Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

कलेक्टर ने समय-सीमा की साप्ताहिक बैठक में दिए अधिकारियों को निर्देश

  उत्तर बस्तर कांकेर,  कलेक्टर  अभिजीत सिंह ने आज साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक लेकर विभिन्न विभागों में लंबित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए निर...

Also Read

 


उत्तर बस्तर कांकेर, कलेक्टर  अभिजीत सिंह ने आज साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक लेकर विभिन्न विभागों में लंबित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए निर्धारित समय में निराकरण के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्राप्त प्रकरण पूर्ण रूप से निराकृत तभी माना जाएगा, जब तक कि उसका वास्तविक निराकरण न हो जाए। कलेक्टर ने विभागवार लंबित प्रकरण की समीक्षा करते हुए समय-सीमा में निबटारा करने के लिए जिला स्तर के अधिकारियों को निर्देश दिए। कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आज सुबह 10.30 बजे से आयोजित बैठक में कलेक्टर ने जिले में धान खरीदी और रकबा समर्पण की जानकारी लेते हुए निर्देशित किया कि ऐसे किसान जो स्वयं के रकबे में उत्पादित धान बेच चुके हैं, उनका रकबा समर्पण के लिए समिति प्रबंधकों को तत्काल निर्देशित करें। उन्होंने सभी राजस्व अधिकारियों को भी इस पर निगाह रखने और पटवारियों से संबंधित जानकारी मंगाने के निर्देश दिए। खाद्य अधिकारी ने बताया कि रकबा समर्पण के मामले में जिले के 30 हजार 852 किसानों के द्वारा 11 हजार 577 हेक्टेयर रकबे का समर्पण किया जा चुका है, जो पूरे राज्य में प्रथम है। इसी तरह प्रदेश सरकार द्वारा खरीफ वर्ष 2014-15 एवं 2015-16 की प्रोत्साहन राशि के लंबित भुगतान की जानकारी कलेक्टर ने ली। इस पर खाद्य अधिकारी ने बताया कि वर्ष 2014-15 में 42 हजार 807 किसानों को 54.61 करोड़ रूपये की राशि प्रदान की जानी थी, जिनमें से 36 हजार 985 किसानों को 46.96 करोड़ रूपये की राशि प्रदाय की गई है, जबकि 5 हजार 822 किसानों को 7 करोड़ 65 लाख रूपये की राशि का भुगतान शेष है। इसी तरह खरीफ विपणन वर्ष 2015-16 में 33 हजार 748 किसानों को  39.97 करोड़ रूपये की राशि का भुगतान किया जाना था, जिसमें से 29 हजार 706 किसानों को 35.03 करोड़ रूपये उनके बैंक खातों में अंतरित किये जा चुके हैं, जबकि 4 हजार 42 किसानों को 4 करोड़ 94 लाख रूपये की राशि का भुगतान किया जाना शेष है।



    बैठक में कलेक्टर ने जिला अस्पताल एवं  अधीनस्थ स्वास्थ्य केन्द्रों में आवश्यक दवाओं की उपलब्धता हर हाल में सुनिश्चित करने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए। इसी तरह उन्होंने पिछली समय-सीमा की बैठक में लंबित प्रकरणों पर हुई कार्यवाही की जानकारी विभागवार ली। इस दौरान वन विभाग, राष्ट्रीय राजमार्ग, खनिज, लोक निर्माण विभाग, स्वास्थ्य, विद्युत, स्कूल शिक्षा, नगरीय निकाय, आदिवासी विकास विभाग सहित विभिन्न विभागों में लंबित मामलों की प्रकरणवार जानकारी ली और उनका गुणवत्तापूर्वक निराकरण के निर्देश सभी अधिकारियों को दिए। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री एस. अहिरवार, श्री बीएस उईके, जिला पंचायत के सी.ई.ओ. श्री सुमित अग्रवाल, सहायक कलेक्टर श्री प्रखर चंद्राकर सहित सभी अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी व जिला स्तर के विभागीय अधिकारी बैठक में मौजूद रहे।