राज्य शासन की पहल से स्वास्थ्य के क्षेत्र में हुआ व्यापक सुधार

 

दंतेवाड़ा ।

असल बात न्यूज़।। 


हाट बाजार क्लीनिक योजना से लोगों को मिल रहा त्वरित उपचार

राज्य शासन की पहल से स्वास्थ्य के क्षेत्र में व्यापक सुधार हुआ है। राज्य शासन द्वारा बनाई गई स्वास्थ्य योजनाएं काफी कारगर साबित होने लगी हैं। इन्हीं महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक है मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना। इस योजना से पिछले कुछ वर्षों से सेहत सेवाओं में सकारात्मक सुधार हुआ है।
कुछ वर्ष पहले तक लोगों को सेहत सुविधाओं के लिए भटकना पड़ता था। ग्रामीण क्षेत्र के लोग बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिए शहरों की ओर रुख करते थे, गरीब व मध्यम वर्ग के लोगों को सबसे अधिक परेशानी का सामना करना पड़ता था। इन्हीं समस्याओं के समाधान हेतु राज्य शासन के मुखिया मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के द्वारा 2 अक्टूबर 2019 को हाट बाजार क्लीनिक योजना की शुरुआत की गई। आज शासन और प्रशासन के प्रयास से जिले में संचालित इस योजना से आज प्रभावी परिणाम निकल कर आ रहे हैं। जिले के दूरस्थ व दुर्गम क्षेत्रों में सुगमता से मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना का संचालन किया जा रहा है। ग्रामीणजन साप्ताहिक बाजार में अपनी दैनिक जरूरत की सामग्री खरीदने के लिए पहुंचते हैं और बाजार स्थल में ही निःशुल्क परामर्श, जांच, उचित उपचार एवं दवाइयां उपलब्ध कराई जा रही है।
अब तक 128756  मरीज ले चुके हैं लाभ-
जिले में कुल 20 हाट बाजार संचालित है इस योजना के तहत चिन्हांकित 20 हाट बाजारों में 2550 शिविर आयोजित कर 128756 मरीजों को लाभान्वित किया जा चुका है। कंवलनार  निवासी श्रीमती प्रमिला बताती है कि रोजमर्रा के आवश्यक सामान को खरीदने के साथ वह हाट-बाजार क्लिनिक स्थल पर पहुंच अपना स्वास्थ्य परीक्षण भी करवाती है। यह मेरे लिए बहुत सुविधाजनक है। हाट बाजार क्लीनिक योजना से लाभान्वित हुए श्री मंगलू जोड़ातराई के रहने वाले है वह कहते है कि उन्हे बुखार था। हर हफ्ते हाट बाजार क्लिनिक में जांच और इलाज की सुविधा से उनके स्वास्थ्य में काफी सुधार हो गया है।
वर्तमान समय मे ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं मजबूत हुई है। अब हाट बाजार क्लीनिक के माध्यम से ग्रामीण स्तर पर स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार हुआ है। सुदूर इलाकों में लोगों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराई जा रही है। शासन और प्रशासन के प्रयासों से आज ग्रामीणों को आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध हो रही है।