Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

पंडो जनजाति महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मिली थी लाश, जल्द होगा बड़ा खुलासा

  बलरामपुर।  बलरामपुर जिले के बसंतपुर थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत फुलीडूमर के केरवापारा में पंडो जनजाति की महिला की संदिग्ध परिस्थिति में हुई ...

Also Read

 बलरामपुर। बलरामपुर जिले के बसंतपुर थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत फुलीडूमर के केरवापारा में पंडो जनजाति की महिला की संदिग्ध परिस्थिति में हुई मौत मामले की खबर प्रमुखता से प्रसारित किया. अब इस घटना पर पुलिस हर एंगल से जांच कर रही है. मामले में जल्द बड़ा खुलासा हो सकता है. बता दें कि बीते दिनों अपने ही घर में संदिग्ध परिस्थिती में फांसी के फंदे पर लटकते पंडो महिला की लाश मिली थी. जिसपर पति ने आवेदन देकर पुलिस से निष्पक्ष जांच की मांग की थी.


जानकारी के अनुसार, पंचायत फुलीडूमर के केरवापारा निवासी महिला राजपति पंडो की 12 नवंबर को फांसी पर लटकी हुई लाश घर में मिली. जिससे इलाके में सनसनी फैल गई. मृतिका का पति रामपति पंडो चेन्नई में रहकर मजदूरी का काम करता है. महिला की बेटी का भी विवाह हो चुका है, जो अपने पति के साथ रहती है. मृत महिला अपने घर में अकेले रहती थी.इस घटना की जानकारी पड़ोसियों को तब लगी जब उसके घर में ताला लगा पाया. शाम को ताला खोलने के बाद लोग अंदर महिला की फंदे पर लटकती लाश को देखकर हैरत में रह गए, क्योंकि एक दिन पूर्व ही मृतक महिला ने पड़ोस की एक महिला को अपने घर में बुलाकर साथ में ही खाना-पीना खाया था. खाने पीने में बगल का ही एक पड़ोसी लड़का भी शामिल था.मृत राजपति का शव फांसी के फंदे पर लटका देख पड़ोसियों ने घटना की जानकारी बसंतपुर पुलिस और मृत महिला के पति को दी. महिला का पति 16 नवंबर को चेन्नई से घर वापस आया, तब तक बसंतपुर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा कर दफना दिया था. पति के वापस लौटने पर ग्रामीणों ने पूरी बात जानकारी दी.मृत महिला के पति ने बताया कि शाम को पड़ोस की एक महिला के साथ मेरी पत्नी ने खाना-पीना किया था. पड़ोस का एक लड़का भी उस दौरान साथ में था. रात ज्यादा होने पर पड़ोस की महिला को लड़के ने वहां से भगा दिया था और सुबह उस महिला को लड़के ने यह भी कहा कि हम लोग साथ में खाए-पिए हैं. यह बात किसी को न बताना. मामले में मृतिका के पति ने वाड्रफनगर एसडीओपी को आवेदन देकर पत्नी की मौत की उचित जांच कर कार्रवाई की मांग की थी. जिसपर निष्पक्ष जांच का आश्वासन मिला था.