अंडा में मासूम बालक की हत्या के मामले में पुलिस पहुंची हत्यारों तक, आरोपियों के गिरफ्तारी की खबर

 दुर्ग।

असल बात न्यूज़।। 

अंडा थाना क्षेत्र में 12 वर्षीय बालक की निर्मम हत्या के मामले में पुलिस, आरोपियों तक पहुंच गई है और खबर मिल रही है कि आरोपियों को पकड़ लिया गया है। जानकारी के अनुसार आरोपियों ने पुलिस को गुमराह करने की बहुत कोशिश की लेकिन ग्रामीणों के सहयोग से पुलिस अंततः आरोपियों तक पहुंच गई। एक मासूम बालक की निर्मम हत्या से पूरे गांव में अभी भी मातम छाया हुआ है, शोक की लहर है।

 अंडा थाना क्षेत्र में लगभग 15 दिन पहले एक बालक की तलब के किनारे क्षत-विक्षत लाश मिली थी। गांव में किसी को विश्वास ही नहीं हो रहा था कि एक बालक इस तरह से निर्मलता पूर्वक हत्या की जा सकती है। घटना के बाद पुलिस हत्यारों को पता लगाने में तेजी से जुट गई थी लेकिन सीधे कोई कड़ी नहीं मिल रही थी कि हत्यारों तक तुरंत पहुंचा जा सके। वैसे कई सारे ऐसे तथ्य मिल रहे थे जिससे लग रहा था कि इस हत्या की घटना में किसी बाहर वालों को हाथ नहीं हो सकता है वरन किसी गांव वाले के द्वारा ही इस वारदात को अंजाम दिया गया हो सकता है। पुलिस हत्यारों को पता लगाने, बच्चे अथवा उसके परिवार से किसी की कोई दुश्मनी तो नहीं थी इस बिंदु को लेकर भी जांच कर रही थी।


जिला पुलिस अधीक्षक डॉ अभिषेक पल्लव ने  बताया  है कि इस मामले में पुलिस आरोपियों तक पहुंच गई है। आरोपियों के द्वारा स्वयं को संदेह से बचाने के लिए पुलिस को गुमराह करने  नई कहानी रची गई थी। पुलिस तथ्यों के साथ मामले की जांच करने में जुटी हुई थी जिसके बाद अंततः आरोपियों तक पहुंचने में सफलता मिल गई। मामले में कुछ अपचारी बालकों के भी शामिल होने की जानकारी सामने आई है। पुलिस ने इन बालकों से पूछताछ की है जिसमें बालको ने अपराध करना कबूल कर लिया है। पूछताछ के दौरान कुछ संदिग्धों के विरोधाभासी बयान आ रहे थे जिसके बाद पुलिस का उन पर शक और बढ़ता गया।

जांच के दौरान पुलिस ने ग्राम प्रमुखों की उपस्थिति में  घटनास्थल का निरीक्षण कराया है। पुलिस को ढेर सारे सामान भी मिले हैं जिन्हें हत्या में प्रयुक्त किया गया था जिसमें 19 अक्टूबर को घटना को अंजाम देने की तैयारी मैं सुजा बोरी और रस्सी को छुपा कर रखा जाना भी पाया गया है।

 पुलिस की जांच में यह बात सामने आई है कि हत्यारों ने 21 अक्टूबर को खेलने के  बहाने से बच्चे को बुलाया था और बुलाकर घटना को अंजाम दिया। इसके बाद नर्सरी मे बोरी में बांधकर शव को ठिकाने लगा देने की कोशिश की।

15 दिन की लगातार मेहनत के बाद  पुलिस को मामले का खुलासा करने में अंततः सफलता मिल गई है। 


असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

 पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............


असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक,सबसे सटीक,सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता