Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

विधानसभा क्षेत्र 71-पंडरिया और 72-कवर्धा के लिए मतगणना हॉल में अतिरिक्त टेबल लगाने की मिली अनुमति, मतगणना के लिए कवर्धा एवं पंडरिया विधानसभा के मतगणना हॉल में 21-21 टेबल लगाएं जाएंगे, डाक मतपत्र के लिए कवर्धा विस में 04 और पंडरिया विस में 03 कुल 07 टेबल लगाएं जाएंगे

 कवर्धा दोनो विधानसभा क्षेत्र के लिए सीयू द्वारा मतगणना के लिए 07-07 अतिरिक्त और डाकमत पत्र की गणना के लिए विधानसभा पंडरिया के लिए 01 और विध...

Also Read

 कवर्धा


दोनो विधानसभा क्षेत्र के लिए सीयू द्वारा मतगणना के लिए 07-07 अतिरिक्त और डाकमत पत्र की गणना के लिए विधानसभा पंडरिया के लिए 01 और विधानसभा कवर्धा के लिए 02 अतिरिक्त टेबल लगाएं जाएंगे   

      कवर्धा, भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विधानसभा निर्वाचन 2023 के तहत विधानसभा क्षेत्र 71-पंडरिया और विधानसभा क्षेत्र 72-कवर्धा के लिए मतगणना हॉल में अतिरिक्त टेबल लगाने की अनुमति प्रदान कर दी है। इस बार मतगणना के लिए कवर्धा एवं पंडरिया विधानसभा के मतगणना हॉल में 21-21 टेबल और डाक मतपत्र के लिए कवर्धा विस में 04 और पंडरिया विस में 03 कुल 07 टेबल लगाएं जाएंगे। जिले में मतदान केन्द्रों की अधिक संख्या होने के कारण समय अवधि में मतगणना की कार्यवाही पूर्ण करने के लिए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जनमेजय महोबे द्वारा सीयू के लिए अतिरिक्त 7-7 टेबल तथा डाक मतपत्र की गणना के लिए अतिरिक्त टेबल बढ़ाने का प्रस्ताव भारत निर्वाचन आयोग को भेजा गया था। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा सीयू द्वारा मतों की गणना के लिए दोनो विधानसभा में 07-07 टेबल बढ़ाने और डाक मतपत्र गणना के लिए विधानसभा पंडरिया के लिए 01 टेबल और कवर्धा के लिए 02 इस तरह से डाक मतपत्र के लिए कुल 03 टेबल बढ़ाने की अनुमति दी गई है।  

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री जनमेजय महोबे ने बताया कि मतगणना दिवस के दिन आयोग के निर्देशानुसार स्ट्रांग रूम की सील को अभ्यार्थियों या उनके द्वारा अधिकृत प्रतिनिधियों, रिटर्निंग अधिकारियां की उपस्थिति में खोला जाएगा। इस पूरे प्रक्रिया की वीडियो ग्राफी भी किया जाएगा। इसके स्ट्रांग रूम से मतगणना कक्ष तक ईव्हीएम मशीन को लाने और मशीन को गणना के बाद जमा करने की प्रकिया की पूरी वीडियो ग्राफी भी कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि आयोग के निर्देशानुसार मतगणना स्थल पर आधार भूत संरचना के साथ-साथ सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किया जा रहा है। कवर्धा एवं पंडरिया विधानसभा क्षेत्र के स्ट्रांग रूम की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की जा रही है। परिसर में आने-जाने वाले सभी अधिकारी-कर्मचारियों का रिकार्ड रखा जा रहा है। साथ ही पूरे परिसर की सीसीटीवी से निगरानी रखी जा रही है।  


दोनो विधानसभा के लिए 21-21 मतगणना दल का गठन, 05-05 दल रिजर्व 


विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 71-पंडरिया और 72-कवर्धा के लिए विधानसभावार मतगणना के लिए 21-21 टेबल लगाने की तैयारी की जा रही है। प्रत्येक टेबल के लिए एक मतगणना दल गठन किया गया है तथा पांच-पांच मतगणना दल रिवर्ज रखा गया है। इस प्रकार कुल 26-26 मतगणना दल का गठन किया गया है। प्रत्येक मतगणना टेबल के लिए एक गणना पर्यवेक्षक, एक गणना सहायक और इसके अतिरिक्त एक और माईक्रो ऑबर्जवर नियुक्त किया गया है। सात टेबल के लिए एक मतगणना सहायक रिटर्निंग अधिकारी नियुक्ति किया गया है। इस प्रकार कवर्धा विधानसभा के मतगणना के लिए 03 सहायक मतगणना रिटर्निंग अधिकारी और पंडरिया विधानसभा के मतगणना के लिए 03 सहायक मतगणना रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त किया गया है।    

दोनो विधानसभा के मतगणना के लिए स्ट्रांग रूम से मतगणना हॉल तक ईवीएम मशीन को प्रत्येक टेबल तक लाने के लिए 01-01 चतुर्थ कर्मचारी की नियुक्ति की गई है तथा 04-04 कर्मचारी रिर्जव रखें गए है। इस प्रकार कुल 25-25 कर्मचारी की नियुक्ति की गई है। इन प्रत्येक 07 टेबल की निगरानी के लिए एक अधिकारी को लगाया गया है। इस प्रकार दोनो विधानसभा के लिए 03-03 अधिकारी नियुक्ति किए गए है।  


डाक मतपत्र की गणना के लिए लगेंगे 07 टेबल, पंडरिया के लिए 03 और कवर्धा के लिए 04 टेबल 

डाक मतपत्र की गणना के लिए विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 71-पंडरिया और विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 72-कवर्धा के लिए 07 टेबल लगाएं जाएंगे। विधानसभा पंडरिया के लिए 03 और विधानसभा कवर्धा के लिए 04 टेबल होंगें। इन टेबलों के लिए मतगणना दल गठित कर दी गई है और प्रशिक्षण भी दिया गया है। इसके साथ ही 01-01 दल रिजर्व रखा गया है। एक टेबल के लिए 01 डाक मतपत्र गणना पर्यवेक्षक, 02 गणना सहायक और इसके अतिरिक्त एक माइक्रो ऑब्जर्वर होंगे। प्रत्येक टेबल में एक अतिरिक्त सहायक रिटर्निंग ऑफिसर (डाक मतपत्र) की नियुक्ति की गई है। उनके द्वारा डाक मतपत्र गणना एवं पूरी कार्यवाही की मॉनिटरिंग की जाएगी