Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

राजधानी में नितिन नबीन, डाॅ. रमन सिंह सहित 10 हजार से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं ने दी गिरफ्तारी

  0 विशाल जन समूह ने बघेल सरकार की नींद उड़ा दी है: नितिन नबीन 0 भूपेश प्रोम पूरा करें नहीं तो सवाल पूछे जाएंगे: डाॅ। रमन सिंह रायपुर। .असल ...

Also Read

 

0 विशाल जन समूह ने बघेल सरकार की नींद उड़ा दी है: नितिन नबीन

0 भूपेश प्रोम पूरा करें नहीं तो सवाल पूछे जाएंगे: डाॅ। रमन सिंह


रायपुर। .असल बात न्यूज़।

 भारतीय जनता पार्टी छत्तीसगढ़ ने शुक्रवार को प्रदेशभर में किसान विरोधी भूपेश बघेल सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन और कलेक्ट्रेट का घेराव किया। भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश के सभी जिलों में छत्तीसगढ़ सरकार की किसान विरोधी नीतियों, धान की देर से खरीदी , अव्यवस्था, रकबा कटौती, बारदाने की कमी का बहाना,  राजीव गांधी न्याय योजना के नाम पर किसानों को छलना व ठगना बंद करने सहित प्रदेश भर में किसान आत्महत्या के लगातार बढ़ते मामलों के विरोध में प्रदर्शन किया जिसमें हजारो की संख्या में किसान व भाजपा कार्यकर्ताओं ने किसान विरोधी प्रदेश सरकार के खिलाफ हल्ला बोला।

राजधानी रायपुर में हजारों की संख्या में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता और किसान  धरना स्थल बुढ़ा तालाब में दोपहर 01 बजे एकत्र हुए और छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया गया। । इस जन सैलाब में किसान बैलगाड़ी और ट्रैक्टर से रैली के रूप में प्रदेश सरकार का विरोध करने हजारों की संख्या में पहुंचे वहीं   पारंपरिक वेशभूषा के साथ-साथ कृषि उपकरण हल हाथ में  लेकर किसान भूपेश सरकार की किसान विरोधी नीतियों को  चुनौती देते दिखे। सरकार के खिलाफ बारदाना पहनकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इन प्रदर्शनकारियों को सप्रे स्कूल मैदान के पास रोक लिया गया, वहां से आगे बढ़ने नहीं दिया गया। बाद में पूर्व मंत्री डॉक्टर रमन सिंह सहित सभी वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ताओं ने वही अपनी गिरफ्तारी  दी। इस दौरान एहतियात के तौर पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए व्यापक इंतजाम किए गए थे। पुलिस सुरक्षा बल के जवानों की इतने बड़े पापा ने पता ना था की गई थी कि पूरा इलाका छावनी में तब्दील  नजर आ रहा था।

धरना स्थल पर हजारों की संख्या में उपस्थित विशाल जन समूह के बीच भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश सह प्रभारी नितिन नबीन, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ रमन सिंह, प्रदेश संगठन महामंत्री पवन सैय, पूर्व कृषि मंत्री व विधायक बृजमोहन अग्रवाल, चन्द्रशेखर साहू, राजेश मूणत, जिलाध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी, ​​अभिनेता कश्यप, देवेंद्र भाई पटेल, नंदे साहू, सच्चिदानंद उपासने, संजय श्रीवास्तव, नवीन मार्कंडेय, सुभाष कुमार मूंदड़ा, राजीव अग्रवाल,  भारतीय जनता युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष अमित साहू सहित भाजपा कार्यकर्ता व पदाधिकारी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

भाजपा प्रदेश सह प्रभारी नितिन नबीन ने धरना प्रदर्शन में एकत्रित विशाल जन समूह को संबोधित करते हुए कहा कि हम सभी भूपेश बघेल सरकार को नींद से जगाने एकत्र हुए  है । उन्होंने कहा कि भूपेश सरकार ने प्रदेश के किसानों के पीठ में छुरा घोपने का काम किया है। बारदाने का बहाना बनाने वाली भूपेश सरकार के लिए छत्तीसगढ़ी में एक कहावत है जो इस सरकार की किसाना विरोधी नीतियों को देखते हुए कही गई है कि खाय बर होरा नइ हे अउ धान खरीदे बर बोए नइ। उन्होंने कहा कि मंडी टैक्स बढ़ाने वाली भूपेश सरकार को 9 हजार करोड़ का हिसाब देना होगा। भारतीय जनता पार्टी आज कलेक्ट्रेट का घेराव कर रही है लेकिन अगर भूपेश सरकार की किसान विरोधी नीतियों को बंद नहीं किया गया तो हम आने वाले समय में उनका घर से निकलना मुश्किल कर देंगे। छत्तीसगढ़ में सरकार की लचर व्यवस्था के चलते जो चावल खराब हुआ है जो धान सड़ गया है उसका जवाब और हिसाब कौन देगा यह मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को प्रदर्शित करना चाहिए? उन्होंने कहा कि ये तो अपने ही पार्टी के नेता के नाम पर योजना चलाते हैं और राजीव गांधी न्याय योजना में अन्याय व बंदरबाट करते हैं। छत्तीसगढ़ सरकार में बैठे लोग कहते हैं कि किसान खुशहाल है, उन्हें यह दिखाना चाहिए कि 255 किसानों ने आत्महत्या क्यों कर ली? मुख्यमंत्री के घर के बाहर किसान आत्महत्या करने का मजबूर क्यों है? भाजपा प्रदेश सह प्रभारी नितिन नबीन ने कहा कि छत्तीसगढ़ से किसान विरोधी भूपेश बघेल सरकार को उखाड़ फेंने के संकल्प का  आज हमने इस प्रदर्शन के माध्यम से आगाज किया है। 

