ब्रेकिंग न्यूज़, दो नहीं चार आरोपी पकड़े गए हैं अमलेश्वर हत्याकांड मामले में, हथियार भी बरामद हथियार भी बरामद

 

रायपुर, दुर्ग।

असल बात न्यूज़।। 

मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र पाटन के अमलेश्वर की दिल दहला देने वाले हत्याकांड में पुलिस को अभी तक  चार आरोपियों को पकड़ने में सफलता मिली है। इसके बाद घटना से बहुत कुछ पर्दाफाश हो गया है। पुलिस आरोपियों को लगातार ट्रेस करती रही और उन्हें बनारस से पकड़ लिया गया। वारदात में कुछ पेशेवर अपराधियों के भी शामिल होने की जानकारी सामने आई है। अभी तक जो आरोपी पकड़े गए हैं उनमें कोई भी छत्तीसगढ़ का निवासी नहीं है। कुछ जगह यह अफवाह फैला दी गई थी कि ये आरोपी किसी राजनीतिक दल से जुड़े हुए हैं।

पुलिस से अभी तक प्राप्त जानकारी के अनुसार मामले में सौरभ कुमार सिंह पिता अर्जुन सिंह उम्र 24 निवासी ग्राम दंडीबाग थाना गया जिला गया, अभय कुमार भारती उर्फ बाबू पिता वंश राज भारती उम्र 18 निवासी बामणिया थाना धानापुर जिला चंदौली, आलोक कुमार यादव पिता सतेंद्र यादव उम्र 18 साल ग्राम पहलेजा सापुदियारा थाना सोनपुर छपरा, और अभिषेक कुमार झा पिता अवध किशोर झा उम्र निवासी ग्राम रजला जिला मुजफ्फरपुर को पकड़ा गया है। पुलिस ने इन आरोपियों की फोटो जारी की है। बताया जा रहा है कि इन्हें उत्तर प्रदेश से छत्तीसगढ़ लाया जा रहा है। 

अमलेश्वर हत्याकांड का बड़ा खुलासा हो गया है जिससे प्रशासन ने राहत की सांस ली है। जो आरोपी पकड़े गए हैं उसमें बताया जा रहा है कि अभिषेक झा नाम का आरोपी 1 साल पहले रायपुर में पेशी के दौरान  से फरार हो गया था। जो आरोपी पकड़े गए हैं उनमें से तीन की उम्र 30 वर्ष से अधिक नहीं है। आरोपियों के पास से पुलिस ने घटना में प्रयुक्त पिस्टल भी बरामद कर लिया है। दोनों पिस्टल बरामद कर ली गई है। कटे हाथ वाले आरोपी की पिस्टल भी बरामद हो गई है। कटा हाथ देखकर जिस पर लोगों को दया आ सकती है वीडियो फुटेज में दिखाया कि उसने भी वारदात में दो गोलियां दागी थी। आशंका है कि इसमें से एक विदेशी पिस्टल है और एक होममेड पिस्टल है। 

पुलिस को आरोपियों के पास से वारदात में लूटी गई नकदी और ज्वेलरी भी बरामद करने में सफलता मिल गई है। नगदी कितनी है फिलहाल इसका स्पष्ट पता नहीं चल सका है। इस हत्याकांड से पूरा छत्तीसगढ़ दहल गया, जिसमें दिनदहाड़े गोली मारकर एक ज्वेलरी संचालक की हत्या कर दी गई और दुकान से भारी माल लूट  लिया गया। वारदात के बाद लोगों की जुबान पर एक ही सवाल कौंध रहा था कि आखिर ऐसी दुर्दांत हत्या क्यों की गई और इसके पीछे वजह क्या रही होगी। तरह-तरह की चर्चा में इस हत्या के कारणों को लेकर कई एंगल से अटकले लगाई जा रही थी। ऐसी भी आशंका जाहिर की जा रहे थी कि यह घटना पारिवारिक विवाद, पुरानी रंजिश की वजह से भी हो सकती है। वारदात की वीडियो फुटेज में लोगों ने आरोपियों को गोली लगते हुए देखा। गोली दागने के बाद आरोपियों ने गंभीर रूप से घायल दुकान संचालक को लातों और मुक्के से मारा और इस दौरान आरोपियों के चेहरे पर कोई शिकन नजर नहीं आ रही थी।इसे देखकर लोग सिहर से गए और लोगों का गुस्सा काफी भड़क गया। घटना के बाद राज्य के कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठाया गया और लोगों ने तो गुस्से में यहां तक कहा कि ऐसे में तो कोई भी आकर किसी को भी गोली मार सकता है। 

घटना के बारे में अभी कई जानकारियां सामने आने बाकी है। लेकिन एक चीज तो स्पष्ट हो रही है कि छत्तीसगढ़ राज्य में बाहर से आकर अपराध करने वालों का बड़ा गिरोह तैयार हो रहा है। यहां पहले से ही कई गैंग सक्रिय हैं। इन सभी के पास तरह-तरह के घातक हथियार उपलब्ध हैं यह भी दिख रहा है। इन आरोपियों ने वारदात को अंजाम देने में पिस्टल का इस्तेमाल किया और ये यह पिस्टल लेकर कहां-कहां घूमते रहे होंगे, इसकी कल्पना की जा सकती है। लेकिन चिंताजनक बात है कि किसी को भी इसकी भनक नहीं लगी। खबर है कि छत्तीसगढ़ राज्य में आपराधिक तत्वों के पास ऐसे हथियारों की भरमार होती जा रही है।








असल बात न्यूज़

सबसे तेज, सबसे विश्वसनीय 

 पल-पल की खबरों के साथ अपने आसपास की खबरों के लिए हम से जुड़े रहे , यहां एक क्लिक से हमसे जुड़ सकते हैं आप

https://chat.whatsapp.com/KeDmh31JN8oExuONg4QT8E

...............


असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक,सबसे सटीक,सबसे विश्वसनीय

सबसे तेज खबर, सबसे पहले आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता