Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

'आस-पड़ोस युवा संसद' में स्वरूपानंद महाविद्यालय के छात्रों ने जाना, कैसी चलती है संसद की कार्रवाई

भिलाई. असल बात news.    युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत नेहरू युवा केंद्र, दुर्ग एवं राष्ट्रीय सेवा योजना, स्वरूपानंद...

Also Read

भिलाई.

असल बात news.   

युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत नेहरू युवा केंद्र, दुर्ग एवं राष्ट्रीय सेवा योजना, स्वरूपानंद महाविद्यालय के संयुक्त तत्वाधान में जिला-स्तरीय 'आस-पड़ोस युवा संसद' का सफल आयोजन हुआ। इस कार्यक्रम में महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं में जाना कि कैसे चलती है देश की संसद की करवाई.

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए डॉ दीपक शर्मा, मुख्य कार्यकारिणी अधिकारी, ने कहा कि भारत युवाओं का देश है और युवा देश की ताकत है l उन्हें अवश्य जानना चाहिए कि संसदीय कार्य कार्यप्रणाली कैसे चलती है तथा एक विधेयक कैसे पारित होता है, एक सांसद अपनी बात संसद भवन में कैसे रखता है l युवा संसद जैसे आयोजन युवाओं को संसदीय प्रणाली और कार्यप्रणाली से परिचित कराते हैं। उन्होंने राष्ट्रीय सेवा योजना तथा नेहरू युवा केंद्र के इस पहल की प्रशंसा की l

कार्यक्रम में, पक्ष-विपक्ष दोनों पार्टी के युवाओं ने विभिन्न मुद्दों पर बहस और चर्चा की, जैसे, युवाओं ने शिक्षा प्रणाली में सुधार के लिए विभिन्न सुझाव दिए, जैसे कि शिक्षा को अधिक रोजगार-उन्मुख बनाना, डिजिटल शिक्षा को बढ़ावा देना, और शिक्षा में समानता लाना। बेरोजगारी की समस्या का समाधान करने के लिए विभिन्न उपायों पर चर्चा की, जैसे कि कौशल विकास कार्यक्रमों को बढ़ावा देना, उद्यमिता को प्रोत्साहित करना, और रोजगार के अवसरों को बढ़ाना। महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए विभिन्न तरीकों पर चर्चा की, जैसे कि शिक्षा और जागरूकता को बढ़ावा देना, महिलाओं को आर्थिक रूप से स्वतंत्र बनाना, और उनके खिलाफ हिंसा को रोकना।  युवाओं ने पर्यावरण संरक्षण के महत्व पर बल दिया और विभिन्न उपायों पर चर्चा की, जैसे कि प्लास्टिक का उपयोग कम करना, वृक्षारोपण करना, और लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक बनाना।

उन्होंने विभिन्न दृष्टिकोणों को प्रस्तुत किया और अपनी बात को तार्किक तर्कों, आंकड़ों और उदाहरणों के साथ रखा।

श्री विजय बघेल, मुख्य अतिथि, सांसद दुर्ग, लोक सभा क्षेत्र, ने विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत संसदीय कार्यवाही की प्रशंसा करते हुए कहा कि संचार क्रांति के कारण आज संसद की कार्यवाही को लाइव देखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजन युवाओं का व्यक्तित्व विकास करते हैं और उन्हें समाज के प्रति जागरूक बनाते हैं। उन्होंने विद्यार्थियों द्वारा संसदीय वाद- विवाद  कौशल की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे एक डेमो नहीं बल्कि वास्तविक लोकसभा की कार्यवाही देख रहे हैं l 

श्रीमती संयुक्ता पाढ़ी, कार्यक्रम अधिकारी, राष्ट्रीय सेवा योजना ,ने महिला सशक्तिकरण पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि जब नारी को अपने अस्तित्व का मूल्य समझ आता है, तभी वह वास्तव में सशक्त होती है।उन्होंने एक अनपढ़, ग्रामीण महिला की कहानी सुनाई जो अपने परिवार और समाज के लिए प्रेरणा बन गई। जिसने पहले तो परिवार के दबाव में आकर अपनी तीन दिन की बच्ची को जान से मारने की कोशिश की परंतु बाद में वह उसे बचाने के लिए समाज से लड़ गई l

डॉ हंसा शुक्ला, महाविद्यालय प्राचार्य, ने राष्ट्रीय सेवा योजना तथा नेहरू युवा केंद्र को बधाई दी और कहा कि ऐसे कार्यक्रम युवाओं के व्यक्तित्व निर्माण संचार कौशल , विचार विमर्श, वाद-विवाद, समाज सेवा इत्यादि क्षेत्र में एक नई परिपाटी तय करते हैं l 

तत्पश्चात, युवा संसद की कार्यवाही शुरू हुई जिसमें पक्ष और विपक्ष दोनों पार्टी के बीच जोरदार बहस हुई। कार्यक्रम के अंत में पांच उत्कृष्ट प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। विजेता प्रतिभागियों में श्री हितेश कुमार सोनवानी सहायक प्राध्यापक अंग्रेजी, स्वरूपानंद महाविद्यालय को भी पुरस्कृत किया गया l 

जिला स्तरीय इस प्रतियोगिता में दुर्ग जिले के विभिन्न महाविद्यालयों से अनेक प्रतियोगिओं ने भाग लिया l  कार्यक्रम को सफल बनाने में नेहरू युवा केंद्र दुर्ग के कार्यकर्ता, श्रीमती कामिनी वर्मा, सहायक अध्यापक गणित, राष्ट्रीय सेवा योजना के समस्त स्वयंसेवक, तथा महाविद्यालय के चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों का विशेष योगदान रहा.