Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

ग्राम खेढ़ा में नव निर्मित आदिवासी कन्या आश्रम में आज किया न्योता भोज का आयोजन

  मुंगेली। विकासखण्ड मुंगेली के ग्राम खेढ़ा में नव निर्मित आदिवासी कन्या आश्रम में आज न्योता भोज का आयोजन किया गया. जिसमें मुंगेली विधायक प...

Also Read

 मुंगेली। विकासखण्ड मुंगेली के ग्राम खेढ़ा में नव निर्मित आदिवासी कन्या आश्रम में आज न्योता भोज का आयोजन किया गया. जिसमें मुंगेली विधायक पुन्नूलाल मोहले और कलेक्टर राहुल देव भी शामिल हुए. इस दौरान उन्होंने कन्या आश्रम में अध्ययनरत बालिकाओं के साथ बैठकर भोजन किया. भोजन में पुरी, सब्जी, चावल, दाल, चावल सहित विभिन्न प्रकार के स्वादिष्ट व्यंजन परोसे गए.

इस खास अवसर पर विधायक मोहले ने बताया कि प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना में समुदाय की भागीदारी को प्रोत्साहित करने के लिए न्योता भोजन की अवधारणा रखी गई है. इसके अंतर्गत जन्मदिन, वैवाहिक वर्षगांठ, राष्ट्रीय पर्व, त्यौहार आदि के अवसर पर स्कूली बच्चों के साथ भोजन किया जा सकता है. इसी के तहत आज आदिवासी कन्या आश्रम में न्योता भोज का आयोजन किया गया है, जो सराहनीय है.

वहीं कलेक्टर राहुल देव ने कहा कि मुख्यमंत्री विष्णु देव साय की मंशा के अनुरूप न्योता भोज के माध्यम से बच्चों को पौष्टिक एवं स्वादिष्ट भोजन प्रदान किया जाता है. इसका उद्देश्य बच्चों का पोषण सुनिश्चित करने के साथ-साथ समानता की भावना विकसित करना है. नव निर्मित आश्रम में इस तरह के आयोजन से बच्चे काफी खुश नजर आए.

विधायक और कलेक्टर ने दिव्यांगनजनों में बांटे सहायक उपकरण

जिला कलेक्टोरेट स्थित जनदर्शन कक्ष में आज जिले के दिव्यांगजनों को सहायक उपकरण प्रदान करने, दिव्यांग प्रमाणीकरण एवं चेक वितरण के लिए निःशुल्क शिविर का आयोजन किया गया. शिविर में 100 से अधिक दिव्यांगजन लाभान्वित हुए. शिविर के दौरान मुंगेली विधायक पुन्नूलाल मोहले और कलेक्टर राहुल देव ने 30 दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंग, 2 को ट्रायसायकल, 3 को व्हील चेयर, 14 को श्रवण यंत्र, 4 को कमरपट्टा, 5 को छड़ी, 3 को बैसाखी, 1 को वाॅकर प्रदान किया.

इसी तरह 19 दिव्यांग छात्रों को छात्रवृत्ति योजना और 2 दिव्यांगजनों को दिव्यांग विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत प्रतिकात्मक चेक का वितरण किया. शिविर में दिव्यांगजनों का शारीरिक परीक्षण, दिव्यांग प्रमाण पत्र बनाने तथा नवीनीकरण की कार्यवाही की गई. इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिव्यांगजनों का ब्लड प्रेशर, शुगर जांच भी किया गया और उन्हें निःशुल्क दवाई तथा आवश्यक परामर्श दिया गया.