Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

मध्य प्रदेश के मनोनीत मुख्यमंत्री मोहन यादव ने मुख्यमंत्री पद की ली शपथ ग्रहण

  भोपाल।  मध्य प्रदेश के मनोनीत मुख्यमंत्री मोहन यादव ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण कर ली। उनके शपथ ग्रहण के बाद डिप्टी सीएम जगदीश देवड़ा...

Also Read

 भोपाल। मध्य प्रदेश के मनोनीत मुख्यमंत्री मोहन यादव ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण कर ली। उनके शपथ ग्रहण के बाद डिप्टी सीएम जगदीश देवड़ा और राजेंद्र शुक्ला ने शपथ ली। राजधानी भोपाल के मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में राज्यपाल मंगू भाई पटेल उन्हें शपथ शपथ दिलाई। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, नितिन गडकरी, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, महाराष्ट्र सीएम एकनाथ शिंदे, ज्योतिरादित्य सिंधिया, नरेन्द्र सिंह तोमर, जे पी नड्डा, शिवराज सिंह चौहान समेत तमाम दिग्गज मौजूद रहे। हालांकि इस दौरान अन्य किसी मंत्री ने शपथ नहीं ली है।   

कौन हैं जगदीश देवड़ा ? 

जगदीश देवड़ा का जन्म 1957 में मंदसौर जिले के रामपुरा गांव में हुआ। जगदीश देवड़ा 1990 में पहली बार विधानसभा सदस्य निर्वाचित हुए। इसके बाद 1993 में दूसरी बार विधानसभा सदस्य बने। देवड़ा अनुसूचित जाति जनजातियों पिछड़ा वर्ग विशेष सभा समिति के सदस्य रहे। देवड़ा तीसरी बार 2003 में सुवासरा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक निर्वाचित हुए और 28 जून 2004 को उमा भारती मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री के रूप में शामिल किए गए। इसके बाद देवड़ा को 2004 में बाबूलाल गौर के मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री के रूप में शामिल किया गया। इसके बाद 4 दिसंबर 2005 को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल में भी मंत्री के रूप में शामिल किया गया। जगदीश देवड़ा 2008 में भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल में शामिल हुए थे और एक बार फिर उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है।



जगदीश देवड़ा (कैबिनेट)- जगदीश देवड़ा का जन्म 1957 में मंदसौर जिले के रामपुरा गांव में हुआ। जगदीश देवड़ा 1990 में पहली बार विधानसभा सदस्य निर्वाचित हुए। इसके बाद 1993 में दूसरी बार विधानसभा सदस्य बने। देवड़ा अनुसूचित जाति जनजातियों पिछड़ा वर्ग विशेष सभा समिति के सदस्य रहे। देवड़ा तीसरी बार 2003 में सुवासरा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक निर्वाचित हुए और 28 जून 2004 को उमा भारती मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री के रूप में शामिल किए गए। इसके बाद देवड़ा को 2004 में बाबूलाल गौर के मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री के रूप में शामिल किया गया। इसके बाद 4 दिसंबर 2005 को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल में भी मंत्री के रूप में शामिल किया गया। जगदीश देवड़ा 2008 में भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल में शामिल हुए थे और एक बार फिर उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। 

शिक्षा और परिवार 

जगदीश देवड़ा ने अर्थशास्त्र में मास्टर ऑफ आर्ट्स (एम.ए.) पूरा किया है। उन्होंने 1979 में विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपनी पढ़ाई पूरी की। जगदीश देवड़ा ने एम.ए. और एल-एल.बी की डिग्री हासिल की है। 

उनके पिता का नाम गेंदालाल देवड़ा है। उनकी पत्नी का नाम रेणु देवड़ा है। उनके दो पुत्र हैं। जगदीश देवड़ा मल्हारगढ़ निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव जीते हैं। उन्होंने विधानसभा चुनाव 2023 में मल्हारगढ़ निर्वाचन क्षेत्र से 59,024 वोटों से जीत हासिल की। उन्होंने निर्दलीय उम्मीदवार श्यामलाल जोकचंद को हराया है।


मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध राजनेता राजेंद्र शुक्ला का जन्म रीवा में 1964 को हुआ था। उनके पिता श्री भाईलाल शुक्ला एक ठेकेदार हैं। उन्होंने सरकारी स्कूल से अध्ययन किया और सिविल इंजीनियरिंग में स्नातक की उपाधि प्राप्त की. उनके अंदर नेतृत्व करने की प्रतिभा युवावस्था से थी, वह 1986 में सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज छात्र संघ के अध्यक्ष बन गए। फिर उन्होंने 2003 में विधानसभा चुनाव में चुनाव लड़कर राजनीति में सक्रिय रूप से शामिल हो गए। राजेन्द्र शुक्ल साल 2008 और 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में एक बार फिर विधान सभा सदस्य निर्वाचित हुए। एक विधायक के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने वानिकी, जैव विविधता / जैव प्रौद्योगिकी, खनिज संसाधन और कानून और विधायी मामलों सहित विभिन्न मंत्रालयों के अधीन कार्य किया। उन्होंने शिवराज सिंह चौहान सरकार के तहत 2013 में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली



सियासी सफर

राजेंद्र शुक्ला ने 1998 के विधानसभा चुनाव में चुनाव लड़कर राजनीति में अपनी जगह बनाई। हालांकि इस चुनाव में वह कांग्रेस उम्मीदवार पुष्पराज सिंह से 1394 वोटों के करीबी अंतर से हार गए थे। साल 2003 में पुष्पराज सिंह को हराकर पहली बार विधानसभा के लिए चुने गए। 

उन्होंने 2008 और 2013 के मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में फिर से अपनी जीत दोहराई। एक विधायक के रूप में अपने कार्यकाल में, उन्होंने वानिकी, जैव विविधता/जैव प्रौद्योगिकी, खनिज संसाधन और कानून और विधायी मामलों सहित विभिन्न मंत्रालयों के अंतर्गत कार्य किया। उन्होंने 2023 में शिवराज सिंह चौहान सरकार के तहत कैबिनेट मंत्री के रूप में भी कार्यभार संभाला । 

2018 में उनके खिलाफ सत्ता विरोधी लहर के बजाय, उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार अभय मिश्रा के खिलाफ 18,089 वोटों के अंतर से जीत हासिल की। उन्होंने 26 अगस्त, 2023 को शिवराज सिंह चौहान सरकार के तहत विधानसभा चुनाव 2023 से ठीक पहले कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। 

किन-किन पदों पर रहे

1986 वह रीवा इंजीनियरिंग कॉलेज के अध्यक्ष के रूप में चुने गए थे। 1992 में उन्होंने 1992 के युवा सम्मेलन का आयोजन करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 2003 राजेंद्र शुक्ला पहली बार मध्य प्रदेश विधानसभा के लिए चुने गए। उन्हें आवास और पर्यावरण के लिए राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में मंत्रिपरिषद में शामिल किया गया था। 2008 उन्हें रीवा निर्वाचन क्षेत्र से दूसरी बार मध्य प्रदेश विधानसभा में चुना गया था। वह मध्य प्रदेश राज्य सरकार में ऊर्जा और खनिज संसाधन मंत्री बने। 2013 वह मध्य प्रदेश की 14 वीं विधानसभा के लिए चुने गए। उन्होंने उद्योग नीति और निवेश संवर्धन पर कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। मध्य प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम के अध्यक्ष चुने गए।