Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

श्री रामकथा सत्संग औऱ 1008 कुंडीय श्री श्री हनुमंत महायज्ञ के आयोजन की तैयारियां जोर जोर से

  भिलाई. असल बात न्यूज़.  भिलाई में  14 फरवरी से होने जा रहे  जगतगुरु रामानंदचार्य स्वामी रामभद्राचार्य के श्री रामकथा सत्संग औऱ  1008 कुंडी...

Also Read







 भिलाई.

असल बात न्यूज़. 

भिलाई में 14 फरवरी से होने जा रहे जगतगुरु रामानंदचार्य स्वामी रामभद्राचार्य के श्री रामकथा सत्संग औऱ 1008 कुंडीय श्री श्री हनुमंत महायज्ञ के भव्य आयोजन  के लिए जोर से तैयारियां हो रही हैं. यह धार्मिक कार्यक्रम यहां जयंती स्टेडियम के समीप  मैदान में होने जा रहा है. राम कथा के लिए विशाल पंडाल बनाया जा रहा है जो कि अब बनने के करीब है. वही 1000 यज्ञ कुंड बना लिया गया है.श्री हनुमंत महायज्ञ के के लिए मुख्य कुंड भी अलग से बनाया जा रहा है. महाराज श्री के निवास के लिए घास फूस की पर्ण कुटी भी बनाई जा रही है.

 औद्योगिक नगर भिलाई एक बार फिर रामभक्ति की लहर में डूबने जा रहा है.राम जन्मभूमि प्रकरण में उच्चतम न्यायालय में भगवान श्री राम और राम जन्मभूमि के संबंध में महत्वपूर्ण तर्क रखने और 441 से अधिक शास्त्र सम्मत प्रमाण प्रस्तुत करने वाले वाले जगद्गुरु रामानंदचार्य स्वामी रामभद्राचार्य 14 फरवरी से यहां श्री राम कथा करेंगे.इस कार्यक्रम में पूरे प्रदेश भर से श्रद्धालुओं के जुटने की संभावना है.इस धार्मिक यात्रा के दौरान दिव्य कलश यात्रा निकलेगी और 1008 कुंडीय श्री श्री हनुमंत महायज्ञ होगा. महायज्ञ में लगभग 5 हजार लोगों के द्वारा आहुति देने की संभावना है.


 पद्म विभूषण जगतगुरु तुलसी पीठाधीश्वर रामानंदाचार्य स्वामी रामभद्राचार्य जी महाराज के आगमन को लेकर श्रद्धालु जन काफी भाव विभोर नजर आ रहे हैं. स्वामी रामभद्राचार्य जी महाराज राम कथा आदि के माध्यम से जन-जन एवं लोक मानस में सनातन चेतना के अलख जला रहे हैं. वे मात्र दो माह की आयु से प्रभु श्री राम जी की कृपा में है. वह 22 से अधिक भाषाओं के ज्ञाता है एवं सर्वशास्त्र ज्ञाता एवं व्याख्याता के रूप में प्रसिद्ध है. उन्हें हरगीरथ शास्त्र वेद पुराण श्रीमद् भागवत गीता श्री रामचरितमानस एवं अनेक ग्रंथ पृष्ठ संख्या एवं शोक क्रमांक सहित कंठस्थ है . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने भी एक कार्यक्रम में उनके बारे में कहा कि गुरुदेव जी के मस्तिष्क पर पूरे विश्व गणित विश्वविद्यालय शुरू कर रहे हैं. स्वामी रामभद्राचार्य ने राम जन्मभूमि प्रकरण में अपनी सर्वोच्च भूमिका का निर्वहन  करते हुए शास्त्र समस्त 441 प्रमाण दिए. उनकी विजेता के चलते उन्हें चलता फिरता एनसाइक्लोपीडिया कहा जाता है.


 यहां श्री राम कथा एवं 108 कुंडीय हनुमंत महायज्ञ में पहले दिन 14 फरवरी को काशी के विद्वान आचार्यों के द्वारा सनातन शास्त्रोक्त विधि विधान से श्री सिद्धि प्रदाता गणेश हनुमंत पूजन का कार्यक्रम संपन्न कराया जाएगा. इस दिन दोपहर 2:15 बजे से गणेश जी मंदिर सेक्टर 5 से दिव्य कलश यात्रा निकलेगी जोकि जयंती स्टेडियम यज्ञ स्थल राम कथा मंच पर पहुंचेगी. 15 फरवरी से 23 फरवरी तक प्रतिदिन 1008 कुंडीय श्री श्री हनुमंत महायज्ञ होगा जो की सुबह 9:00 से प्रारंभ होकर दोपहर 1:00 बजे तक चलेगा. स्वामी रामभद्राचार्य जी महाराज दोपहर 2:30 बजे से संध्या 6:30 बजे तक श्री राम कथा करेंगे.