Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

लोकतंत्र की दुहाई देने वाले भूपेश का काला सच - नारायण चंदेल, खुद की पार्टी के कार्यकताओं की आवाज दबाने में भी भूपेश बघेल ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी, भूपेश बघेल को मंच से उन्हें खरीखोटी सुनाने वाले सुरेंद्र दाऊ की मांग पर मिली पुलिस सुरक्षा

 रायपुर रायपुर। वरिष्ठ भाजपा नेता नारायण चंदेल ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को सच नहीं बोलने के लिए एक तरह से भूपेश बघेल ने अघोषित रूप...

Also Read

 रायपुर



रायपुर। वरिष्ठ भाजपा नेता नारायण चंदेल ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को सच नहीं बोलने के लिए एक तरह से भूपेश बघेल ने अघोषित रूप से आपातकाल लागू कर रखा है। राजनांदगांव में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में भूपेश बघेल को उनके सामने ही मंच से कांग्रेस के पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुरेंद्र दाऊ ने उपेक्षा करने का आरोप लगाया था। इसके बाद से सुरेंद्र दाऊ को धमकियां मिलने लगी है। ऐसे में उन्हें पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराई गई है। भाजपा ने कहा लोकतंत्र की दुहाई देने वाले भूपेश बघेल अपनी ही पार्टी में जब तक सत्ता में थे तो उन्होंने कार्यकर्ताओं की उपेक्षा की। आज जब वे अपनी पीड़ा भूपेश बघेल को सुना रहे हैं तो ऐसे में वे उनकी आवाज को दबाने के लिए कार्यकर्ताओं को धमकियां तक दिलवा रहे हैं। 


वरिष्ठ भाजपा नेता नारायण चंदेल ने कहा कि भूपेश बघेल ने अपने 5 साल के कार्यकाल में कार्यकर्ताओं को लेकर चलने के बजाए दलालों और भ्रष्ट अधिकारियों को मोहरा बनाकर प्रदेश की जनता को सरेआम लूटने का काम किया। जिसे छत्तीसगढ़ की जनता के साथ-साथ कार्यकर्ता भी जान चुके हैं। यही कारण है कि भूपेश बघेल जब राजनांदगांव में चुनाव प्रचार के दौरान जनसंपर्क कर रहे हैं तो उन्हें जनता की नाराजगी झेलनी पड़ रही है। 

वरिष्ठ भाजपा नेता नारायण चंदेल ने कहा कि इस बार जनता कांग्रेस को लोकसभा के चुनाव में सबक सिखाएगी। क्योंकि पूरे साल भूपेश सरकार में कांग्रेसियों ने गौठान घोटाला, कोयला घोटाला, चावल घोटाला, डीएमएफ फंड घोटाला, पीएएसी घोटाला सहित अवैध रेती खनन में कई हजार करोड़ के घोटाले किए। इतना ही नहीं भूपेश ने महादेव सट्टा एप के जरिए 500 करोड़ रुपए से अधिक अवैध कमाई की। भूपेश की पूर्ववर्ती सरकार में हुए इन काले कारनामों को लेकर जनता में आक्रोश है। यही वजह है कि कांग्रेस के कार्यकर्ता जब घर-घर जनसंपर्क में निकल रहे है तो उन्हें जनता दुत्कार रही है और अपनी नाराजगी जाहिर कर रही है। यही वजह है कि सुरेंद्र दाऊ जैसे कार्यकर्ता अब भूपेश बघेल के राजनांदगांव से टिकट काटने की बात कर रहे हैं। भाजपा ने कहा,  सुरेंद्र दाऊ का प्रकरण तो एक नमूना है। उनके जैसे अनगिनत कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में भूपेश के प्रति रोष व्याप्त है। यही वजह भी है कि अब तक हजारों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने अब बीजेपी का दामन थाम लिया है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं का ही आरोप है कि भूपेश बघेल पार्टी के अंदर लोकतंत्र की हत्या करने पर तुले हैं। 

वरिष्ठ भाजपा नेता नारायण चंदेल ने कहा कि पूर्व सीएम ने दाऊ का नाम लिए बगैर कहा था कि कांग्रेस में कुछ लोग स्लीपर सेल की तरह काम कर रहे हैं। इससे यह पता चलता है कि कांग्रेस संगठन को भूपेश बघेल ने रसातल में ला दिया है। क्योंकि कांग्रेस में कार्यकर्ताओं की उपेक्षा होती है। जबकि भाजपा में छोटे से छोटे कार्यकर्ता को मान-सम्मान मिलता है