Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

स्वरूपानंद महाविद्यालय के रेडरिबन क्लब एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के संयुक्त तत्वावधान में एड्स दिवस पर विविध एचआईवी एड्स जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

  भिलाई। असल बात न्यूज़।।    स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के रेड क्रॉस सोसाइटी, रेड रिबन क्लब एवं एनएनएस के संयुक्त तत्वावधान ...

Also Read

 भिलाई।

असल बात न्यूज़।।   

स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय के रेड क्रॉस सोसाइटी, रेड रिबन क्लब एवं एनएनएस के संयुक्त तत्वावधान में विश्व एड्स दिवस पर रंगोली, पोस्टर एवं चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने उतसाह पूर्वक भाग लेकर अपनी सहभागिता दर्ज कराई।

कार्यक्रम के संबंध में एनएसएस नोडल ऑफिसर संयुक्ता पाढी़ एवं डॉ. पूनम शुक्ला ने बताया कि एड्स की जानकारी ही बचाव का सबसे अच्छा उपाय है, अनेक दवाईयों के होते हुए भी एड्स की भयावहता को कम नहीं किया जा सकता है। एड्स रोग के कारण व बचाव के उपाय बताने के उद्धेश्य से कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए स. प्रा. हितेश सोनवानी, अंग्रेजी तथा स. प्रा. डॉ. मंजू कनौजिया, शिक्षा विभाग  ने बताया कि इस साल वर्ल्ड एड्स डे की थीम लेट कम्यूनिटीज लीड है। एड्स  की रोकथाम में समाज की अहम भूमिका के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए, इस थीम को चुना गया है। साथ ही, अब तक, एड्स के बचाव में समाज ने जो महत्वपूर्ण योगदान दिए हैं, उनकी सराहना करने के लिए भी इस थीम को चुना गया है। एड्स या एचआईवी के बारे में समाज में मौजूद गलत अवधारणा के कारण, इसकी रोकथाम करना काफी मुश्किल होता है। समाज में नीची नजरों से देखे जाने की वजह से, लोग खुलकर इस बीमारी के बारे में बात नहीं करते और इससे बचाव नहीं हो पाता है। इस स्थिति को बदलने के लिए लेट कम्यूनिटटीज लीड का थीम चुना गया l 

महाविद्यालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. दीपक शर्मा, ने एड्स जैसी गंभीर समस्या के लिये जागरूकता उत्पन्न करने के लिए रेड क्रॉस सोसाइटी, एनएसएस व् रेडरिबन की सराहना की l महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने छात्रों को एड्स जागरूकता की शपथ दिलाई तथा उससे जुड़े सभी प्रकार के पूर्वाग्रहों को रोकने का संदेश भी दिया ताकि इस बीमारी से पीड़ित रोगी को बहिष्कृत महसूस ना हो, बल्कि एक सम्मानित सदस्य के रूप में समझा जाए l महाविद्यालय की उप्राचार्य डॉ. अज़रा हुसैन ने कहा जन जागरूकता बढ़ाना ही इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य है। 

निर्णायक के रूप में श्री मुरली मनोहर तिवारी, क्रीड़ा अधिकारी, डॉ. शमा ए बेग, विभागाध्यक्ष माइक्रोबायोलॉजी श्रीमती जया तिवारी, विभागाध्यक्ष वनस्पत्ति उपस्थित हुए। रंगोली प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर भावेश, द्वितीय-रितीशा व हेमा, तृतीय -समीक्षा एवं यशस्वी, बीएड प्रथम सेमेस्टर को मिला। पोस्टर प्रतियोगिता में प्रथम - समीक्षा जांगड़े, द्वितीय- एकता जैन एवं तृतीय -प्रीति अग्रवाल, बीएड प्रथम सेमेस्टर रही। निबंध प्रतियोगिता ने प्रथम -खेमलाल द्वितीय -ऐश्वर्या एवं तृतीय- संदीप साहू, बीएड प्रथम सेमेस्टर को दिया  

इस अवसर पर  राष्ट्रीय सेवा योजना रेड रिबन क्लब एवं रेड क्रॉस सोसाइटी के संयुक्त तत्वाधान में महाविद्यालय परिसर में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं  के मध्य एड्स के प्रति जागरूकता /रक्तदान के प्रति जागरूकता विषय पर  पोस्टर, रंगोली एवं निबंध प्रतियोगिता हुई जिसमें विद्यार्थियों ने बढ़ - चढ़ कर भाग लिया l छात्रों द्वारा मानव श्रृंखला निर्माण व रैली निकालकर रक्तदान के संबंध में फैली भ्रांतियों से अवगत कराया तथा रक्तदान के फायदे एवं रक्तदान करने के लिए जागरूक किया गया। मुखाकृति निर्माण में बच्चों द्वारा बहुत ही रचनात्मक तरीके से लोगों को एचआईवी एड्स के संबंध में फैली भ्रांतियों से अवगत कराया, रक्तदान के फायदे एवं रक्तदान करने के लिए जागरूक किया।

विश्व एड्स दिवस के उपलक्ष्य में सभी संकायों के छात्रों ने समाज में जागरूकता फैलाने के उद्धेश्य से विभिन्न वर्ग के लोगों को रेडरिबन तथा एनएसएस का प्रतिक चिन्ह लगाया व विद्यार्थियों ने समस्त प्राध्यापकों को बैच लगाया।

कार्यक्रम का संचालन डॉ. पूनम शुक्ला एवं श्रीमती उषा साहू स. प्रा. शिक्षा विभाग द्वारा किया गया।