40 हजार रिश्वत दो, काम हो जाएगा! पत्रकारों और अधिकारियों के नाम से पैसे मांगता है ड्रग इंस्पेक्टर

 


 छतरपुर। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के छतरपुर (Chhatarpur) जिले से हैरान करने वाला मामला सामने आय़ा है. ड्रग इंस्पेक्टर पर पत्रकारों और अधिकारियों के नाम से पैसे यानी रिश्वत (bribe) मांगने के आरोप लगे हैं. पीड़ित युवक ने कलेक्टर से इसकी शिकायत की है. जब ड्रग इंस्पेक्टर (drug specter) से मीडिया ने सवाल किया, तो भड़क गए और चलते बने. इस मामले में कलेक्टर ने जांच के बाद कार्रवाई करने की बात कही है.

कलेक्टर जनसुनवाई (collector public hearing) में पहुंचे पढ़े-लिखे बेरोजगार युवक अरविंद उपाध्याय ने ड्रग इंस्पेक्टर पर गंभीर आरोप लगाया है. उसने कहा कि मेरा ड्रग लाइसेंस मेडिकल संचालन के लिए बनना था, जिसके एवज में ड्रग इंस्पेक्टर राम लखन पटेल ने 40 हजार रुपये रिश्वत मांगी. उसने कहा था कि पत्रकारों (journalists) और अधिकारियों (Officer) को देने पड़ते हैं. इसलिए 40 हजार रुपये लगेंगे, उसके बाद जो काम बोलोगे वह हो जाएगा. इस तरह की शिकायत फरियादी अरविंद उपाध्याय ने जनसुनवाई में कलेक्टर से की है.

इस पूरे मामले को लेकर मीडिया कर्मियों ने जनसुनवाई में पहुंचे ड्रग इंस्पेक्टर राम लखन पटेल से बात की, तो वो मीडिया कर्मियों के कैमरे पर भड़क पड़े. उन्होंने बौखलाते हुए कहा कि तुम लोग मुझे मारने की कोशिश कर रहे हो. एसपी से शिकायत करूंगा. रिश्वत मांगने के सवाल पर चुप्पी साधे हुए गाड़ी से निकल गए.

इस पूरे मामले को लेकर कलेक्टर संदीप जीआर ने कहा कि ऐसा कोई डिंमांड करता है, तो शिकायत की जाए. इस मामले की जांच के बाद कर्रवाई की जाएगी. हालांकि अब कलेक्टर ने जांच की बात कही है, लेकिन अब इस पर क्या कुछ कार्रवाई की जाती है यह देखने वाली बात होगी. क्योंकि पत्रकारों और बड़े अधिकारियों के नाम से अधिकारी खुद रिश्वत मांग रहे हैं.