 भाजपा प्रदेश सह प्रभारी नितिन नबीन ने कहा कि छत्तीसगढ़ से किसान विरोधी भूपेश बघेल सरकार को उखाड़ फेंकने के संकल्प के साथ आज हमने इस प्रदर्शन के माध्यम से आगाज किया है और 2023 में हम कांग्रेस को उखाड़ फेंकेंगे। 


भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने विशाल जन समूह को संबोधित करते हुए कहा कि हम सभी आज प्रदेश सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ गिरफ्तारी देने आए हैं। प्रदेश सरकार को बहानेबाजी को छोड़कर अपनी जिम्मेदारियों से भागने के बजाय अपनी किसान विरोधी नीतियों पर अंकुश लगाते हुए बारदाने की पर्याप्त व्यवस्था करनी चाहिए, धानसे की मियाद बढ़ाई सरकार, किसानों को तीन दिन के अंदर धान का भुगतान करें, रक्बा कट बंद कर कटे हुए हैं। रकबे को चरण, दो साल का धान का बोनस दे सरकार, वनाधिकार कानून प्राप्त वनवासियों का धान्न करें और धान्न में अव्यवस्था के कारण आत्महत्या करने वाले किसान के परिवारों को 25 लाख रुपये की सहायता राशि दें सरकार।

पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ। रमन सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से हम बोरे की व्यवस्था करने को कहते हैं तो वे कहते हैं कि रमन सिंह जा रहे हैं, मोदी जी जाने वाले हैं। भूपेश जी आप काहे के लिए हो? उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से सवाल करने पर उनकी किसान विरोधी नीतियों को उजागर करने पर वे हम पर सवाल उठाते हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी 15 साल के भाजपा के कार्यकाल में शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर किसानों को ऋण देने का काम हुआ, एक रुपए किलों में चावल, 5 लाख किसानों तक पहुंचा, आज आपकी किसान विरोधी नीतियों के चलते छत्तीसगढ़ के किसान भाई परेशान हैं। । किसान आत्महत्या कर रहे हैं और आप अपनी जिम्मेदारियों से भाग रहे हैं। उन्होंने कहा कि भूपेश सरकार श्वेत पत्र जारी करें ताकि किसानों के आत्महत्या का कारण सामने आए। पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ। रमन सिंह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को चुनौती देते हुए कहा कि भूपेश प्रोम पूरा करें नहीं तो सवाल पूछे जाएंगे। बेराजगारी भत्ता नहीं दिया युवकों में आक्रोश हैं, सवाल पूछे जाएंगे। शराबबंदी का वादा पूरा कर नहीं तो सवाल पूछे जाएंगे। किसानों को फसल का नुकसान का मुआवजा नहीं मिला तो सवाल पूछे जाएंगे। 


पूर्व मंत्री व विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार की लचर व्यवस्थाओं और नीतियों के चलते प्रदेश का किसान परेशान है। धानसे से लेकर बारदाने की व्यवस्था तक ना कर पाने में प्रदेश सरकार पूर्ण रूप से विफल रही है। यह केवल बहाना बनाने वाली और जिम्मेदारियों से भागने वाली सरकार है। प्रदेश में किसान आत्महत्या कर रहा है और दुर्भाग्यपूर्ण तो यह है कि यह सरकार किसान परिवार पर लांछन लगा रही है।


पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज इस विशाल जन समूह को देखकर छत्तीसगढ़ की किसान विरोधी कांग्रेस की सरकार को घबराहट हो रही है। डर सता रहा है। हर मोर्चे पर विफल हो गई सरकार के पास बहानेबाजी करने और अपने जिम्मेदारों से भागने, मुंह छिपाने के अलावा कोई काम नहीं किया गया है।]


मंच का संचालन जिलाध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने किया और विशाल जन समूह को पूर्व मंत्री चंद्रशेखर साहू, सच्चिदानंद उपासने, संजय श्रीवास्तव, नंदे साहू, अभिनेत्री कश्यप ने संबोधित किया।

धरना स्थल से विशाल जन समूह भाजपा प्रदेश सहप्रभारी नितिन नबीन व पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ। रमन सिंह के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट का घेराव करने रवाना हुए इस दौरान किसान विरोधी भूपेश बघेल सरकार के खिलाफ जमकर नोकझोंक हुई। विशाल जन समूह के साथ-साथ बैल गाड़ी व ट्रैक्टर रैली भी चल रही थी। भाजपा प्रदेश सहप्रभारी नितिन नबीन, पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ। रमन सिंह, बृजमोहन अग्रवाल, राजेश मूणत, रमेश ठाकुर, ओंकार बैस सहित भाजपा के सभी वरिष्ठ नेताओं व कार्यकर्ताओं ने सप्रशला मैदान के पास पुलिस प्रशासन के द्वारा लगाई गई बेरिकेट के सामने सड़क पर बैठकर प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस ने भाजपा के सभी वरिष्ठ नेताओं सहित 10 हजार से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं ने  गिरफ्तारी दी।