Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

कबाड़ियों के ठिकाने पर पुलिस की दबिश, भारी मात्रा में संदिग्ध कबाड़ जब्त, यहां सुई से लेकर जहाज तक का हो जाता है सौदा

  सक्ती.  सक्ती पुलिस ने शुक्रवार को अलग-अलग टीम बनाकर 3 कबाड़ियों के यहां धावा बोला. जिसमें राजापारा के कल्लू कबाड़ी के यहां से भारी मात्रा...

Also Read

 सक्ती. सक्ती पुलिस ने शुक्रवार को अलग-अलग टीम बनाकर 3 कबाड़ियों के यहां धावा बोला. जिसमें राजापारा के कल्लू कबाड़ी के यहां से भारी मात्रा में कबाड़ और कबाड़ से भरे दो ट्रक पुलिस को मिले. जिसके बाद पुलिस ने अपनी कार्रवाई करते हुए कबाड़ से भरे दो ट्रक को जब्त कर थाने ले गई. इसके अलावा वार्ड नंबर 5 में मेहमूद खान की कबाड़ दुकान में पुलिस ने दबिश दी जहां गौदाम में पुलिस को भारी मात्रा में कबाड़ मिला. साथ गैस कटर मशीन और सिलेंडर भी रखा मिला.


पुलिस ने काबड़ियो से स्क्रैप सामानों के बिल मांगे जो वे लोग पेश नहीं कर पाए. जिसके बाद पुलिस ने जब्ती की कार्रवाई की. इसके अलावा पुलिस की एक टुकड़ी बगबुढ़वा गांव की ओर निकली जहां गिधेश्वर गबेल के ठिकाने पर भी पुलिस को संदिग्ध रूप से लोहे के कबाड़ मिले. जिसे टीम ने जब्त किया.

लाखों का सामान जब्त

सक्ती टीआई विवेक शर्मा ने बताया कि सक्ति पुलिस को सूचना मिली कि नगर में कबाड़ के समान के बड़े स्क्रैप यार्डो की आड़ में चोरी के अवैध सामान खपाया जा रहा है. गाडियों को अवैध रूप से कटकर स्क्रैप में बेचा जा रहा है. इस सूचना पर सक्ति नगर निरीक्षक विवेक शर्मा ने एसडीओपी सक्ति मनीष कंवर को अवगत कराकर उनके मार्गनिर्देशन में 3 टीम बनाकर नगर के 3 स्क्रैप यार्ड जो राजापारा, पुरेनापारा और बागबुढ़वा में संचालित थे, वहां छापा मारकर तलाशी ली. तलाशी में पुलिस को भारी मात्रा में संदिग्ध समान जैसे घरों के कूलर, टीन की शीट्स, लोहे की चादरें, लोहे का सामान, चैनल गेट, आलमीरा और दो ट्रकों में भरा कई टन संदिग्ध सामान और कटर सामान भी बरामद हुआ. जिसके संबंध में मौके पर यार्ड के संचालक, कल्लू मनिहार, मेहमूद खान और गिधेश्वर गबेल ने कोई दस्तावेज मौके पर पेश नहीं किया. इस पर पुलिस ने उक्त संदिग्ध सामानो और ट्रकों को जब्त करके अग्रिम कारवाई की. पुलिस ने बताया की जब्त किए गए कबाड़ की कीमत लाखों में हैं.

सालों बाद हुआ कार्रवाई

सक्ती में दो बड़े कबाड़ कारोबारी तेजी से फल फूल रहे हैं. यहां सूई से लेकर जहाज तक का सौदा हो जाता है. ये कबाड़ी लंबे समय से अपना ये अवैध कारोबार नगर में संचालित कर रहे हैं. राजनीतिक संरक्षण के चलते इन पर सालों से पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. इसी की बदौलत लंबे समय से चोरी का माल भी यहां आसानी से खपाया जाता रहा है. बड़ी मस्त में सरकारी कार्यालय के सामानों को कबाड़ बनाकर यहां ठिकाने लगाया जाता रहा है. छत्तीसगढ़ में सरकार बदलते ही और सक्ती जिले में नई एसपी के आने के बाद अब काबड़ियों के ठिकानों पर पुलिस की रेड देखने को मिली है.