Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

छत्तीसगढ़ की धार्मिक नगरी दुर्ग में निकाली गयी सबसे बड़ी निशान यात्रा

 दुर्ग दुर्ग । छत्तीसगढ़ की धार्मिक नगरी दुर्ग में पहली बार 16 दिसंबर 2023 को प्रदेश की सबसे बड़ी निशान यात्रा निकाली गयी जिसमें 1100 श्याम प्...

Also Read

 दुर्ग


दुर्ग । छत्तीसगढ़ की धार्मिक नगरी दुर्ग में पहली बार 16 दिसंबर 2023 को प्रदेश की सबसे बड़ी निशान यात्रा निकाली गयी जिसमें 1100 श्याम प्रेमियों ने निशान उठाया। दुर्ग में निशान यात्रा को लेकर उत्साह देखने को मिला। निशान यात्रा श्री सत्तीचौरा मां दुर्गा मंदिर गंजपारा से कादम्बरी नगर स्थित श्री श्याम मंदिर तक निकाली गई। निशान यात्रा के पहले दुर्गा मंदिर में बाबा श्याम की ज्योत ली गयी, एवं पूजा अर्चना करके श्याम बाबा की महाआरती की गयी, तथा पुष्पांजलि कराई गयी।आयोजन समिति के योगेन्द्र शर्मा बटी ने बताया कि निशान यात्रा में बड़ी संख्या में श्रद्घालु श्याम ध्वज लेकर शामिल हुए और पदयात्रा की। नगर में भाव विभोर होकर लोगों ने पदयात्रियों का स्वागत किया। इस दौरान निशान यात्रा में बाबा की झलक पाने के लिए राहगीर भी लालायित हो रहे थे। श्री श्याम मंदिर में निशान चढ़ाते हुए भक्तों ने श्याम बाबा के दर्शन किए

दुर्ग में पहली बार 1100 धर्मप्रेमियों की निशान यात्रा को देखने एवं फूलों की वर्षा करने अलग अलग स्थानों में धर्मप्रेमी जमा हुए, इस निशान यात्रा में नगर की सैकड़ों महिलाओं सहित युवा श्रद्धालु लाल, पीले ध्वज निशान लेकर भक्तगण श्याम गुणगान करते हुए शामिल हुए। साथ ही श्री श्याम जी की आकर्षक झांकी भी निशान यात्रा में निकाली गई। जिसमें श्री गणेश, शंकर जी, माता जी, बजरंग बली की लगभग 10 फिट से बड़ी झांकी थी,

पद यात्रा कर निशान चढ़ाने को लेकर मान्यता यह रही है कि श्री श्याम बाबा के महाबलिदान शीश दान के लिए उन्हें निशान चढ़ाया जाता है। यह उनकी विजय का प्रतीक है, जिसमें उन्होंने धर्म की जीत के लिए दान में अपना शीश ही भगवान श्री कृष्ण को दे दिया था। जिन्हें प्रसन्ना करने निशान छोटे से बड़े मुख्यत केसरी नीला , सफेद ,लाल या पीले रंग का झंडा निशानों पर श्याम बाबा और कृष्ण भगवान के जयकारे और दर्शन के फोटो लगाते है। वही कुछ निशानों पर नारियल और मोरपंख भी लगाया जाता है। जिससे श्याम सरकार सभी के हर बिगड़े कार्य बना देते है व भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं। इसलिए सभी भक्त श्याम मंदिरों में अपनी मन्नाते मांगते हुए निशान चढ़ाते हैं।

सत्तीचौरा दुर्गा मंदिर से निशान लेकर जब श्याम प्रेमी निकले तब पूरे रास्ते मे श्याम बाबा की जय, हारे का सहारा श्याम हमारा की गूंज पूरे शहर में रही, जगह जगह निशान यात्रा का स्वागत किया गया, आतिशबाजी की गई..


बंटी शर्मा ने बताया कि लगभग 1100 धर्मप्रेमियों की निशान यात्रा जोकि लगभग 500 मीटर लंबी थी, यात्रा दुर्गा मंदिर से शनिचरी बाजार, गांधी चौक, सदर बाजार, मोती काम्प्लेक्स, इंदिरा मार्किट, स्टेशन रोड, धमधा ओवर ब्रिज के ऊपर से कादम्बरी नगर श्री श्याम मंदिर पहुँची, जहाँ बाबा की नजर उतार कर स्वागत किया गया..


निशान यात्रा में पूर्व मंत्री अरुण वोरा, विधायक गजेंद्र यादव, प्रदेश महामंत्री राजेन्द्र साहू, निशान यात्रा आयोजक रामफल शर्मा, सुरेंद्र शर्म, एवं अशोक राठी, आशुतोष सिंह, देवनारायण चंद्राकर, नवल अग्रवाल, महेश टावरी, नारायण खेतान, योगेन्द्र शर्मा बंटी, प्रीति राजगढ़िया, सिंपल राठी, अनिता अग्रवाल, राहुल शर्मा, लक्की अग्रवाल, आशीष सोनी, राजेश शर्मा, मनीष सेन, नितिन अग्रवाल, दीपक अग्रवाल, योगेश अग्रवाल, शिशु शुक्ला, सुजल शर्मा, दिनेश शर्मा, किरण शर्मा, किरण सेन, ममता टावरी, मनीषा राठी, सतबीर शर्मा, मनोज गुप्ता, ईशान शर्मा, सुरेश अग्रवाल, आशीष सेक्सरिया, प्रकाश कश्यप, अर्जित शुक्ला, ललित शर्मा, गोविंद गुप्ता, रितेश सेन, राजेश शर्मा, प्रकाश टावरी, सोनल सेन, मोहित पुरोहित, रिषी गुप्ता, चिंटू शर्मा, प्रतीक अग्रवाल एवं हजारों श्याम प्रेमी उपस्थित हुए