Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

स्वर्गीय लखन लाल चंद्राकार की दशगात्र शोक सभा, सांसद विजय बघेल भी शामिल हुए, श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा, संस्कारवान पिता से मिला संस्कार बच्चों को को नई ऊंचाइयों की ओर ले जाता है

  भिलाई। असल बात न्यूज।  भाजपा नेता और चंद्रनाहूं कुर्मी क्षत्रिय समाज के वरिष्ठ सदस्य पप्पू चंद्राकर(दीपक) के  पिता स्वर्गीय  श्री लखन लाल ...

Also Read

 

भिलाई। असल बात न्यूज।


 भाजपा नेता और चंद्रनाहूं कुर्मी क्षत्रिय समाज के वरिष्ठ सदस्य पप्पू चंद्राकर(दीपक) के  पिता स्वर्गीय  श्री लखन लाल चंद्राकर (औरी वाले )  को दशगात्र पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में परिवार, समाज तथा विभिन्न जागृत संगठनों से जुड़े  लोगों ने श्रद्धाजंलि दी तथा उनके ईश्वर से परिवार को यह दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की कामना करते हुए कहा कि सरल सहज तथा उच्च संस्कारित विचारों वाले  श्री लखन चंद्राकर जी सभी के सुख दुख में हमेशा साथ खड़े रहने वाले व्यक्ति थे। उन्होंने अपनी सभी बच्चियों और सुपुत्र को गुड़ी संस्कारवान बनाया।इसी की बदौलत इस परिवार के लोग आज भी अपने दुखों को छोड़कर सभी के सुख दुख में हमेशा साथ खड़े रहते हैं।

 

 श्रद्धांजलि सभा में श्रीमती रजनी विजय बघेल, वीर शामिल हुई।  सांसद श्री बघेल ने  ईश्वर से इस दुख की घड़ी में मृत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान देने एवं परिवार जनों को इस दुःख सहने की शक्ति देने की प्रार्थना की है। सांसद विजय बघेल ने मृत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करते हुए कहा कि वे एक प्रगतिशील कृषक थे। ।वे सत्यासी वर्ष के थे और उन्होंने जीवन पर्यंत समाज में सभी की मदद करने का ही हमेशा प्रयास किया।ऐसे शिव संस्कारित  हमेशा मिलकर साथ रहने वाले परिवार से सभी को हमेशा कुछ न कुछ सीखने का अवसर मिलेगा।


दशगात्र कार्यक्रम में सर्व श्री सांसद विजय बघेल, पूर्व मंत्री प्रेम प्रकाश पांडे य ,, भिलाई तीन महापौर श्रीमती चंद्रकांता मांडले, विधायक विद्या रतन भसीन, पूर्व मंत्री श्रीमती रमशिला साहू, दयाराम साहू, पूर्व लक्ष्मण चंद्राकर, पूर्व विधायक श्रीमती प्रतिमा चंद्राकर, हरविंदर सिंह खुराना, , पूर्व जिला पंचायत सदस्य श्रीमती माया बेलचंदन, श्रीमती निरुपमा चंद्राकर, श्रीमती देवयानी चंद्राकर,नगर निगम दुर्ग के सभापति राजेश यादव,श्रीमती शकुंन चंद्राकर, श्रीमती सरिता खिचरिया, श्रीमती अलका बंछोर, श्रीमती विजया वर्मा, श्रीमती अर्चना चंद्राकर,,, राज कुमार चंद्राकर, दीपक चंद्राकर, कमलेश चंद्राकर, गोविंद चंद्राकर, प्रकाश चंद्राकर, सक्षम चंद्राकर, ललित चंद्राकर, रूपेंद्र चंद्राकार, संदीप चंद्राकर, राधेश्याम चलाकर,, राम सिंह सोनू, पुरेंद्र साहू, जगमोहन शर्मा, राजा पाठक, अरुण सिंह, बलराम चंद्राकर, महेंद्र चंद्राकर, एंजन चंद्राकर, राजेश चंद्राकर, वशिष्ठ नारायण मिश्रा, मनीष यादव, सोमेश कुमार त्रिवेदी, विशाल दीप  नायर , सुजीत यादव, अविनाश दिल्लीवार, राधे वाजपेई, श्याम चंद्राकर, अजय चंद्राकर, विनोद चंद्राकर, पवन पवार, विक्की यादव, सनी यादव, Shailesh Singh, परमेश्वर महिलंग, जानकी रमैया, anil Rai, सचिन चंद्राकर, विधि यादव, राजेंद्र राव, बागेश्वर परग्नीया, उज्जवल दत्ता, प्रवीण चंद्राकर, पोषण वर्मा, सहित सैकड़ों की संख्या में समाज के लोग सम्मिलित थे।