Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

ब्रेकिंग :

latest

Breaking News

रेल दुर्घटना के समय होने वाली आपातकालीन स्थिति में बचाव कार्य हेतु अभ्यास का प्रदर्शन

  दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, रायपुर रेल मंडल और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की टीम के साथ संयुक्त मॉक ड्रिल का आयोजन आपातकालीन स्थिति में लोगों की ...

Also Read

 

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, रायपुर रेल मंडल और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की टीम के साथ संयुक्त मॉक ड्रिल का आयोजन

आपातकालीन स्थिति में लोगों की सहायता कर रेल प्रशासन को सहयोग प्रदान करे-श्याम सुंदर गुप्ता


*Raipur Division & National Disaster Response Force (NDRF) conduct  Mock Drill at BMY - Bhilai*


रायपुर – असल बात न्यूज़।


                   रेलवे प्रशासन द्वारा अपने फ्रंट लाइन स्टाफ, रेल आपदा प्रबंधन टीम एवं स्थानीय नागरिकों को गाडियों में होने वाली संभावित दुर्घटनाओं से अवगत कराते हुए उस आपातकालीन स्थिति में किए जाने वाले बचाव कार्य से संबंधित तरीकों को अभ्यास के माध्यम से प्रदर्शित करते हुए प्रशिक्षण दिए जाने की नियमित परम्परा है। ताकि वे दुर्घटना के समय किए जाने वाले बचाव कार्य के तरीकों को अपनाकर कुशलता पूर्वक राहत कार्य कर सके। यद्यपि आपदा के समय फ्रंट लाइन स्टाफ, रेल आपदा प्रबंधन टीम (ART- Accident Relief Trains ) / ARMV Accident Relief Medical Van) एवं स्थानीय नागरिक ही बचाव कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।  

 यह अभ्यास प्रदर्शन राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की  बटालियन मुंडाली (कटक) उडीसा, रायपुर मंडल संरक्षा विभाग, रेल आपदा प्रबंधन टीम (ART/ARMV) की आपदा राहत टीम तथा सिविल डिफेंस द्वारा संयुक्त रूप से भिलाई डिपार्चर यार्ड/बी.एम.वाई. में किया गया। उक्त संयुक्त मॉक ड्रिल में एन.डी.आर.एफ. की तरफ से 35 लोग, सिविल डिफेंस से 23 लोग, स्काउट एवं गाइड से 12 लोग,  ART/ARME टीम से लगभग 25 लोग एवं रेलवे मेडिकल टीम सहित लगभग 200 लोग मौजूद थे, जिनके द्वारा कोविड-19 से संबंधित केंद्र सरकार की सभी गाइडलाइन का पूरा ध्यान दिया गया। उक्त आयोजन में अग्निशामक वाहन, एंबुलेंस एवं लोकल पुलिस की उचित व्यवस्था थी।


       इस प्रदर्शन में सवारी गाडी के डिब्बे में बम-विस्फोट कर आग लगने की स्थिति को दर्शाते हुए यह बताया गया कि इस दौरान कैसे पीडितों को सुरक्षित बाहर निकाला जाय एवं उनकी सहायता की जाय। साथ ही आग को बुझाने के विभिन्न तरीकों को भी जीवंत रूप में दिखाया गया। इस अभ्यास प्रदर्शन के माध्यम से किसी भी आपदा की स्थिति से निपटने हेतु राहत एवं बचाव कार्यों की गतिविधियों को भी दिखाया गया। अभ्यास के दौरान लगाए गए पूछताछ केन्द्र, सहायता केन्द्र व सभी राहत स्टालों एवं मौजूद साधन संसाधनों का अवलोकन मंडल रेल प्रबंधक श्री श्याम सुंदर गुप्ता ने किया ।   


             इस अवसर पर श्री श्याम सुंदर गुप्ता ने स्थानीय मीडिया के प्रतिनिधियों से वार्ता करते हुए मॉक ड्रिल के आयोजन की सार्थकता पर प्रकाश डालते हुए रेलवे द्वारा नागरिकों को आपदा के समय की जाने वाली बेहतर कार्यों की जानकारी दी गई। साथ ही अपील भी किया गया कि वे आपात स्थिति में लोगों की सहायता कर रेल प्रशासन को सहयोग प्रदान करने ।







          इस अभ्यास प्रदर्शन में अपर मंडल रेल रायपुर (परिचालन) श्री लोकेश विश्नोई , वरिष्ठ मंडल संरक्षा अधिकारी रायपुर डॉ. डी. एन. बिस्वाल, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी, बीएमवाई डॉ बी के टोप्पो, सहायक मंडल चिकित्सा अधिकारी हेल्थ यूनिट भिलाई  डॉ कुनाल जैन , सहायक मंडल संरक्षा अधिकारी रायपुर श्री आर. के. देवांगन  एवं  सिविल डिफेन्स के सदस्य, एवं स्काउट गाइड , संरक्षा सलाहकार, सुपरवाइजर सहित बिलासपुर जोनल मुख्यालय और  रायपुर मंडल के अधिकारी एवं स्थानीय नागरिक उपस्थित थे ।