Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

कवर्धा वनमंडल अंतर्गत वन्यप्राणी सुरक्षा, अग्नि सुरक्षा, रात्रि गश्त, अवैध अतिक्रमण एवं क्षेत्र सुरक्षा को लेकर किये जा रहे भरसक प्रयास

कवर्धा   वनमंडलाधिकारी श्री शशि कुमार, ने बताया कि कवर्धा वनमंडल अंतर्गत वन्यप्राणी सुरक्षा, अग्नि सुरक्षा, रात्रि गश्त, अवैध अतिक्रमण एवं व...

Also Read

कवर्धा



  वनमंडलाधिकारी श्री शशि कुमार, ने बताया कि कवर्धा वनमंडल अंतर्गत वन्यप्राणी सुरक्षा, अग्नि सुरक्षा, रात्रि गश्त, अवैध अतिक्रमण एवं वन क्षेत्र सुरक्षा को लेकर भरसक प्रयास किये जा रहे है। 

         वनों की सुरक्षा एवं संवर्धन के लिए वनक्षेत्र के क्षेत्रीय कर्मचारियो को रात्रि गश्त के लिए आधुनिक उपकरण जैसे:- स्मार्ट स्टीक , एल.ई.डी. हैण्ड टार्च, बैटरी टार्च, हैड लैंप, प्लास्टि राड (लाठी) और जंगल जूते वितरीत किये गये है, जिससे क्षेत्र की सुरक्षा के लिए क्षेत्रीय कर्मचारियों के द्वारा आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित किया जा सके। 

इन उपकरणों का प्रयोग कर क्षेत्रीय कर्मचारी एवं वन्य प्राणियों की सुरक्षा के साथ-साथ स्वयं की सुरक्षा भी सुनिश्चित कर सकेंगे। प्रदाय किए गए सभी उपकरणों में से स्मार्ट स्टिक अत्यधिक कारण है जो की विशेष रूप से पैदल गस्ती के दौरान कर्मचारियों की सुरक्षा के विशेष योगदान देगा । यह स्मार्ट जिला पोर्टेबल है एवं स्टेट में एलईडी लाइट भी लगे हुए हैं जिनका उपयोग रात्रि के समय टॉर्च के रूप में एवं रात्रि में विश्राम स्थल पर उसकी लाइट बढ़ा कर भी किया जा सकता है इसके साथ ही यदि कोई वन्य प्राणी अत्यधिक निकट आ जावे या आक्रमण करने की स्थिति में निकट आ जावे तो स्टिक से का करंट का झटका भी वन्य प्राणी को दिया जा सकता है जिससे कि डर कर दूर भाग जाएगा एवं वन्य प्राणी एवं कर्मचारी दोनो सुरक्षित रहेंगे। यह एक अत्यंत महत्वपूर्ण उपकरण साबित होगा साथ ही वन क्षेत्र में ट्रैकिंग का शौक रखने वाले भी इस उपकरण का उपयोग कर सकते हैं।

अन्य उपकरण जैसे हेडलैंप, जंगल जूते आदि भी कर्मचारियों को पैदल गस्ती करने में अत्यधिक सहूलियत प्रदान करेंगे इन उपकरणों के प्राप्त हो जाने से हमारे मैदानी अमले का अत्यधिक उत्साहवर्धन हुआ है और वह इसका उपयोग कर अपने वन क्षेत्र में भ्रमण करते हुए नजर आ रहे हैं। जिससे वन क्षेत्र में वन एवं वन्यप्राणी की सुरक्षा की दिशा में विभाग सुदृढ़ हो रहा है।