Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

साय केबिनेट की बैठक के बाद कांग्रेस का बीजेपी पर हमला: कहा- धान खरीदी

  रायपुर. छत्तीसगढ़ में भाजपा सरकार के गठन के बाद मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय की अध्यक्षता में पहली कैबिनेट बैठक हुई. मुख्यमंत्री विष्णुदेव सा...

Also Read

 रायपुर. छत्तीसगढ़ में भाजपा सरकार के गठन के बाद मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय की अध्यक्षता में पहली कैबिनेट बैठक हुई. मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने 25 दिसंबर को अटल बिहारी बाजपेई के जन्मदिन यानी सुशासन दिवस पर धान का बकाया बोनस देने का ऐलान किया. इसके साथ ही कांग्रेस सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की समीक्षा करने के बाद फैसला लेने की बात कही. विष्णुदेव सरकार की पहली ही केबिनेट की बैठक में लिए गए निर्णयों के बाद कांग्रेस ने बीजेपी पर जनता से वादाखिलाफी का आरोप लगाया है.प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने पत्रकार वार्ता में कहा कि राज्य में धान खरीदी शुरू है, भाजपा ने वायदा किया था प्रति एकड़ 21 क्विंटल 3100 रू. के भाव में धान की खरीदी करेंगे, साथ ही भाजपा ने वायदा किया था धान खरीदी केन्द्रों में, गांव में ही एकमुश्त नगद भुगतान किया जायेगा लेकिन केबिनेट की बैठक में इस संबंध में कोई निर्णय नहीं लिया गया. यह ऐसा विषय है जिसमें तुरंत निर्णय लेने की आवश्यकता है. जब धान खरीदी केंद्रों में 21 क्विंटल के आधार पर निर्णय नहीं पहुंचेगा. 3100 के मूल्य तथा नगद भुगतान की व्यवस्था नहीं होगी तो किसानों के इस वायदे का क्या होगा?



किसानों के कर्जामाफ पर नहीं हुआ कोई फैसला

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा के उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा सहित भाजपा नेताओं ने किसानों का 2 लाख तक कर्जामाफ का वायदा भी किया था. इस संबंध में विजय शर्मा का प्रचार का अनेक वीडियों सोशल मीडिया में भी वायरल है, जिसमें वे 2 लाख तक कर्ज माफी करने का वायदा कर रहे है. केबिनेट में उसके बारे में भी कोई फैसला नहीं हुआ, किसानों से लिकिंग में कर्जा वसूली शुरू है. कर्ज माफी पर तुरंत आदेश की जरूरत है ताकि किसानों से वसूली बंद हो.

महतारी वंदन और 500 रू. सिलेंडर पर भी नहीं हुआ विचार

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा ने चुनाव में 70 लाख से अधिक माताओं-बहनों से फार्म भरवा कर सरकार बनते ही 1000 रू. प्रति माह, साल में 12000 रू. महतारी वंदन के तहत देने का वायदा किया था लेकिन केबिनेट में इस पर भी निर्णय नहीं हुआ. साथ ही 500 रू. सिलेंडर पर भी केबिनेट में विचार नहीं हुआ.

पहली ही बैठक बीजेपी नें वायदाखिलाफी के लिये जमीन तैयार करना किया शुरू

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि पहली ही बैठक में भाजपा की सरकार ने वायदाखिलाफी के लिये जमीन तैयार करना शुरू कर दिया है. चुनाव के पहले सरकार बनते ही मोदी की गारंटी लागू करने का वायदा किया था, अब कह रहे पांच साल में गारंटी लागू करेंगे. कोई सरकार 24 घंटे में ही अपने वायदे से मुकर जायेगी इसका बड़ा उदाहरण भाजपा की सरकार ने पेश किया.