले ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के कामकाज, गरीब-कल्याण व सुशासन और भाजपा की रीति-नीति से प्रभावित होकर बड़ी संख्या में राजनीतिक व सामाजिक कार्यकर्ता भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं। 'अबकी बार, 400 पार', हमारा अतिविश्वास या दर्प नहीं, अपितु हमारा लक्ष्य व संकल्प है। भाजपानीत एनडीए इन लोकसभा चुनावों में दक्षिणी राज्यों में भी बेहतर परिणामों के साथ लोकसभा में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने जा रहा है और श्री मोदी तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं। पत्रकार वार्ता के दौरान भाजपा प्रदेश महामंत्री संजय श्रीवास्तव, प्रदेश प्रवक्ता व रायपुर लोकसभा प्रभारी संदीप शर्मा, प्रदेश मीडिया प्रभारी अमित चिमनानी के साथ ही आरपीआई के राष्ट्रीय सचिव विजयप्रसाद गुप्ता, प्रदेश प्रभारी अभिषेक वर्मा और प्रदेश महिला विंग प्रमुख ऊषा आपले की उपस्थिति रही।