Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

कबीरधाम पुलिस की पहल, शिक्षा से वंचित 300 विद्यार्थियों को भरवाया ओपन परीक्षा का फार्म, पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव ने शिक्षा से वंचित सुदूर वनांचल क्षेत्र के विद्यार्थियों को शिक्षा से जोड़ने और शिक्षित करने का उठाया बीड़ा

 कवर्धा कवर्धा। शिक्षा सभी नागरिकों का मौलिक अधिकार है, आज भी सुदूर वनांचल क्षेत्र में जागरुकता की कमी और आर्थिक अभाव में नागरिक, विद्यार्...

Also Read

 कवर्धा



कवर्धा। शिक्षा सभी नागरिकों का मौलिक अधिकार है, आज भी सुदूर वनांचल क्षेत्र में जागरुकता की कमी और आर्थिक अभाव में नागरिक, विद्यार्थी शिक्षा से वंचित रह जाते हैं। शिक्षा से वंचित सुदूर वनांचल क्षेत्र के विद्यार्थियों को शिक्षा से जोड़ने और बच्चों को शिक्षित करने का बीड़ा कबीरधाम पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव ने उठाया है। पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव सुदूर वनांचल क्षेत्र में पहुंचकर पढ़ाई छोड़ चुके, शिक्षा से वंचित बच्चों, नागरिकों को शिक्षा देने के लिए जागरुक कर रहे है। साथ ही कबीरधाम पुलिस द्वारा बच्चों को कोंचिग के माध्यम से निःशुल्क शिक्षा भी दे रहे हैं, इसके साथ ही बच्चों को पाठ्य सामग्री भी उपलब्ध करा रहे है। 

पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि कबीरधाम जिले के आंतरिक नक्सल प्रभावित गांवों के 300 से अधिक युवा, जो स्कूल छोड़ चुके हैं। उन्हें कबीरधाम पुलिस द्वारा आगामी दसवीं, बारहवीं ओपन स्कूल परीक्षा के लिए प्रेरित किया गया और उनका नामांकन कराया गया। कबीरधाम पुलिस द्वारा विद्यार्थियों को परीक्षा के दौरान कठिनाईयों का सामना करना ना पड़े इसके लिए घर से परीक्षा केन्द्र तक पहुंचने के लिए निःशुल्क वाहन की भी व्यवस्था किया गया। 


सामुदायिक पुलिसिंग से फैल रहा शिक्षा का उजियारा, 350 से अधिक विद्यार्थी परीक्षा पास करने में सफल


पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि कबीरधाम पुलिस ने अति नक्सल प्रभावित गांवों के शिक्षा से वंचित युवाओं को जोड़कर मिशाल पेश की है। सामुदायिक पुलिसिंग एवं जन विश्वास योजना को मूर्त रूप देते हुए क्षेत्र के कई बच्चों पाचवीं, दसवीं पास करने के बाद पांच-छह साल तक पढ़ाई छोड़ने वाले बच्चों के लिए कोचिंग की व्यवस्था कबीरधाम पुलिस ने की। ऐसे बच्चों के लिए किताब, पेन आदि उपलब्ध कराकर ओपन परीक्षा में बैठाया जा रहा है। वर्ष 2018 से 2023 तक 350 से अधिक विद्यार्थी दसवीं और बारहवीं की परीक्षा पास करने में सफल हुए। इस तरह सामुदायिक पुलिसिंग से शिक्षा का उजियारा फैल रह है। 


गांव से परीक्षा केन्द्र तक निःशुल्क वाहन की व्यवस्था


एसपी ने बताया कि परीक्षार्थियों के गांव से परीक्षा केन्द्र तक पहुंचाने के लिए निःशुल्क व्यवस्था किया जाएगा, जिससे परीक्षार्थी अपने परीक्षा केन्द्र पहुंचकर आसानी से ही परीक्षा दिलाए। पुलिस के जवानो ने उनके गांव में ही पहुंचकर परीक्षार्थियों को निःशुल्क पुस्तक वितरण किया गया है। 



पुलिस द्वारा गांव में ही कोचिंग के माध्यम से दे रहे निःशुल्क शिक्षा


पुलिस अधीक्षक डॉ. पल्लव ने बताया कि कबीरधाम पुलिस द्वारा वर्ष 2023-24 में 300 बच्चों को कक्षा 10वीं व 12वीं का ओपन परीक्षा का फॉर्म भरावाया गया हैं। उन्होंने बताया कि अधिक दूरी होने के कारण स्कूल या कोचिंग सेंटर तक पहुंचने में असमर्थ विद्यार्थियों के लिए कबीरधाम पुलिस द्वारा वनांचल के शिक्षित युवाओं के माध्यम से ही नक्सल प्रभावित गांवों के विद्यार्थियों को कोचिंग के माध्यम से शिक्षा दिलाई जा रही है। 


सैकड़ों विद्यार्थियों ने ओपन परीक्षा पास कर शासकीय सेवा, स्वरोजग़ार व कॉलेज की कर रहे है पढ़ाई


उल्लेखनीय है कि पुलिस द्वारा वनांचल के शाला त्यागी लगभग 300 बच्चे ओपन परीक्षा दिला रहे है। पूर्व सालों में भी 350 से अधिक विद्यार्थियों ने ओपन परीक्षा पास करके कुछ शासकीय सेवा में व कुछ स्वरोजग़ार व कॉलेज की पढ़ाई कर रहें हैं